समाचार
|| जिलास्तरीय शांति समिति की बैठक 19 अगस्त को || जनजातीय विभाग की योजनाओं का कम्प्यूटरीकरण || ऑनलाईन प्रवेश के लिए सी.एल.सी. का द्वितीय चरण || उर्दू पाण्डुलिपि और पुस्तकों के लिये आवेदन आमंत्रित || मुख्यमंत्री ऋण समाधान योजना में आंशिक संशोधन || इस वर्ष 23 एवं 24 अक्टूबर को होगा नर्मदा महोत्सव का आयोजन || किसानों की सुविधा के लिए एमपी किसान एप || 20 अगस्त को मनाया जायेगा सद्भावना दिवस || श्रमिकों के बच्चों के लिए शिक्षा हेतु वित्तीय सहायता योजना || केरल के बाढ़ पीड़ितों की सहायता के लिए राशि एकत्र करने का अनुरोध
अन्य ख़बरें
कलेक्टर ने की सड़कों एवं भवनों के निर्माण कार्यों की समीक्षा
समय सीमा में कार्य पूर्ण नहीं करने पर कार्यवाही की चेतावनी
बालाघाट | 13-सितम्बर-2017
  
     कलेक्टर श्री डी व्ही सिंह ने आज 13 सितम्बर को लोक निर्माण विभाग, सड़क विकास प्राधिकरण, ग्रामीण यांत्रिकी सेवा, प्रधानमंत्री ग्रामीण सड़क योजना, परियोजना क्रियान्वयन ईकाई के अधिकारियों एवं ठेकेदारों की बैठक लेकर जिले में विभिन्न योजनाओं के अंतर्गत चल रहे निर्माण कार्यों की समीक्षा की। बैठक में जिला पंचायत की मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्रीमती मंजूषा विक्रांत राय एवं जिला परिवहन अधिकारी श्री आरएस चिकवा भी उपस्थित थे।
    बैठक में सर्वप्रथम लोक निर्माण विभाग की सड़कों के निर्माण कार्यों की समीक्षा की गई। समीक्षा के दौरान पाया गया कि झालीवाड़ा-बासी-अंसेरा, कटेदरा-जराहमोहगांव मार्ग का निर्माण कार्य तय समय सीमा में पूर्ण नहीं हो रहा है। कटेदरा से तिरोड़ी-खवासा मार्ग के 23 किलोमीटर का कार्य बालाघाट जिले में और 19 किलोमीटर का कार्य सिवनी जिले में है। यह सड़क पूरी तरह से सीमेंट-कांक्रीट की बनना है। ठेकेदार रायसिंग एंड कंपनी बालाघाट की होने के बाद भी पहले सिवनी जिले में कार्य कर रही है। कटंगी-नंदोरा मार्ग निर्माण में बिजली के पोल शिफ्ट नहीं किये जाने के कारण विलंब हो रहा है।
    कलेक्टर श्री सिंह ने जिले में सड़कों का निर्माण कार्य तेजी से पूर्ण नहीं किये जाने पर नाराजगी व्यक्त की और ठेकेदारों से कहा कि वे तय समय सीमा में सड़कों का कार्य पूर्ण करें अन्यथा कार्यवाही के लिए तैयार हो जायें। सड़क के कार्य के लिए पर्याप्त राशि होने के बाद भी समय पर काम नहीं हो तो इसे बर्दाश्त नहीं किया जायेगा। जनता को ठेकेदारों एवं अधिकारियों की लापरवाही का खामियाजा नहीं भुगतने दिया जायेगा। अब वर्षा समाप्त होने की स्थिति में है सड़कों के निर्माण में गति आना चाहिए। बालाघाट जिले में सभी ओर सड़कों की स्थिति बहुत ही खराब हो गई है। उन्होंने अधिकारियों को भी चेतावनी दी कि वे सड़कों एवं भवनों के कार्य समय सीमा में पूर्ण करायें अन्यथा उनके विरूद्ध जांच एवं कार्यवाही का प्रस्ताव शासन को भेजा जायेगा।
    भवनों के निर्माण कार्यों की समीक्षा के दौरान बताया गया कि राष्ट्रीय माध्यमिक शिक्षा मिशन के अंतर्गत धरपीवाड़ा, देवरी, फुलचुर, पुलपुट्टा, चालिसबोड़ी, मछुरदा, खजरा के शाला भवन जून 2017 में पूर्ण हो जाने चाहिए थे। लेकिन अब तक कार्य पूर्ण नहीं हुआ है। जिले में जिला शिक्षा अधिकारी का कार्यालय भवन अब तक ड्राईंग उपलब्ध नहीं होने के कारण प्रारंभ नहीं किया गया है। कालेज भवन के 5 कार्य बहुत ही धीमी गति से चलना पाया गया। उकवा के एकलव्य विद्यालय सहित आदिवासी विकास के 10 कार्य अब तक अधूरे है।
    कलेक्टर श्री सिंह ने भवनों के कार्यों की धीमी प्रगति पर नाराजगी व्यक्त की और निर्माण ऐजेंसी के अधिकारी को चेतावनी दी कि यदि उनके द्वारा गुणवत्ता के साथ तेजी से कार्य पूर्ण नहीं किया गया तो उनके विरूद्ध कड़ी कार्यवाही की जायेगी। उन्होंने कहा कि प्रदेश के अन्य जिलों में जिला शिक्षा अधिकारी के आलीशान कार्यालय बन कर तैयार हो गये है तो बालाघाट में क्यों अब तक केवल ड्राइंग का इंतजार किया जा रहा है। उन्होंने निर्माण विभागों के उपयंत्रियों को भी चेतावनी दी कि वे निर्माण कार्य की नियमित रूप से मानीटरिंग करें और कार्य की गुणवत्ता पर कड़ी निगरानी रखें।
 
(339 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
जुलाईअगस्त 2018सितम्बर
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
303112345
6789101112
13141516171819
20212223242526
272829303112
3456789

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer