समाचार
|| पिछड़ा वर्ग की योजनाओं में हितग्राहियों को लाभान्वित करें - श्री राधेलाल बघेल || राज्य खाद्य आयोग अध्यक्ष श्री स्वाई ने पात्रता अनुसार राशन पर्ची बनवाने,समय पर खाद्य सामग्री उपलब्ध कराने दिये निर्देश || आयुष मिशन के तहत सामूहिक योगाभ्यास हुआ || करें योग रहे निरोग - मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्र || ग्रीष्मकालीन मूंग की खरीदी होगी || प्रधानमंत्री के किसानों से सीधे संवाद कार्यक्रम का प्रसारण हुआ || पेयजल टेंकर एवं सीसी रोड निर्माण के लिये 10 लाख 20 हजार रूपये की राशि स्वीकृत || पोस्ट मैट्रिक छात्रवृत्ति की आय सीमा में वृद्धि || ऊर्जा मंत्री श्री जैन ने टॉवर चौक में नवनिर्मित भारत स्काउट गाइड सांस्कृतिक भवन का अवलोकन किया || पथरिया में 13 मिली मीटर वर्षा दर्ज
अन्य ख़बरें
ग्राम बेला से टीकमगढ़ जिले में हुआ प्रवेश "एकात्म यात्रा"
जिला पंचायत अध्यक्ष ने की अगवानी, ग्राम बन्ने बुजुर्ग में हुआ संवाद जगह-जगह हुआ भव्य स्वागत्
टीकमगढ़ | 01-जनवरी-2018
 
   मध्यप्रदेश सरकार द्वारा आदि गुरू शंकराचार्य के अप्रतिम दर्शन और जीवन के पावन स्मरण स्वरूप 19 दिसम्बर 2017 से 21 जनवरी 2018 के दौरान एकात्म यात्रा का आयोजन किया जा रहा है। स्वामी श्री अखिलेश्वरानंद गिरि जी एवं संतों के मार्गदर्शन में एकात्म यात्रा आज प्रातः छतरपुर से टीकमगढ़ पहुंची। इस यात्रा का पलेरा जनपद के ग्राम बेला से जिले में प्रवेश हुआ। प्रवेश अवसर पर छतरपुर जिले के कलेक्टर एवं आयोजन समिति के सदस्यों से टीकमगढ़ जिले के जिला पंचायत अध्यक्ष श्री पर्वतलाल अहिरवार, जिला योजना समिति सदस्य श्री अभय प्रताप सिंह यादव, कलेक्टर श्री अभिजीत अग्रवाल एवं आयोजन समिति के सदस्यों ने पादुका लेकर अगवानी की। इस अवसर पर उपस्थित जनप्रतिनिधियों, विधायक खरगापुर विधानसभा क्षेत्र श्रीमती चंदा रानी गौर, जिला सहकारी बैंक टीकमगढ़ के पूर्व अध्यक्ष श्री विवेक चतुर्वेदी, श्री सुनील खटीक, जनपद जतारा अध्यक्ष, जिला समन्वयक जन अभियान परिषद श्रीमती लक्ष्मी शुक्ला, जनपद सीईओ श्री एमएस सैयाम, तहसीलदार श्री आरपी प्रजापति, ग्राम विकास प्रस्फुटन समिति सदस्य, स्थानीय जनप्रतिनिधियों, सीएमसीएलडीपी छात्र, एकात्म यात्रा आयोजन समिति के सदस्य तथा ग्रामीण जन बड़ी संख्या में उपस्थित रहे।   
ग्राम बन्ने बुजुर्ग में हुआ संवाद
   ग्राम बेला से आलमपुरा होते हुये एकात्म यात्रा ग्राम बन्ने बुजुर्ग पहुंची। यात्रा के मार्ग में ग्रामीणजनों ने जगह-जगह पर यात्रा का स्वागत् किया। ग्राम बन्नेबुजुर्ग में माध्यमिक शाला के विशाल प्रांगण में संवाद का आयोजन किया गया। प्रारंभ में कन्या पूजन एवं पादुका पूजन किया गया। इसके पश्चात स्वामी श्री अखिलेश्वरानंद जी, जिनके मार्गदर्शन में यात्रा चल रही है, आदि गुरू श्री शंकराचार्य के अप्रतिम दर्शन एवं जीवन के पावन स्मरण का वर्णन किया। उन्होंने बताया कि देश आध्यत्मिक एवं बैचारिक एकता के सूत्र में बांधने का कार्य आदि गुरू ने किया। इस दौरान उपस्थित विशाल जनसमूह को संपूर्ण जगत को एकता में जोड़ने की शपथ दिखाई गई।  
 
  श्री अखिलेश्वरानंद जी एवं संतों के मार्गदर्शन में आई इस यात्रा का हर स्थान पर भव्य स्वागत् किया गया। संवाद कार्यक्रम में श्री अखिलेश्वरानंद जी ने सभी का आव्हान किया कि वे देश को एकता के सूत्र में पिरोकर विकास की ऊँचाईयों पर ले जायेंगे। कार्यक्रम में म.प्र. खनिज विकास निगम के अध्यक्ष उवं यात्रा के समन्वयक श्री शिव चौबे, प्रदेश आयोजन समिति सदस्य श्री सुल्तान सिंह शेखावत, जिला पंचायत अध्यक्ष श्री पर्वतलाल अहिरवार, जिला योजना समिति सदस्य श्री अभय प्रताप सिंह यादव, विधायक खरगापुर विधानसभा क्षेत्र श्रीमती चंदा रानी गौर, जिला सहकारी बैंक टीकमगढ़ के पूर्व अध्यक्ष श्री विवेक चतुर्वेदी, कलेक्टर श्री अभिजीत अग्रवाल, एसपी श्री कुमार प्रतीक, श्री सुनील खटीक, जनपद जतारा अध्यक्ष, जिला समन्वयक जन अभियान परिषद श्रीमती लक्ष्मी शुक्ला, जनपद सीईओ श्री एमएस सैयाम, तहसीलदार श्री आरपी प्रजापति, ग्राम विकास प्रस्फुटन समिति सदस्य, स्थानीय जनप्रतिनिधियों, सीएमसीएलडीपी छात्र, एकात्म यात्रा आयोजन समिति के सदस्य तथा ग्रामीण जन बड़ी संख्या में उपस्थित रहे।
   ज्ञातव्य है कि मध्यप्रदेश सरकार द्वारा आदि गुरू शंकराचार्य के अप्रतिम दर्शन और जीवन के पावन स्मरण स्वरूप 19 दिसम्बर 2017 से 21 जनवरी 2018 के दौरान एकात्म यात्रा का आयोजन किया जा रहा है। यात्रा का उद्देश्य अद्धैत वेदांत दर्शन में प्रतिपादित जीव, जगत एवं जगदीश के एकात्म बोध के प्रति जन-जागरण, आदि गुरू के अतुलनीय योगदान के बारे में जन-जागरण तथा ओंकारेश्वर में शंकराचार्य की प्रतिमा की स्थापना के लिये धातु संग्रहण और ओंकारेश्वर को विश्व स्तरीय वेदांत दर्शन केन्द्र के रूप में विकसित करना है। पैंतीस दिवसीय इस यात्रा में 140 जन-संवाद होंगे। यह एकात्म यात्रा आदि गुरू शंकराचार्य से संबंधित प्रदेश के चार स्थानों ओंकारेश्वर, उज्जैन, पचमठा (रीवा) एवं अमरकंटक से 19 दिसम्बर को प्रारंभ होकर 21 जनवरी को ओंकारेश्वर में एकत्र होगी। प्रदेश के सभी 51 जिले इन यात्राओं में से किसी एक के द्वारा लाभान्वित होंगे। पैंतीस दिवसीय इस यात्रा में प्रतिदिन आदि शंकाराचार्य के जीवन और कृतित्व पर एक कार्यक्रम होगा और अष्टधातु की प्रतिमा निर्माण के लिये समाज के सभी वर्गो से प्रतीक स्वरूप धातु संग्रहण किया जायेगा। संग्रहीत धातु से ओंकारेश्वर में 108 फीट ऊँची आदि गुरू शंकराचार्य की विशाल धातु प्रतिमा स्थापित की जायेगी, जिसका भूमि-पूजन 22 जनवरी 2018 को होगा। इसके पहले इसी साल 9 फरवरी को ओंकारेश्वर में राज्य शासन ने एक आयोजन के जरिये आदि शंकराचार्य का पावन स्मरण किया था। आदि शंकराचार्य का प्रकटोत्सव एक मई 2017 को प्रदेश के सभी जिलों में किया जाकर उनके अप्रतिम अवदानों का स्मरण किया गया।
(171 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
मईजून 2018जुलाई
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
28293031123
45678910
11121314151617
18192021222324
2526272829301
2345678

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer