समाचार
|| संबल मेला एवं स्वरोजगार मेला में संबंधित विभागों के अधिकारी तत्परता पूर्वक अपेक्षित परिणाम लायें || सीएम हेल्प लाईन, लोकसेवा गारंटी, प्रशासनिक प्रकोष्ठ तथा वरिष्ठ कार्यालयों से प्राप्त पत्रों का निराकरण नहीं करने पर अधिकारियों पर होगी कार्यवाही || समाधान एक दिन, आय व मूल निवासी प्रमाण पत्र हाथों हाथ पाकर बहुत खुश हुए घीसालाल "सफलता की कहानी" || 28 जुलाई तक पटवारी पद के लिए आदिम जनजाति के आवेदन भरे जायेंगे || स्वच्छ भारत मिशन शहडोल की पहल || समाधान एक दिन, हाथों हाथ आय प्रमाण पत्र पाकर बहुत खुश हुई खुशबू "सफलता की कहानी" || सुदामा प्री मैट्रिक छात्रवृत्ति योजना || उर्दू में 90 प्रतिशत से अधिक अंक लाने वाले विद्यार्थियों को मिलेगा पुरस्कार || दिव्यांगजन अधिकार अधिनियम में 21 प्रकार की दिव्यांगताएं शामिल || ऑनलाइन प्रवेश प्रक्रिया में महाविद्यालयों को सीट/पाठ्यक्रम अद्यतन के निर्देश
अन्य ख़बरें
स्माईल वेन से कुपोषित बच्चों का हो रहा उपचार
नई दिल्ली से आये डाक्टर द्वारा की गई स्माईल वेन की सराहना
होशंगाबाद | 06-दिसम्बर-2017
 
  
   आज विकासखंड केसला के ग्राम मोरपानी एवं मरयापुरा में कुपोषित बच्चों का मौके पर इलाज करने हेतु गांव-गांव चलाई जा रही स्माईल वेन के चिकित्साकीय दल डॉ.आर.के.चौधरी शिशु रोग विशेषज्ञ एवं सहयोगी स्टॉफ द्वारा 20 बच्चों का स्वास्थ्य परीक्षण एवं उपचार किया गया।
   डॉ.ए.के.रावत, कार्यक्रम समन्वयक कलावती सरन अस्पताल नई दिल्ली, श्री मनोज चौहान संभागीय यूनिसेफ समन्वयक द्वारा केसला विकासखंड केसला में चलाये जा रहे सीसेम पायलेट प्रोजेक्ट के तहत आंगनबाडी केन्द्र मरयापुरा एवं मोरपानी का भ्रमण किया साथ ही स्माईल वेन की गतिविधियों का अवलोकन किया गया। डॉ रावत द्वार जिले में स्माईल वेन के माध्यम से चिकित्सकीय दल द्वारा किये जा रहे बच्चों के स्वास्थ्य परीक्षण व कुपोषित बच्चों के चिन्हांकन कार्य की सराहना की गई।
   विकासखंड केसला में 4 दिसंबर 2017 से स्माईल वेन द्वारा ग्रामों में भ्रमण किया जा रहा है जिसमें वजन के अनुसार उंचाई मापदंड के आधार पर अभी तक 14 कुपोषित बच्चो का चिन्हांकन कर उपचारित किया गया है। उक्त स्माईल वेन द्वारा 12 दिसंबर 2017 तक केसला विकासखंड में भ्रमण किया जायेगा जिससे चिकित्सकीय दल के सहयोग से ग्रामों में नये कुपोषित बच्चों का चिन्हांकन हो सकेगा।
   स्माईल वेन द्वारा परियोजना होशंगाबाद ग्रामीण के संपूर्ण क्षेत्र का भ्रमण कर कुल 218 बच्चो का स्वास्थ्य परीक्षण एवं उपचार किया जा चुका है तथा अभिभावकों की काउंसलिंग भी की जा रही है। स्माईल वेन में डॉ ए.के.शिवानी, डॉ.आर.के.चौधरी, डॉ.यू.के.शुक्ला, आर.बी.एस.के चिकित्सक, सहयोगी चिकित्सकीय स्टॉफ तथा अटल बाल पालकों का भरपूर सहयोग प्राप्त हो रहा है।
   इस अवसर पर श्री योगेश घाघरे परियोजना अधिकारी आईसीडीएस केसला, श्रीमती मंजूलता लवानिया पर्यवेक्षक, एएनएम, आंगनबाड़ी कार्यकर्ता, बच्चों की माताएं व गर्भवती महिलाएं उपस्थित रहीं।
(229 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
जूनजुलाई 2018अगस्त
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
2526272829301
2345678
9101112131415
16171819202122
23242526272829
303112345

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer