समाचार
|| स्मार्ट पोषण विलेज की समीक्षा 20 अगस्त को || 20 अगस्त को ली जायेगी सद्भावना दिवस पर शपथ || समय सीमा के प्रकरणों की समीक्षा बैठक सोमवार को || 20 अगस्त से 30 सितम्बर तक 28 हजार यात्री करेंगे तीर्थ दर्शन || 11 सितम्‍बर तक चलेगा खरीफ विपणन पंजीयन || श्रमिकों के बच्चों के लिए शिक्षा हेतु वित्तीय सहायता योजना || सौभाग्य योजना में मुफ्त बिजली कनेक्शन लें || बेरोजगार युवक जिला अन्त्यावसायी केन्‍द्र से सम्‍पर्क कर उघोग स्‍थापित करें || मुख्यमंत्री कृषक उद्यमी योजना का लाभ लेने के लिये करे आवेदन || धातु की सीलो के लिए निविदा आमंत्रित
अन्य ख़बरें
चेटीखेडा बांध से विस्थापित होने वालो के लिए देखी जमीन
कलेक्टर एवं जल संसाधन विभाग के अधिकारियों ने लिया जायजा
श्योपुर | 24-नवम्बर-2017
 
   
  
   विजयपुर विकासखण्ड में कुवारी नदी पर चेटीखेडा में प्रस्तावित बांध से विस्थापित होने वाले परिवारो को कृषि भूमि उपलब्ध कराने के लिए कलेक्टर श्री पीएल सोलंकी सहित जल संसाधन, कृषि विभाग के अधिकारियों द्वारा पिपरवास ग्राम के पास भूमि का अवलोकन किया गया। इस अवसर पर एसडीएम विजयपुर श्री एनआर गौड, कार्यपालन यंत्री जल संसाधन सबलगढ़ श्री रघुवीर सिंह, एसडीओ श्री आयुष दीक्षित, उपयंत्री श्री डीके गुप्ता, उपसंचालक कृषि श्री पी गुजरे, जिला महिला बाल विकास अधिकारी श्री रतन सिंह गुडिया, तहसीलदार श्री भरत कुमार सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।
   चेटीखेडा में प्रस्तावित बांध से विस्थापित होने वाले एससी, एसटी परिवारो को भूमि के बदले भूमि दी जाना है। इसके लिए 570 हेक्टेयर भूमि की आवश्यकता होगी। पिपरवास क्षेत्र में शासकीय काबिल कास्त भूमि 770 हेक्टेयर भूमि उपलब्ध है। जिसे विस्थापितो को दिये जाने का प्रस्ताव तैयार किया जायेगा। पिपरवास क्षेत्र में झिलमिल नाले पर छोटा बांध बनाकर विस्थापितो की भूमि पर सिंचाई की सुविधा उपलब्ध कराई जायेगी। झिलमिल नाला क्षेत्र भी चेटीखेडा बांध के कैच मेन्ट क्षेत्र में शामिल है। चेटीखेडा बांध से 5 गांव अर्रादे, अगरा, दोहरदे, रनसिंहपुरा एवं देहरी आंशिक रूप से एवं दो गांव चेटीखेडा एवं शाहपुरा खुर्द पूर्ण रूप से प्रभावित होंगे। 1264 परिवारो का विस्थापन कर पुनर्वास किया जायेगा। 4200 मीटर की लम्बाई वाले बांध का कैचमेन्ट एरिया 481.25 वर्ग किलोमीटर रहेगा। इसकी भराव क्षमता 61.05 एमसीएम रहेगी। 400 करोड की लागत से बनने वाले इस बांध से 9 हजार 200 हेक्टेयर भूमि सिंचित होगी तथा श्योपुर जिले के 29 एवं मुरैना जिले के 7 गांव के लोगो को इससे लाभ प्राप्त होगा।
   कलेक्टर श्री सोलंकी द्वारा राजस्व, कृषि एवं जल संसाधन विभाग के अधिकारियों के साथ स्थल निरीक्षण किया गया तथा इस संबंध में ग्रामीणो से चर्चा की गई।  
(268 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
जुलाईअगस्त 2018सितम्बर
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
303112345
6789101112
13141516171819
20212223242526
272829303112
3456789

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer