समाचार
|| कोविड 19 टीकाकरण अभियान सतत जारी || पीएम किसान सम्मान निधि की 10 वीं किस्त होगी जारी || बनखेडी के 21 ग्रामों में ड्रोन फ्लाई का कार्य पूर्ण || 12 जनवरी को व्यापक स्तर आयोजित होगा रोजगार मेला || आज का न्यूनतम तापमान 7 डि.से. || वन विहार राष्ट्रीय उद्यान एवं जू वन, वन्य-जीव, पर्यावरण संरक्षण एवं संवर्धन के सफल प्रयास || औद्योगिक मजबूती के लिए हर माह साठ करोड़ की मदद || कोरोना के बढ़ते प्रकरणों को देखते हुए पुख्ता रहे नियंत्रण की व्यवस्थाएँ - मुख्यमंत्री श्री चौहान || भारतमाला परियोजना में म.प्र. के लिए 876 करोड़ की स्वीकृति पर मुख्यमंत्री श्री चौहान ने माना केन्द्र का आभार || मुख्यमंत्री श्री चौहान ने जल जीवन मिशन में राशि स्वीकृति के लिए केन्द्र का आभार माना
अन्य ख़बरें
त्रि-स्तरीय पंचायत निर्वाचन हेतु जारी आदर्श आचरण संहिता का हो पूरी तरह से पालन - जिला पंचायत सीईओ श्री ऋतुराजसिंह
-
बड़वानी | 06-दिसम्बर-2021
    राज्य निर्वाचन आयोग ने त्रि-स्तरीय पंचायत निर्वाचन कार्यक्रम की घोषणा कर दी है। घोषणा के साथ ही जिले के ग्रामीण क्षेत्रों में आदर्श आचरण संहिता लागू हो गई है। अतः सभी अधिकारी, कर्मचारी इस आदर्श आचरण संहिता का पूरी तरह से पालन करेंगे, जिससे जिले में त्रि-स्तरीय पंचायत निर्वाचन को विधि सम्मत तरीके से सम्पन्न कराया जा सके। इसके लिये विभिन्न अधिकारियों, कर्मचारियों को जिम्मेदारी सौपी गई है। अतः निर्धारित प्रक्रिया एवं समय सीमा में यह कार्य पूर्ण किया जाये, जिससे किसी पर कठौर कार्यवाही करने की आवश्यकता न रहे।
   जिला पंचायत सीईओ श्री ऋतुराजसिंह ने सोमवार को आयोजित समय-सीमा बैठक के दौरान उक्त निर्देश समस्त जिला अधिकारियों को दिये। इस दौरान उन्होने विडियो कान्फ्रेसिंग के माध्यम से भी खण्ड स्तरीय अधिकारियों को बताया कि निर्वाचन के मददेनजर विभिन्न अधिकारियों की ड्यूटी लगाई गई है। वहीं अन्य लोगो की भी ड्यूटी लगाई जा रही है। अतः निर्वाचन के मददेनजर नियुक्त अधिकारी, कर्मचारी सर्वोच्च प्राथमिकता से निर्वाचन ड्यूटी का निर्वहन करें।
जिले में त्रि-स्तरीय पंचायत निर्वाचन की सामान्य जानकारी
   त्रि-स्तरीय पंचायत निर्वाचन के दौरान 14 जिला पंचायत सदस्य, 129 जनपद पंचायत सदस्य, 409 सरपंच एवं 7084 पंचों का निर्वाचन होना है। यह निर्वाचन 3 चरणों में होना है। प्रथम चरण में विकासखण्ड राजपुर एवं ठीकरी में, द्वितीय चरण में विकासखण्ड बड़वानी, निवाली, पानसेमल में, तृतीय चरण में विकासखण्ड पाटी एवं सेंधवा में निर्वाचन होना है। इसके लिये कुल 1485 मतदान केन्द्र बनाये गये है। इसमें से 370 मतदान केन्द्र संवेदनशील एवं 18 मतदान केन्द्र अतिसंवेदनशील है। जिसमें 1 माईक्रोआर्ब्जवर के रूप में केन्द्र सरकार के कर्मी को नियुक्त किया जायेगा। इस निर्वाचन में कुल 860122 मतदाता अपने मताधिकार का उपयोग करेंगे। इसमें 427318 पुरूष मतदाता, 432786 महिला मतदाता एवं 18 अन्य मतदाता है। इस प्रकार पंचायत निर्वाचन में पुरूषो की अपेक्षा महिला मतदाताओं की संख्या 5468  अधिक है।
   जिले में बनाये गये 1485 मतदान केन्दों में से 87 मतदान केन्द्रों की संख्या ऐसी है जहॉ 750 से अधिक मतदाता होने पर वहॉ पर एक अतिरिक्त मतदान  कर्मी की नियुक्ति की गई है। निर्वाचन प्रक्रिया के दौरान जिले में 8257 मतदान कर्मी नियुक्त किये जायेंगे। प्रत्येक मतदान केन्द्र पर एक पीठासीन अधिकारी एवं 4 मतदान अधिकारी नियुक्त होंगे। वहीं 750 से अधिक मतदाताओं वाले मतदान केन्द्रो पर 1 अतिरिक्त मतदान कर्मी नियुक्त किया जायेगा। कोविड प्रोटोकॉल को दृष्टिगत रखते हुये तीसरे रेण्डमाईजेशन का समय मतदान प्रारंभ होने से 48 घण्टे पूर्व किया जायेगा। जबकि सामान्य दिनों में यह 24 घण्टे पूर्व होता था।
मतदान के लिये रहेगी इस प्रकार व्यवस्था
   पंच एवं सरपंच पद का निर्वाचन मतपत्र से एवं जनपद पंचायत सदस्य एवं जिला पंचायत सदस्य का निर्वाचन ईव्हीएम के माध्यम से होगा। जिला पंचायत सदस्य के मतपत्र का रंग गुलाबी, जनपद पंचायत सदस्य के मतपत्र का रंग पीला, सरपंच के मतपत्र का रंग नीला एवं पंच के मतपत्र का रंग सफेद होगा। मतदान का समय प्रातः 7 से दोपहर 3 बजे तक रहेगा। मतदाता की पहचान के लिये आयोग ने 23 पहचान पत्रों में से कोई एक पहचान पत्र लाना अनिवार्य किया है।
मतगणना
   पंच एवं सरपंच पद की मतगणना मतदान समाप्ति के तुरन्त पश्चात मतदान केन्द्रों पर की जायेगी। जबकि जनपद पंचायत सदस्य एवं जिला पंचायत सदस्य के पदों हेतु ईव्हीएम से मतगणना विकासखण्ड मुख्यालय पर की जायेगी। पंच - सरपंच पद की मतगणना का सारणीकरण एवं परिणाम की घोषणा विकासखण्ड मुख्यालय पर की जायेगी। वहीं जनपद पंचायत सदस्य के मतों का सारणीकरण एवं परिणाम की घोषणा विकासखण्ड मुख्यालय पर तथा जिला पंचायत सदस्य के लिये मतों का सारणीकरण विकासखण्ड स्तर पर करने के उपरान्त परिणाम की घोषणा मुख्यालय पर सारणीकरण के पश्चात की जायेगी।
ईव्हीएम प्रबंधन
   पंचायत निर्वाचन के दौरान प्रथम चरण में 531, द्वितीय चरण में 652 एवं तृतीय चरण में 725 ईव्हीएम का उपयोग किया जायेगा। मतदान का डाटा सुरक्षित रखने हेतु डीएमएम का उपयोग किया जायेगा। इसके कारण प्रत्येक चरण के पश्चात इव्हीएम से डीएमएम पृथक कर सीलबंद किया जायेगा, वहीं ईव्हीएम को अगले चरण में उपयोग किया जायेगा।
नाम निर्देशन पत्र प्रस्तुत करने की व्यवस्था
   त्रि-स्तरीय पंचायत के विभिन्न पदों यथा पंच, सरपंच, जनपद पंचायत सदस्य एवं जिला पंचायत सदस्य हेतु एकीकृत नाम निर्देशन पत्र (प्रारूप 4 ) में की जायेगी। जिला पंचायत सदस्य हेतु नाम निर्देशन पत्र जिला मुख्यालय पर, जनपद पंचायत सदस्य हेतु विकासखण्ड मुख्यालय पर तथा पंच एवं सरपंच पद हेतु विकासखण्ड मुख्यालय एवं क्लस्टर मुख्यालय पर लिये जायेंगे। इन क्लस्टर का गठन जिला निर्वाचन अधिकारी द्वारा किया जायेगा।
निक्षेप राशि रहेगी इस प्रकार
   नाम निर्देशन पत्र के साथ अभ्यर्थी को निक्षेप राशि जमा करना होगी। जिला पंचायत सदस्य के लिये 8 हजार रूपये, जनपद पंचायत सदस्य के लिये 4 हजार रूपये, सरपंच के लिये 2 हजार रूपये एवं पंच के लिये 4 सौ रूपये निर्धारित है। वहीं अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति, अन्य पिछड़ा वर्ग एवं महिला अभ्यर्थियों को निर्धारित उक्त राशि में से आधी राशि ही निक्षेप के रूप में जमा कराना होगा।
देना होगा घोषणा पत्र
   पंच पद हेतु नाम निर्देशन पत्र के साथ अभ्यर्थी को निर्धारित प्रारूप में घोषणा पत्र प्रस्तुत करना होगा, जबकि शेष पद सरपंच, जनपद पंचायत सदस्य एवं जिला पंचायत सदस्य हेतु निर्धारित प्रारूप में शपथ पत्र प्रस्तुत करना होगा। नाम निर्देशन पत्र प्रस्तुत किये जाने के दौरान अभ्यर्थी के साथ अधिकतम 2 व्यक्ति ही रिटर्निग आफिसर के कक्ष में प्रवेश कर सकते है। वहीं वाहनों की संख्या भी अधिकतम 2 ही हो सकती है। जिला पंचायत सदस्य एवं जनपद पंचायत सदस्य के अभ्यर्थियों के नाम निर्देशन हेतु ओलीन की वैकल्पिक सुविधा उपलब्ध कराई गई है। अभ्यर्थी स्वयं लेपटॉप/डेस्क्टॉप से या साइबर कैफे/ कियोस्क सेंटर / लोक सेवा केन्द्र के माध्यम से भी नाम निर्देशन पत्र भर सकते है। किन्तु इसकी हार्ड कापी निर्धारित समयावधि में रिटर्निग आफिसर के समक्ष प्रस्तुत करना होगी।
शिकायत निवारण की रहेगी विशेष व्यवस्था
   निर्वाचन संबंधित शिकायतो के त्वरित निराकरण हेतु आयोग के मुख्यालय पर कन्ट्रोल रूम स्थापित किया गया है। जिसका दूरभाष नम्बर 0755-2551076 है। वहीं जिला स्तर पर भी अपर कलेक्टर डॉ शालिनी श्रीवास्तव के निर्देशन में कन्ट्रोल रूम स्थापित किया गया है। जिसका दूरभाष क्रमांक 9425359770 तथा सहायक नोडल अधिकारी श्री जगन प्रसाद वास्कले के मोबाइल क्रमांक 8770314499 पर भी शिकायत दर्ज कराई जा सकती है।
गैर दलीय आधार पर होगा निर्वाचन
   पंचायत निर्वाचन गैर दलीय आधार पर होगा, इसके लिये नियुक्त समस्त कर्मियों, राजनैतिक दलों, अभ्यर्थियों को आदर्श आचरण संहिता का पालन करना अनिवार्य होगा। सभा, रैली, जुलूस आदि के लिये सक्षम अधिकारी से अनुमति प्राप्त करना होगा। मतदान समाप्ति के 48 घण्टे के पूर्व सार्वजनिक सभा, जुलूस, रैली आदि पर प्रतिबंध रहेगा। अभ्यर्थी को प्रचार - प्रसार के दौरान कोविड गाईड लाईन का पालन करना होगा।
कोविड से बचाव के रहेंगे प्रबंध
   कोविड संक्रमण से बचाव के लिये मतदान दल के सदस्यों को मास्क फेसशील्ड, ग्लब्स सैनेटाइजर दिये जायेंगे। वहीं मतदान केन्द्र पर प्रवेश करने के पूर्व मतदाताओं को हाथ साफ करने के लिये सैनेटाइजर, साबुन, पानी की व्यवस्था रहेगी। यदि कोई मतदाता कोविड संक्रमित है तो वह मतदान के अंतिम घण्टे में स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी, कर्मचारी के निर्देशन में मतदान करेंगे।
 
(43 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
दिसम्बरजनवरी 2022फरवरी
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
272829303112
3456789
10111213141516
17181920212223
24252627282930
31123456

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer