समाचार
|| मुख्यमंत्री श्री चौहान 20 जुलाई को जबलपुर में प्रतिभाशाली विद्यार्थियों को वितरित करेंगे लेपटॉप || विशेष ग्राम सभाओं का आयोजन 20 जुलाई को || पर्यटन और स्वच्छता का गहरा नाता || ग्रामीण सरकारी योजनाओं का लाभ उठाकर अपनी स्थिति को सुधारें || पर्यटन क्विज हेतु प्रतिभागी विद्यार्थियों का पंजीयन 20 जुलाई तक || नये उत्पादों को जी.आई टैग मिलने से बढ़ेगा प्रदेश का अन्तर्राष्ट्रीय निर्यात || संस्थाओं के समन्वय से होने वाले काम देंगे बेहतर परिणाम || मतदान केन्द्रों का ईआरएमएस में युक्तियुक्तकरण 21 जुलाई को || राज्यपाल ने खरगोन के आस्था ग्राम में बैलगाड़ी सफारी का लुत्फ उठाया || अन्तर्राष्ट्रीय बाघ दिवस 29 जुलाई को
अन्य ख़बरें
संकल्प से सिद्धि की प्राप्ति कठोर परिश्रम से-राज्यमंत्री श्री मीणा
पंचायत राज्य संस्थाओं के निर्वाचित प्रतिनिधियों का सम्मेलन
विदिशा | 13-सितम्बर-2017
 
 
    भारत छोड़ो आंदोलन की 75वीं वर्षगांठ पर न्यू इंडिया मंथन संकल्प सिद्धि आव्हान कार्यक्रम के अंतर्गत आज पंचायत राज्य संस्थाओं के निर्वाचित प्रतिनिधियों का सम्मेलन आयोजित किया गया था।
    उद्यानिकी तथा खाद्य प्रसंस्करण (स्वतंत्र प्रभार) वन राज्यमंत्री श्री सूर्यप्रकाश मीण ने सम्मेलन में कहा कि संकल्प से सिद्धि की प्राप्ति कठोर परिश्रम से संभव है। संकल्प से सिद्धि तक पहुंचने के लिए बीच के कार्यो में आमजनों का सहयोग अति आवश्यक है। नए भारत, मध्यप्रदेश का निर्माण हो इसके लिए प्रधानमंत्री जी द्वारा जिस प्रकार देश को आजाद करने का संकल्प लिया गया था। ठीक वैसे ही अब गरीबी, गंदगी, भ्रष्टाचार, जातिवाद, सांप्रदायिकता और आंतकवाद की चुनौतियों का सामना कर उन पर विजय प्राप्त करने का संकल्प देशवासियों को दिलाया जा रहा है।
    राज्यमंत्री श्री मीणा ने पंचायत प्रतिनिधियों से कहा कि वे अच्छे कार्यो से क्षेत्र में जाने जाएं। निर्वाचन पंचायत प्रतिनिधियों का मुख्य उद्देश्य गांव की जनता की सेवा करना है जिसके लिए वे चुने गए है। ग्राम के विकास कार्यो में अधिक से अधिक जनभागीदारी कैसे हो इस ओर विचार ही नही करने होंगे बल्कि कार्यो में परणीत करना होगा। उन्होंने कहा कि हमारा गांव पूर्ण स्वच्छ हो। गरीब समस्याविहिन रहें। ऐसे गरीब एवं भूमिहीन परिवार जिनके पास आवास नही है उन्हें आवास दिलाए जाने की कार्यवाही हो। बच्चे शिक्षित हो गांव की तमाम बुनियादी आवश्यकताओं की पूर्ति हो। यही हमारा उद्देश्य होना चाहिए।
    राज्यमंत्री श्री मीणा ने कहा कि जिले में कम वर्षा हुई है अतः किसानों को कम पानी की फसलें लेने की सलाह देने के दायित्व का भी निर्वहन हम सबकों करना होगा। ऐसे नदी, नाले, स्टाप डेम जहां पानी का बहाव जल रहा है वहां जल संचय के कार्य अधिक से अधिक कराने की सलाह उन्होंने दी।
    राज्यमंत्री श्री मीणा ने कहा कि प्रदेश के किसानों का किसी भी प्रकार से शोषण ना हो इसके लिए राज्य सरकार द्वारा किसानों के हितों में अनेक निर्णय लिए गए है। अब किसान अपनी फसल को बेचते है तो बाजार मूल्य के अंतर की राशि भी अब शासन द्वारा किसानों को सीधे बैंक खातों में जमा कराने की कार्यवाही की जाएगी। उन्होंने समस्त सरपंच और सचिवों से कहा कि वे अपने-अपने कार्यक्षेत्रों में पूर्ण ईमानदारी, सजगता से कार्य कर प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री के सपने को जिले में शत प्रतिशत पूरा करा सकते है।
    राज्यमंत्री श्री मीणा ने कार्यक्रम स्थल पर सभी को संकल्प दिलाया। जिसमें भारत निर्माण के लिए स्वच्छता, गरीबी मुक्त, भ्रष्टाचार मुक्त, आतंकवाद मुक्त, सम्प्रदाय मुक्त, जातिवाद मुक्त इत्यादि पर विशेष प्रकाश संकल्प में दिया गया है।
    जिला पंचायत अध्यक्ष श्री तोरण सिंह दांगी ने कहा कि प्रधानमंत्री जी का सपना है कि भारत सशक्त, स्वच्छ और भ्रष्टाचार रहित बनें। देश में किसी भी प्रकार की आतंकवादी गतिविधियां पनपे ना इसके लिए न्यू इंडिया मंथन संकल्प सिद्धि का आव्हान किया गया है। जिसमें निर्वाचित जनप्रतिनिधियों की महती भूमिका है। उन्होंने कहा कि सरपंच चाहे तो अपने गांव को चमन कर सकता है। उन्होंने स्वंय सरपंच रहने के दौरान किए गए कार्यो को रेखांकित करते हुए कहा कि ग्रामवासी उन कार्यो की दुहाई अब तक दे रहे है।
    जिपं अध्यक्ष श्री दांगी ने कहा कि प्रदेश के मुख्यमंत्री जी के द्वारा अनेक जनहितैषी योजनाएं बनाई गई है जिसका बाजिव क्रियान्वयन करने की प्रथम इकाई पंचायत है। उन्होंने कहा कि जन सुनवाई कार्यक्रम में अनेक आवासों के आवेदन आते है जबकि इन आवेदनों का निराकरण पंचायत स्तर पर ही होना चाहिए। आवेदकों को पात्रता के मापदण्डों की जानकारी सुगमता से पंचायत प्रतिनिधि ही दे सकते है। उन्होंने स्वंय जागरूक हो और अन्य को जागरूक करें पर प्रकाश डालते हुए कहा कि राज्य सरकार द्वारा 14वें वित्त आयोग के निर्माण कार्यो के मूल्यांकन हेतु पंचायतों का पंचनामा मान्य किया गया है। अब हमें इंजीनियर के चक्कर लगाने की जरूरत नही है।
    कार्यक्रम में विदिशा जनपद पंचायत की अध्यक्ष श्रीमती रामदेवी ठाकुर ने कहा कि जन सहयोग से हम बडी से बडी समस्या को हल कर सकते है। उन्होंने सरपंचों और सचिवों से कहा कि वे अपने-अपने कार्य क्षेत्रों में जागरूकता का परिचय देते हुए सुपात्रों को लाभ दिलाने में कोई कोर कसर ना छोडे़। कार्यक्रम को श्री सोहन पाठक ने भी सम्बोधित किया।
    जिला पंचायत सीईओ श्री दीपक आर्य ने इससे पहले विदिशा जनपद स्तरीय समीक्षा बैठक में न्यू इंडिया मंथन संकल्प सिद्धि अभियान के क्रियान्वयन में पंचायत राज्य संस्थाओं के निर्वाचित प्रतिनिधियों के दायित्वों को रेखांकित करते हुए कहा कि ग्राम के सचिव की अभियान के क्रियान्वयन में महत्वपूर्ण भूमिका है। सचिव जागरूक होकर अभियान के उद्देश्यों की प्राप्ति में कोई कोर कसर ना छोडे़। जालोरी गार्डन में आयोजित उक्त कार्यक्रम में विदिशा जनपद पंचायत के उपाध्यक्ष श्री मनोज मीणा के अलावा जनपद के समस्त सरपंच, सचिव मौजूद थे।
 
(310 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
जूनजुलाई 2018अगस्त
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
2526272829301
2345678
9101112131415
16171819202122
23242526272829
303112345

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer