समाचार
|| घर से ही करा सकते हैं मोबाइल को आधार से लिंक || अन्तर्राष्ट्रीय बाघ दिवस 29 जुलाई को || हज यात्रियों को विशेष प्रशिक्षण 25 जुलाई तक || समाज कार्य स्नातक स्तरीय पाठ्यक्रम लेखन की समीक्षा 26 जुलाई को || पशुधन संजीवनी हेल्पलाइन टोल फ्री नंबर ‘‘1962’’ प्रारंभ || सीपीसीटी में हिंदी टाईपिंग अनिवार्य || स्कूलों की मान्यता के नवीनीकरण के लिए आयुक्त के पास अपील 20 से 26 जुलाई तक होगी || दिव्यांगजन अधिकार अधिनियम में 21 प्रकार की दिव्यांगताएं शामिल || उर्दू में 90 प्रतिशत से अधिक अंक लाने वाले विद्यार्थियों को मिलेगा पुरस्कार || सुदामा प्री मैट्रिक छात्रवृत्ति योजना
अन्य ख़बरें
कलेक्टर एक्सप्रेस पहुंची आदिवासी बाहुल्य ग्राम पिपरिया कलां व रानीपुर
कलेक्टर ने किया आदिवासी ग्रामीणों की समस्या का निराकरण, हैन्डपंप खनन, सहकारी भवन व सी.सी.रोड बनाने के दिये निर्देश
होशंगाबाद | 23-नवम्बर-2017
 
 
      ग्रामीणों की समस्याओं का मौके पर ही निराकरण करने एवं उनकी समस्याओं व कठिनाईयों से रूबरू होने के लिये जिला प्रशासन ने कलेक्टर एक्सप्रेस की शुरूआत की है। गुरूवार को कलेक्टर श्री अविनाश लवानिया ने अपने प्रशासनिक अमले के साथ कलेक्टर एक्सप्रेस के द्वारा केसला विकासखंड के दूरस्थ आदिवासी अंचल के वन ग्राम पिपरिया कलां एवं रानीपुर पहुंचे। कलेक्टर श्री लवानिया ने उक्त दोनो ग्रामों में चौपाल लगाकर आदिवासी ग्रामीणों की समस्याओं को सुना एवं अनेक समस्याओं का मौके पर ही निराकरण किया कुछ समस्याओं के यथा समय निराकरण करने के निर्देश अधिकारियो को दिये। कलेक्टर सबसे पहले पिपरिया कलां पहुंचे और वहां उन्होंने चौपाल में लगभग 20 ग्रामीणों जिनके पास गरीबी रेखा के तो कार्ड थे किन्तु पात्रता पर्ची नहीं थी उन सबके नाम पोर्टल में दर्ज करने एवं उन सभी को माह जनवरी से राशन देने के निर्देश जिला खाद्य अधिकारी श्री बी.एस.तोमर को  दिये। श्री तोमर ने इस अवसर पर जनवरी में लाभांवित होने वाले व्यक्तियों की सूची का वाचन भी किया। चौपाल में गांव की महिलाओं ने कुंए के पास एक हैन्डपंप स्थापित करने की मांग की जिसका परीक्षण करके कलेक्टर ने हैन्डपंप खनन का कार्य 15 दिवस में पूरा करने के निर्देश जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी को दिये। इसके पूर्व उन्होंने गांव की आंगनबाड़ी केन्द्र का निरीक्षण किया और वहां बच्चों को सुबह के नाश्ते के बारे में पूछा। उन्होंने मा.शा.पिपरिया कलां का भी निरीक्षण किया और बच्चों की शैक्षणिक योग्यता को परखा। कलेक्टर ने 6वीं एवं 7वीं कक्षा के बच्चो को गणित के प्रश्न हल करने को दिये जिसे कुछ बच्चों ने हल करके भी दिखाया कलेक्टर ने बच्चों से हिन्दी व अंग्रेजी की किताब भी पढवाई। बच्चों के शैक्षणिक योग्यताओं की सराहना करते हुए उन्होंने बच्चों को प्रोत्साहन राशि भी प्रदान की। उन्होंने स्कूल के नवनिर्मित रसोई घर का भी अवलोकन किया।
    कलेक्टर ने चौपाल में मध्यान भोजन व हाईरिस्क गर्भवती महिलाओं की जानकारी ली बताया गया कि स्वसहायता समूह को समय पर खाद्यान्न की आपूर्ति हो जाती है और रसोईयों को भी पैमेंट का भुगतान नियमित रूप से किया जा रहा है। एक बालिका कुमारी दीप्ति के कुपोषित पाये जाने पर सहायक कलेक्टर श्री स्वप्निल वानखेड़े ने बच्ची की संपूर्ण देखरेख करने की जिम्मेदारी ली। कलेक्टर ने उन्हे निर्देश दिये कि वे कुमारी दीप्ति को 3 माह में स्वस्थ बच्चों की श्रेणी में ले जाएं।
    ग्रामीणों की मांग पर उन्होंने पी.एम.जी.एस.वाई की छूटी हुई 300 मीटर सड़क को पूरा करने एवं ग्राम पंचायत के पास से नया चीचा तक सी.सी.रोड का निर्माण करने के निर्देश दिये। उन्होंने सहकारी समिति के लिये नया भवन बनाने एवं पुराने चीचा ग्राम में स्टाम डेम में मरम्मत का कार्य प्रारंभ करवाने के निर्देश अधिकारियों को दिये। चौपाल में कलेक्टर ने विकलांग सुमंत्रा बाई को विकलांग पेंशन तथा वटानी लाल को विकलांगता प्रमाण पत्र जारी करने के निर्देश दिये। पिपरिया कलां के निवायियों ने कलेक्टर को अवगत कराया कि गांव में बिजली आपूर्ति की स्थिति बेहतर है। पटवारी श्रीमती विशाखा मलोनी ने बताया कि यहां अविवादित नामांतरण, फौती व सीमांकन के एक भी प्रकरण लंबित नहीं है। सभी का निराकरण कर दिया गया है।
    कलेक्टर ने पिपरिया कलां में खेल मैदान के लिये जमीन तलाशने के निर्देश एसडीएम इटारसी श्री हिमांशु चंद को दिये। उन्होंने कहा कि जहां भी सामुदायिक दावा बनता है वहां खेल मैदान का कार्य शुरू करवा दिया जाये। गांव वालों ने बताया कि गांव में मृतकों को दफनाये जाने की प्रथा है अत: जहां मृतको को दफनाया जाता है उस भूमि को शमशान की भूमि घोषित किया जाये। कलेक्टर ने उनकी बात पर सहमति व्यक्त करते हुए शमशान घाट बनाने एवं वहां पर्याप्त बैठने की व्यवस्थाएं भी एसडीएम को सुनिश्चित करने के निर्देश दिये। जंगली सुअरों द्वारा गाहे-बगाहे फसल नष्ट करने की बात ज्ञात होने पर कलेक्टर श्री लवानिया ने कहा कि यदि जंगली सुअर जिन व्यक्तियों की फसलों को नुकसान पहुंचाते है तो उन व्यक्तियों का प्रकरण बनाकर उन्हे मुआवजा राशि दी जायेगी। उन्होंने इस दिशा में पटवारी को आवश्यक पहल करने के निर्देश भी दिये। ग्रामीणों ने कलेक्टर को बताया कि वर्तमान में वे दो पानी वाली फसल ले रहे है। श्री लवानिया ने वृद्धावस्था एवं विधवा पेंशन की भी जानकारी ली।
    कलेक्टर आदिवास बाहुल्य ग्राम रानीपुर में ग्रामीणों से रूबरू हुए। गांव वालों की मांग पर उन्होंने कहार मोहल्ला में शासकीय मद से एवं बड़ मोहल्ला में ग्राम पंचायत की निधि से एक-एक हैन्डपंप खनन 15 दिवस के अंदर करने के निर्देश दिये। कलेक्टर ने राजस्व के प्रकरण, मध्यान्ह भोजन, पेयजल की स्थिति, फसलों की स्थिति, आंगनबाड़ी केन्द्र व स्कूलों में बच्चों को मिलने वाले भोजन, हाईरिस्क गर्भवती महिलाओं की जानकारी ली।
    कलेक्टर एक्सप्रेस के भ्रमण के दौरान सहायक कलेक्टर श्री स्वप्निल वानखेड़े, जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री पी.सी.शर्मा, एसडीएम इटारसी श्री हिमांशु चंद, पिपरिया कलां के सरपंच श्री संतोष दामड़ें, रानीपुर की सरपंच श्रीमती कौशल बाई सहित सभी संबंधित अधिकारी गण मौजूद थे।
(240 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
जूनजुलाई 2018अगस्त
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
2526272829301
2345678
9101112131415
16171819202122
23242526272829
303112345

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer