समाचार
|| ब्यौहारी नगर वासियों की वर्षों पुरानी ख्वाहिस हुई पूरी (सफलता की कहानी) || "ठहाकों के साथ याद किया पं.ओम व्यास को" || अधिक से अधिक हितग्राही लोक अदालत के माध्यम से प्रकरणों का निराकरण करायें : जिला न्यायाधीश || नि:शुल्क परीक्षा पूर्व प्रशिक्षण हेतु अजा/अजजा उम्मीदवारों से आवेदन 25 जून तक आमंत्रित || नशीले पदार्थों के दुरूपयोग और अवैध व्यापार के विरूद्ध अंतर्राष्ट्रीय दिवस 26 जून को || कमिश्नर श्री दुबे 28 जून को पलेरा आयेंगे || मुख्यमंत्री तीर्थ दर्शन यात्रा के तहत जगन्नाथपुरी यात्रा 29 को || समाज में झूठ, भ्रम, निराशा फैलाने वालों की कोई जगह नहीं - प्रधानमंत्री श्री मोदी || सीपी ग्राम पोर्टल पर शिकायत दर्ज करने की प्रक्रिया में संशोधन हुआ || प्रदेश में योग स्वास्थ्य केन्द्र योजना का शुभारंभ
अन्य ख़बरें
गर्ल्स हॉस्टल, धार्मिक स्थलों और स्कूलों के आसपास की शराब दुकानें बंद होंगी
पोर्न साइट्स के दुष्प्रभावों के बारे में जागरूकता के लिये स्कूलों में विशेष अभियान चलाया जाएगा, महिला अपराधों पर नियंत्रण की समीक्षा बैठक में मुख्यमंत्री श्री चौहान के निर्देश
उज्जैन | 14-नवम्बर-2017
 
   
   मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने निर्देश दिये हैं कि गर्ल्स हॉस्टल, धार्मिक स्थलों और स्कूलों के आसपास की शराब दुकानें बंद की जायें। ऐसे स्थलों की सूची बनाकर यह कार्रवाई की जाये। शराब दुकानों के अहाते तुरंत बंद किये जायें। पोर्न साइट्स के दुष्प्रभावों के बारे में जागरूकता लाने के लिये स्कूलों में विशेष अभियान चलाया जाये। मुख्यमंत्री श्री चौहान विगत दिवस भोपाल में महिला अपराधों पर नियंत्रण के संबंध में समीक्षा बैठक ले रहे थे। बैठक में मुख्य सचिव श्री बी.पी.सिंह और पुलिस महानिदेशक श्री आर.के.शुक्ला भी उपस्थित थे।
   मुख्यमंत्री श्री चौहान ने पिछले सप्ताह इस संबंध में ली गयी बैठक के निर्णयों के पालन में की गई कार्रवाई की समीक्षा की। उन्होंने कहा कि स्कूल-कॉलेज और लोक परिवहन की बसों में जी.पी.एस. सिस्टम और सी.सी.टी.व्ही. कैमरे लगाना अनिवार्य रूप से सुनिश्चित किया जाये। इसका पालन नहीं करने वाली संस्थाओं की मान्यता निरस्त की जाये। महिला छात्रावासों के प्रवेश द्वार पर सी.सी.टी.व्ही.लगाना सुनिश्चित किया जाये। संवेदनशील स्थानों पर स्थित शराब की दुकानें चिन्हित कर उन्हें बंद कराया जाये। महिला अपराध के प्रकरणों में तुरंत चिकित्सा सहायता उपलब्ध करवाई जाये और चिकित्सकों में संवेदनशीलता के लिये स्वास्थ्य विभाग के अमले को प्रशिक्षित किया जाये।
प्रत्येक जिले में वन स्टाप सेंटर स्थापित होंगे
   बैठक में बताया गया कि पुलिस विभाग द्वारा महिला अपराधों की रोकथाम के लिये महिलाओं से विशेष संपर्क कार्यक्रम के तहत स्कूलों-कॉलेजों में संपर्क किया जा रहा है। इसके तहत दो सप्ताह में करीब ढ़ाई लाख महिलाओं-युवतियों से संपर्क किया जायेगा। महिला अपराध तुरंत पंजीबद्ध हों, इसके लिये पुलिस के मैदानी अमले को अगले तीन माह में व्यापक प्रशिक्षण दिया जायेगा। वर्तमान में चल रहे इस तरह के प्रकरणों की समीक्षा कर त्वरित कार्रवाई की जायेगी। स्कूल बसों में महिला परिचालक की उपस्थिति अनिवार्य करने तथा चालकों के चरित्र सत्यापन के लिये परिवहन विभाग द्वारा निर्देश जारी किये गये हैं। स्कूल शिक्षा विभाग द्वारा सभी स्कूलों में गुड टच - बेड टच के बारे में फिल्म दिखाकर बच्चों को जागरूक किया जायेगा। महिला अपराधों की आपातकालीन शिकायत के लिये 100 और 1090 हेल्प लाइन पर दर्ज प्रकरणों की लगातार समीक्षा की जायेगी। आगामी मार्च माह से पहले प्रत्येक जिले में वन स्टाप सेंटर स्थापित किये जायेंगे। संवेदनशील स्थानों पर पर्याप्त प्रकाश व्यवस्था सुनिश्चित की जायेगी। पोर्न साइट्स के दुष्प्रभावों के बारे में जागरूकता लाने के लिये विशेषज्ञों द्वारा विशेष शिविर लगाकर स्कूलों में जानकारी दी जायेगी। इस संबंध में जारी निर्देशों की अपर मुख्य सचिव गृह द्वारा हर सप्ताह मॉनिटरिंग की जायेगी।
(221 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
मईजून 2018जुलाई
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
28293031123
45678910
11121314151617
18192021222324
2526272829301
2345678

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer