समाचार
|| सातवें वेतन आयोग अंतर्गत किये गये वेतन निर्धारण अनुमोदन का कार्य 30 जून तक पूर्ण कर लिये जायें || आँधी-तूफान के दौरान नागरिक बिजली सुरक्षा पर विशेष ध्यान दें || राज्य खाद्य आयोग के अध्यक्ष ने किया आंगनवाडी केन्द्र, उचित मूल्य दुकान, एनआरसी एवं वेयर हाउस का निरीक्षण || कृषि आदान विक्रेता डिप्लोमा हेतु पंजीयन करायें || शिक्षक की अनाधिकृत अनुपस्थिति में संबंधित शिक्षक के विरूद्ध अनुशासनात्मक कार्यवाही की जायेगी-कलेक्टर डॉ. जे विजय कुमार || आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं - सहायिकाओं को प्रधानमंत्री बीमा योजना का लाभ || प्रधानमंत्री आवास योजना के आवासों का समारोहपूर्वक लोकार्पण || सरजू बाई को मिला सीमेंट एवं छत वाला पक्का आवास "कहानी सच्ची है, सफलता की कहानी" || शिक्षा ही मनुष्य को समाज में सम्मान दिलाती है - जल संसाधन राज्यमंत्री || आदिम जनजातियों को बिना भर्ती प्रक्रिया नियुक्ति देने का प्रावधान
अन्य ख़बरें
पत्रकार संवाद सह कार्यशाला सम्पन्न
-
अशोकनगर | 19-मार्च-2017
 
       
      जनसंपर्क संचालनालय भोपाल के निर्देशानुसार रविवार को जिला मुख्यालय पर एक दिवसीय मीडिया संवाद सह कार्यशाला का आयोजन स्थानीय अग्रवाल होटल पैलेस में किया गया। कार्यशाला में वक्ताओं ने समाज के प्रति मीडिया की भूमिका तथा बदलते परिवेश में मीडिया संवाद की स्थिति तथा अन्य बिन्दुओं पर अपनी बात कही तथा प्रश्नों एवं शंकाओं का समाधान किया गया। कार्यक्रम का शुभारंभ मां सरस्वती जी के चित्र पर दीप प्रज्जवलन एवं माल्यार्पण द्वारा किया गया। कार्यक्रम के प्रारंभ में स्वागत भाषण एवं कार्यशाला के उद्देश्यों के बारे में सहायक संचालक जनसंपर्क श्री एस.एम.सिद्धीकी ने प्रकाश डाला।
        कार्यक्रम के दौरान ग्वालियर से आये वरिष्ठ पत्रकार डॉ.सुरेश सम्राट ने मुख्य अतिथि के रूप में कहा कि पत्रकारों को समाचारों की विश्वसनीयता पर विशेष ध्यान देना चाहिए। समाज को भ्रमित होने से बचाने के लिए मीडिया महत्वूपर्ण भूमिका होती है। उन्होंने कहा कि मीडिया का उत्तरदायित्व समाज को आईना दिखाना पडता है। संविधान में अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता का सही उपयोग पत्रकारों को करना चाहिए। अपने क्षेत्र के विकास के लिए आवाज उठाये और अपने दायित्वों का बखूबी निर्वहन करें। उन्होंने कहा कि वर्तमान समय में नवीन तकनीक से बदलाव आया है। पत्रकार अपने कर्म से समाज को नई दिशा दे सकते है। उन्होंने कहा कि पत्रकारों को चाहिए कि अपने शहर और कस्बों की सूरज बदलने के लिए अपनी लेखनी का बेहतर प्रयोग करें। उन्होंने पत्रकारों से सीधा संवाद करते हुए कहा कि मीडिया की भूमिका का सभी स्तरों पर वर्चस्व होना चाहिए तभी क्षेत्र की तरक्की एवं समृद्धि की कल्पना कर सकते है। उन्होने कहा कि प्रदेश शासन तथा जनसंपर्क संचालनालय द्वारा पत्रकारों के कल्याण के लिए अनेकों योजनाएं संचालित कर लाभ दिलाया है। पत्रकारों को श्रद्धानिधि, अधिमान्यता की सरलता की सुविधा प्रदान की गई है।
       कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए अपर कलेक्टर श्री ए.के.चांदिल ने कहा कि पत्रकार समाज का दर्पण होता है। किसी भी घटना, दुर्घटना की जानकारी मीडिया के माध्यम से प्राप्त होती है। जानकारी मिलने पर त्वरित कार्यवाही की जाती है। पत्रकारों की जागरूकता से ही शासन की योजनाओं का लाभ संबंधित हितग्राहियों को मिलता है। उन्होंने स्वच्छ पत्रकारिता एवं जागरूकता के लिए सभी पत्रकारों को धन्यवाद ज्ञापित किया।
        कार्यक्रम में विशिष्ट अतिथि के रूप में भोपाल से आये वरिष्ठ पत्रकार श्री प्रबाल सक्सेना ने कहा कि वर्तमान समय में पत्रकारिता के क्षेत्र में काफी परिवर्तन हुआ है। प्रिंट एवं इलेक्ट्रॉनिक मीडिया के साथ-साथ सोशल मीडिया ने भी अपना स्थान स्थापित किया है। शासन की जनकल्याणकारी योजनाओं का लाभ दिलाने के लिए पत्रकार सेतु का काम करता है। अपनी लेखनी से किसी जरूरतमंद को लाभ दिला दिया तो उसकी मेहनत सफल हो जाती है। उन्होंने कहा कि बेहतर पत्रकारिता के लिए समन्वय एवं संपर्क का होना आवश्यक है।
     इस अवसर पर श्री सुभाष श्रीवास्तव ने कहा कि आज की पत्रकारिता एक चेलेंज के रूप में होती है। पत्रकारिता का आज का दौर व्यसायिकता की ओर बढ़ रहा है। उन्होंने कहा कि पत्रकारिता को जिंदा रखने के लिए पत्रकारिता का व्यसायिकरण नही होना चाहिए। उन्होंने कहा कि क्षेत्र के खबरों के लिए स्थानीय स्रोत का होना आवश्यक है। खबर के सभी पहलूओं पर पत्रकारों को बारीकी से नजर रखना आवश्यक है।
     इस अवसर पर ग्वालियर से पधारे पत्रकार श्री सुरेश दंडोतिया ने कहा कि पत्रकार समाज में लोगों को सही दिशा और दशा से परिचय कराता है। पत्रकारों को खबरों में तथ्यात्मक बिन्दुओं का समावेश करते हुए समाचार लिखना चाहिए। पत्रकार को अपनी विश्वसनीयता समाज में लानी होगी। उन्होंने कहा कि जिला एवं कस्बों में पत्रकारिता करना काफी कठिन कार्य होता है। उन्होंने कहा कि पत्रकारिता का धर्म मानवीय संवेदना और पहलूओं पर आधारित होना चाहिए। उन्होंने पत्रकारों के साथ अपने अनुभवों को साझा किया।
     कार्यक्रम में ग्वालियर के श्री प्रदीप शास्त्री ने कहा कि पत्रकार नाकारात्मक खबरों की वजह साकारात्मक खबरों पर विशेष ध्यान दें। जिससे समाज को एक नई दिशा मिल सके।   
         कार्यक्रम का सफल संचालन वरिष्ठ पत्रकार डॉ.डी.एस.संधु ने किया तथा आभार प्रदर्शन सहायक संचालक संभागीय जनसंपर्क कार्यालय ग्वालियर श्री मधु सोलापुरकर ने किया।
(461 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
मईजून 2018जुलाई
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
28293031123
45678910
11121314151617
18192021222324
2526272829301
2345678

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer