समाचार
|| पुराने कार्य शीघ्र पूर्ण करें, नहीं तो होगी कार्रवाई || कृषक पुरस्कार की प्रविष्टि 10 अगस्त तक आमंत्रित || वेतन निर्धारण के सम्बन्ध में आ रही समस्याओं का समाधान प्रशिक्षण के माध्यम से किया गया || पर्यटन व स्वच्छता का गहरा नाता-राज्यपाल श्रीमती पटेल || संयुक्‍त कलेक्‍टर ने किया कार्यभार ग्रहण || लेटरल एंट्री से बी.ई, एम.बी.ए. के द्वितीय वर्ष में प्रवेश || टी.एन.सी.पी. ने विशेष पखवाड़ा में निपटाये डेढ़ हजार से अधिक प्रकरण || प्रदेश के 20 जिलों में सामान्य से अधिक, 18 में सामान्य वर्षा दर्ज || सिवनीमालवा विधायक की विधायक निधि से एक निर्माण कार्य के लिए प्रशासकीय स्वीकृति जारी || 10 नवीन प्री-मेट्रिक छात्रावास खुलेंगे
अन्य ख़बरें
अध्यक्ष भूमि सुधार आयोग ने जनप्रतिनिधियों से सुझाव लिये
-
शहडोल | 12-अक्तूबर-2017
 
 
    अध्यक्ष भूमि सुधार आयोग श्री आई.एस.दाणी की अध्यक्षता में आज संभागीय मुख्यालय शहडोल के कमिश्नर कार्यालय में शहडोल संभाग के जनप्रतिनिधियों की बैठक सम्पन्न हुई। बैठक में अध्यक्ष भूमि सुधार आयोग श्री आई.एस.दाणी ने भूमि सुधार आयोग के कार्यों के संबंध में जनप्रतिनिधियों को जानकारी दी तथा भूमि सुधार के संबंध में जनप्रतिनिधियों से सुझाव लिये। बैठक में विधायक बांधवगढ़ श्री शिवनारायण सिंह ने सुझाव दिया कि ग्रामीण क्षेत्रों में बंटवारा की अभी भी समस्याएं बनी हुई हैं, परिवारों में भूमि का बंटवारा नहीं होने के कारण लोगों को शासकीय योजनाओं का लाभ नहीं मिल पा रहा है, उन्होने सुझाव दिया कि भूमि के बंटवारे की प्रक्रिया को और अधिक सरल और पारदर्शी बनाया जाये। उन्होने यह भी सुधाव दिया कि फौती नामांतरण के प्रकरण उमरिया जिले में काफी लंबित है, इनका भी निराकरण प्राथमिकता के साथ कराया जाये। बैठक में उपाध्यक्ष जनपद पंचायत सोहागपुर श्री भूपेंद्र मिश्रा ने सुझाव दिया कि सामान्य वर्ग के लोगों की भूमि की अदला-बदली आदिवासियों की भूमि के साथ नहीं होने के कारण आदिवासी किसानों को आर्थिक तौर से काफी क्षति हो रही है। उन्होने कहा कि सामान्य वर्ग के किसानों से आदिवासियों की भूमि की अदला-बदली की प्रक्रिया को सरल और सहल बनाया जाये। उन्होने यह भी सुझाव दिया कि खसरों में गलत इंट्री होने के कारण किसानों को आर्थिक एवं मानसिक रूप से काफी परेशानी उठानी पड़ती है। खसरे में की गई गलत इंट्री के सुधार के लिये किसानों को कोर्ट-कचहरी के चक्कर लगाने पड़ते हैं, मुकदमा लड़ना पड़ता है जिसमें कई वर्ष लग जाते हैं। उन्होने सुझाव दिया कि किसानों की भूमि का खसरे मे गलत इंट्री करने वाले तहसीलदारों की जबाबदेही तय की जाये तथा गलत इंट्री होने की स्थिति में ऐसे राजस्व अधिकारियों के विरूद्ध कार्यवाही जाये। उन्होने यह भी सुझाव दिया कि व्यवस्थापन के तहत किसानों को कई राजस्व अधिकारियों द्वारा 10-10 एकड़ के भूमि के पट्टे दे दिये गये हैं जिस पर किसानों ने पक्के मकान, कुऐं आदि खुदवा लिये हैं, अब राजस्व अधिकारी उन्हें बेदखल कर रहे हैं। उन्होने कहा कि भूमि आवंटन के समय राजस्व अधिकारियों ने गल्ती से भूमि के पट्टे दिये हैं और अब उन्हें बेदखल किया जा रहा है। उन्होने सुझाव दिया कि इसमें किसानों के साथ न्याय किया जाये। बैठक में जनपद अध्यक्ष मानपुर श्री रामकिशोर चतुर्वेदी ने सुझाव दिया कि मानपुर क्षेत्र की वनभूमि में सैकड़ों वर्षों से आदिवासी रह रहे हैं, उनके रहवास की भूमि को वनभूमि घोषित करने के कारण वनवासियों को अब काफी कठिनाईयों का सामना करना पड़ रहा है। उन्होने कहा कि ऐसे वनवासियों के लिये सरकार वैकल्पिक व्यवस्था करे। बैठक में विधायक जयसिंहनगर श्रीमती प्रमिला सिंह, जिला पंचायत अध्यक्ष श्री नरेंद्र मरावी, जिला पंचायत सदस्य श्री तेजप्रताप उइके, अध्यक्ष नगर पालिका श्रीमती उर्मिला कटारे, उपाध्यक्ष जिला पंचायत श्रीमती पूर्णिमा तिवारी, श्री सातिका तिवारी, पार्षद श्री महेश भागदेव, नगर पालिका अध्यक्ष बिजुरी श्री पुरूषोत्तम सिंह, उपाध्यक्ष नगर पालिका श्री कुलदीप निगम ने भी महत्वपूर्ण सुझाव दिये। बैठक में संयुक्त आयुक्त श्री जे.के.जैन एवं आयोग के सदस्यगण उपस्थित थे।
 
(279 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
जूनजुलाई 2018अगस्त
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
2526272829301
2345678
9101112131415
16171819202122
23242526272829
303112345

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer