समाचार
|| ग्रामीण क्षेत्रों में 806 करोड़ के 217 पुलों का निर्माण कार्य पूर्ण || सामूहिक योग कार्यक्रम में मंत्रीगण भी भागीदारी दर्ज करायेंगे || गौ-संरक्षण के लिये गौ-शालाओं को 17 रुपये प्रति गाय अनुदान दिया जायेगा || दुर्घटना से विकृत हुये हाथ की समस्‍या से प्रियंका ने पाई मुक्ति (सफलता की कहानी) || परिवहन और भण्डारण कार्य में लापरवाही बर्दाश्त नहीं- कलेक्टर डॉ. जे विजय कुमार || कलेक्टर डॉ. कुमार ने सुनी ग्रामीणों की बुनियादी समस्याएं || श्रमिक वर्ग की प्रसूता को मिलेगी 16 हजार की राशि || मध्यप्रदेश राज्य खाद्य आयोग का दो दिवसीय भ्रमण कार्यक्रम || अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस पर 21 को वित्तमंत्री श्री मलैया होंगे मुख्य अतिथि || ग्रामों का भ्रमण कर संभागायुक्त श्री आशुतोष अवस्‍थी ने जानी योजनाओं की मैदानी स्थिति
अन्य ख़बरें
सालरिया गो-अभ्यारण्य में गायों की देखरेख एवं सुरक्षा के समुचित इंतजाम
विभागीय अमला निरन्तर कर रहा है देखभाल
आगर-मालवा | 31-दिसम्बर-2017
 
   
    जिले के सुसनेर क्षेत्र में स्थित सालरिया गो अभ्यारण्य में गायों की देख-रेख एवं सुरक्षा के समुचित इंतजाम किए जा रहे हैं। गायों के भोजन, शेड, चिकित्सा, उन्हें चराने, स्वच्छ जल, साफ-सफाई रौशनी आदि के सभी इंतजाम वहां पर पशु चिकित्सा विभाग के अमले द्वारा किए जा रहे हैं। समूचे कार्य के प्रभारी उप संचालक पशु चिकित्सा हैं। गो-अभ्यारण्य में पशु चिकित्सा विभाग के 01 उप संचालक सहित 03 पशु चिकित्सक तथा 06 सहायक पशु चिकित्सा अधिकारी वहां निरन्तर तैनात हैं। साथ ही गायों की देखभाल के कार्य के लिए 114 मजदूर वहां ठेकेदार द्वारा लगाए गए हैं, जो कि दिन-रात गायों की देखरेख करते हैं।
वर्तमान में 4309 गायें
    गो-अभ्यारण्य में वर्तमान में 4309 गायें हैं, जबकि गो-अभ्यारण्य में 6000 गायों को रखने की व्यवस्था है। इसके लिए कुल 24 शेड बनाए गए हैं, प्रत्येक शेड की क्षमता 250 पशुओं की है। इनमें समुचित रौशनी, पेयजल, चारा-खली, साफ-सफाई आदि की व्यवस्था है।
सोलर लाइट एवं सोलर पम्प
   रौशनी का व्यवधान न हो इसके लिए गो-अभ्यारण्य में स्थान-स्थान पर सोलर लाईट लगाई गई है। इसी के साथ वहां पानी की नियमित आपूर्ति के लिए 04 सोलर पम्प लगाए गए हैं, जो कि बोरिंग से पानी खींच कर शेड तक पहुँचाते हैं। निकलने वाले गोबर से वहां एक 10 किलोवॉट क्षमता का गोबर गैस प्लांट भी लगाया गया है।
वरिष्ठ अधिकारियों ने किया दौरा
    गो-अभ्यारण्य की व्यवस्थाओं को चुस्त-दुरुस्त करने के लिए कलेक्टर श्री अजय गुप्ता सहित पशु चिकित्सा विभाग के वरिष्ठ अधिकारियों एवं वैज्ञानिकों ने दौरा किया तथा बेहतरी के निर्देश दिए। पशु चिकित्सा संचालक श्री आर.के.रोकड़े, पशु चिकित्सा एवं पशु पालन महाविद्यालय महू के डीन डॉ. हेमन्त मेहता तथा पशु वैज्ञानिकों के दल, संयुक्त संचालक पशु चिकित्सा डॉ. एन. के. बामनिया आदि ने गो-अभ्यारण्य का दौरा किया तथा गायों  की व्यवस्था के संबंध में निर्देश तथा आवश्यक सलाह दी। गायों को ठण्ड से बचाने के उपाय भी करने के निर्देश दिए।  
भूसा प्रदाय एजेन्सी का अनुबंध निरस्त    
    गो-अभ्यारण्य में गायों की मृत्यु के परिप्रेक्ष्य में कलेक्टर श्री अजय गुप्ता द्वारा सुसनेर स्थित सालरिया गो-अभ्यारण्य में गायों के लिए भूसा प्रदाय किए जाने हेतु अनुबंधित संस्कार एजेन्सी सुसनेर का शर्तों का पालन नहीं करने के कारण अनुबंध निरस्त कर दिया गया है। सुसनेर स्थित सालरिया गो-अभ्यारण्य में वर्ष 2017-18 के लिए भूसा प्रदाय करने के लिए “संस्कार एजेन्सी सुसनेर” को अनुबंधित किया था। एजेन्सी द्वारा अनुबंध के अनुरुप उच्च गुणवत्तापूर्ण भूसा प्रदाय नहीं किए जाने, भूसे में सोयाबीन/रायडे इत्यादि का मिश्रण किए जाने तथा अनुबंध की शर्तों का पालन नहीं करने पर “संस्कार एजेन्सी” का अनुबंध उप संचालक गो-अभ्यारण्य सालरिया के प्रतिवेदन पर निरस्त किया गया है। साथ ही कलेक्टर ने उप संचालक गो-अभ्यारण्य सालरिया को निर्देशित किया है कि गो-अभ्यारण्य में भूसे की उपलब्धता हेतु वैकल्पिक व्यवस्था सुनिश्चित करें तथा भूसे की सप्लाई निरन्तर रखने हेतु लघु निविदा आमंत्रित करें।
तीन सदस्यीय जांच दल गठित    
    सुसनेर स्थित सालरिया गो-अभ्यारण्य हेतु संबंधित ठेकेदार द्वारा खराब भूसा सप्लाई किया जाने एवं गो वंश की मृत्यु के संबंध में कलेक्टर श्री अजय गुप्ता ने वस्तुस्थिति की जांच हेतु अपर कलेक्टर श्री एन.एस. राजावत की अध्यक्षता में 3 सदस्यीय जांच दल गठित किया है। दल में अनुविभागीय अधिकारी राजस्व सुसनेर-नलखेड़ा व प्रबंधक पशु प्रजनन क्षेत्र आगर श्री एम.एस. पटेल सदस्य के रुप में रहेंगे। कलेक्टर ने जांच दल को भूसे की गुणवत्ता, गो-अभ्यारण्य में हो रही गो-वंश की असामयिक मृत्यु के कारणों को जानने, गो-अभ्यारण्य में नियुक्त अधिकारी-कर्मचारी का गो-अभ्यारण्य मुख्यालय पर निवासरत रहना, गो-अभ्यारण्य के प्रबंधन में शिथिलता, गो-वंश को ठण्ड के प्रकोप से बचाने के लिए गो-अभ्यारण्य में किए प्रबंध इत्यादि सुसंगत बिन्दुओं पर विस्तार से जांच कर प्रतिवेदन 07 दिवस में कार्यालय कलेक्टर में प्रस्तुत करने के निर्देश दिए हैं। इस संबंध में सामाजिक संस्था/ निकाय/ संगठन/ आमजन 03 जनवरी 218 तक कार्यालयीन समय 10.30 से 5.30 बजे के मध्य कार्यालय अपर कलेक्टर के समक्ष उपस्थित होकर अपना पक्ष रख सकते हैं।    
(171 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
मईजून 2018जुलाई
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
28293031123
45678910
11121314151617
18192021222324
2526272829301
2345678

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer