समाचार
|| तन व मन को स्वस्थ रखने के लिये योग आवश्यक || मत्स्याखेट, क्रय, विक्रय एवं परिवहन प्रतिबंधित || कृषकों के बकाया ऋण के निपटारे के लिये 31 जुलाई तक का समय || पी.जी.कॉलेज व बाल संप्रेक्षण गृह में हुआ विधिक साक्षरता शिविर का आयोजन || 26 जून नशीले पदार्थ के दुरूपपयोग और अवैध व्यापार के विरूद्ध अन्तर्राष्ट्रीय दिवस के रूप में मनाये || वित्तमंत्री श्री मलैया ने उपचार हेतु ढाई लाख से अधिक की राशि स्वीकृत की || 4 लाख रूपये की सहायता अनुदान राशि स्वीकृत || कलेक्टर डॉ. जे विजय कुमार ने जिलेवासियों को दी शुभकामनाएं तथा आभार व्यक्त किया || योग सिर्फ निरोग नहीं बनाता यह स्वयं को पहचानने में मदद करता है - सांसद प्रहलाद पटैल || अन्तर्राष्ट्रीय योग दिवस पर ग्राम कुम्हारी में योग शिविर का आयोजन
अन्य ख़बरें
कलेक्टर ने किया उड़द और मूंग की खरीदी केन्द्रों का निरीक्षण
-
जबलपुर | 16-जून-2017
 
   
 
   कलेक्टर महेश चन्द्र चौधरी ने आज पाटन और शहपुरा कृषि उपज मण्डी में उड़द और मूंग के समर्थन मूल्य पर उपार्जन के लिए स्थापित किये गये खरीदी केन्द्रों का निरीक्षण किया। श्री चौधरी ने निरीक्षण के दौरान किसानों से भी चर्चा की और उन्हें आश्वस्त किया कि उनकी शत-प्रतिशत पैदावार का उपार्जन किया जायेगा। पुलिस अधीक्षक डॉ. एम.एस. सिकरवार भी खरीदी केन्द्रों के निरीक्षण में कलेक्टर के साथ थे।
    कलेक्टर ने खरीदी केन्द्रों पर किसानों द्वारा लाई गई उड़द और मूंग की गुणवत्ता को भी परखा। उन्होंने अधिकारियों को खरीदी केन्द्रों पर किसानों की सुविधा के मद्देनजर सभी जरूरी व्यवस्थायें करने के निर्देश दिये। श्री चौधरी ने कहा कि किसानों से किसी भी तरह की शिकायत मिलने पर उपार्जन व्यवस्था से जुड़े अधिकारियों पर सख्त कार्यवाही की जायेगी। उन्होंने खरीदी केन्द्रों पर बारदानों की उपलब्धता बनाये रखने की हिदायत भी अधिकारियों को दी।
    कलेक्टर ने निरीक्षण के दौरान अधिकारियों से साफ शब्दों में कहा कि खरीदी व्यवस्था का बिचौलिए किसी भी तरह अनुचित लाभ न उठा पायें यह हर हाल में उन्हें सुनिश्चित करना होगा। उड़द और मूंग की खरीदी वास्तविक किसानों से और औसत अच्छी किस्म के मापदण्डों के अनुसार ही हो, यह जिम्मेदारी उपार्जन व्यवस्था से जुड़े प्रत्येक अधिकारी की होगी।
    कलेक्टर ने खरीदी केन्द्रों के निरीक्षण के दौरान किसानों के साथ चर्चा करते हुए कहा कि उनकी शत-प्रतिशत पैदावार का उपार्जन किया जायेगा। इस बारे में किसानों को चिंता करने की जरूरत नहीं है। श्री चौधरी ने किसानों को बताया कि उन्होंने राज्य शासन को पत्र भेजकर जिले में समर्थन मूल्य पर उड़द और मूंग के उपार्जन की अवधि को 15 जुलाई तक बढ़ाने का अनुरोध किया है और जल्दी ही शासन से इस हेतु स्वीकृति भी प्राप्त हो जायेगी।
        श्री चौधरी ने किसानों से आग्रह किया कि वे खरीदी केन्द्रों पर शासन द्वारा औसत अच्छी किस्म के निर्धारित मापदण्डों के मुताबिक ही उड़द और मूंग की उपज लेकर आयें। उन्होंने अधिकारियों से भी कहा कि किसानों की सुविधा के लिए खरीदी केन्द्रों पर छन्ने की व्यवस्था करें।
    कलेक्टर ने किसानों को बताया कि खरीदी गई उड़द-मूंग की कीमत का भुगतान खरीदी की रसीद मिलने के बाद सात दिन के भीतर उनके बैंक खाते में किया जायेगा। इसके लिए अधिकारियों को भी आवश्यक निर्देश दे दिये गये हैं। कलेक्टर ने किसानों से कहा कि वे खरीदी केन्द्रों पर स्व-प्रमाणित पत्रक लेकर आयें और पत्रक में ग्राम का नाम, खसरा नंबर, बोई गई फसल का क्षेत्र तथा मोबाईल नंबर का उल्लेख भी करें। साथ ही बैंक खाते की जानकारी भी अनिवार्य रूप से दें ताकि खरीदी और भुगतान में उन्हें किसी तरह की कठिनाई न हो।
    चर्चा के दौरान समर्थन मूल्य पर खरीदी गई अरहर का भुगतान कई किसानों को अब तक प्राप्त न होने की जानकारी कलेक्टर को दी गई। कलेक्टर ने किसानों की इस शिकायत को गंभीरता से लेते हुए अधिकारियों को निर्देश दिये कि वे ऐसे किसानों की सूची बनायें जिन्हें अरहर की कीमत का भुगतान अभी तक नहीं हुआ है। उन्होंने कहा कि वे किसानों को अरहर की कीमत का भुगतान शीघ्र हो इसके लिए शासन स्तर पर चर्चा करेंगे।
        श्री चौधरी से चर्चा के दौरान किसानों ने उड़द और मूंग के साथ समर्थन मूल्य पर अरहर की खरीदी प्रारंभ करने की मांग भी की। कलेक्टर को बताया गया कि कई किसानों के पास अभी भी अरहर रखी है। कलेक्टर ने किसानों की इस मांग से सहमति व्यक्त करते हुए कहा कि उड़द और मूंग की खरीदी सुचारू रूप से होते ही समर्थन मूल्य पर अरहर का उपार्जन प्रारंभ कर दिया जायेगा। इसमें लगभग आठ से दस दिन का समय लग सकता है।
    कलेक्टर ने इस मौके पर बताया कि किसानों को उनकी उपज का लाभप्रद मूल्य दिलाने के लिए जिला प्रशासन द्वारा मसूर, मटर, चना, बटरी और सरसों का जिले में समर्थन मूल्य पर उपार्जन प्रारंभ करने के लिए राज्य शासन को पत्र भेजकर आग्रह किया गया है। कलेक्टर ने इस दौरान बताया कि उपार्जन की अवधि के दौरान मण्डी या उसके आसपास के क्षेत्र का कोई भी व्यापारी औसत अच्छी किस्म की मूंग या उड़द समर्थन मूल्य से कम कीमत पर नहीं खरीद सकेगा। व्यापारी केवल ऐसी उपज को ही बोली लगाकर खरीद सकेगा जो औसत अच्छी किस्म से निम्न होने के कारण खरीदी के लिए नियुक्त एजेंसी द्वारा उपार्जन के योग्य नहीं माना गया हो। उन्होंने बताया कि मण्डी समिति के सचिव की यह जिम्मेदारी होगी कि किसी भी व्यापारी द्वारा समर्थन मूल्य से कम पर औसत अच्छी किस्म की गुणवत्ता की खरीदी करने पर इसकी जानकारी तुरंत वरिष्ठ अधिकारियों को दें। इसमें विलंब करने पर मण्डी सचिव के विरूद्ध भी कार्यवाही की जायेगी।
    कलेक्टर ने इस मौके पर किसानों को बताया कि उनकी सुविधा के लिहाज से स्व-प्रमाणित पत्रक के सत्यापन के लिए प्रत्येक खरीदी केन्द्र पर कृषि विभाग के एक अधिकारी को तैनात किया जा रहा है। इसी तरह भण्डार गृह निगम का भी एक अधिकारी प्रत्येक खरीदी केन्द्र पर तैनात किया जायेगा, जो खरीदी गई उपज की गुणवत्ता को मौके पर ही परखेगा ताकि भण्डारण स्थल पर खरीदी गई उपज को गुणवत्ताहीन बताकर लौटाने जैसी परिस्थितियां निर्मित न हो।
    कलेक्टर के साथ किसानों की हुई चर्चा के दौरान शहपुरा में कृषि उपज मण्डी अध्यक्ष श्री नीरज सिंह तथा पाटन में किसानों के साथ मण्डल अध्यक्ष श्री राकेश सिंह, श्री आनंद पटैल एवं श्री प्रकाश परोहा प्रमुख रूप से मौजूद थे।
    कलेक्टर ने निरीक्षण के दौरान बताया गया कि अभी तक पाटन खरीदी केन्द्र में करीब 400 क्विंटल और शहपुरा खरीदी केन्द्र में लगभग 7 हजार क्विंटल उड़द और मूंग का उपार्जन किया जा चुका है। कलेक्टर के निरीक्षण के समय अनुविभागीय अधिकारी पाटन पी.के. सेनगुप्ता भी मौजूद थे।
करमेता में ओमती नाले की साफ-सफाई का लिया जायजा
        कलेक्टर महेश चन्द्र चौधरी और पुलिस अधीक्षक डॉ. एम.एस. सिकरवार ने खरीदी केन्द्र का निरीक्षण करने के लिए पाटन जाते समय रास्ते में करमेता के पास पड़ने वाले ओमती नाले की वर्षा पूर्व नगर निगम द्वारा की गई सफाई के कार्य का जायजा भी लिया।
(370 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
मईजून 2018जुलाई
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
28293031123
45678910
11121314151617
18192021222324
2526272829301
2345678

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer