समाचार
|| विकासखण्ड स्तरीय अधिकारी-कर्मचारी नियुक्त || जिला स्तरीय दल का गठन || कृषि यंत्रों के लिए ऑनलाइन आवेदन करें || किसान कल्याण तथा कृषि विकास विभाग में निविदा आमंत्रित || जुलाई से अक्टूबर तक होंगी जनजातीय विद्यालयों की खेल प्रतियोगिताएँ || 6 वर्ष से 18 वर्ष तक के बालक/बालिकाओं की बहादुरी के करनामों की दे जानकारी || एनसीटीई के पाठ्यक्रमों के लिये इस वर्ष एम.पी. ऑनलाइन से होगा प्रवेश || मध्यप्रदेश आनंद विवाह रजिस्ट्रीकरण नियम-2018 प्रकाशित || प्रधानमंत्री फसल बीमा करवाना ऋणी कृषकों के लिए अनिवार्य || एम.बी.ए. एम.सी.ए. और बी.एच.एम.सी.टी. के काउंसलिंग का कार्यक्रम जारी
अन्य ख़बरें
आंगनवाड़ियों के रिक्त पदों पर तत्काल करायें नई भर्ती- कमिश्नर श्री अवस्थी
कमिश्नर श्री अवस्थी ने की प्रमुख विभागों की पाक्षिक समीक्षा
सागर | 01-जनवरी-2018
 
  
   कमिश्नर श्री आशुतोष अवस्थी ने कहा कि संभाग के सभी जिलों में आंगनवाड़ी केन्द्रों में आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं व सहायिकाओं की रिक्त पदों पर तत्काल नई भर्ती करायें। सांझा चूल्हा व्यवस्थित रूप से संचालित हो व टेक होम राशन (टीएचआर) का शत-प्रतिशत वितरण सुनिश्चित किया जाये। निर्माणाधीन आंगनवाड़ी भवनों का निर्माण कार्य तेजी से पूरा कर लिया जाये। आंगनबाड़ी केन्द्रों का रंगरोगन करायें और टेक होम राशन स्टॉक का भौतिक सत्यापन भी करायें। कमिश्नर श्री अवस्थी माह के प्रथम सोमवार की शाम प्रमुख विभागों की पाक्षिक समीक्षा बैठक ले रहे थे। बैठक में आपने क्रमशः सामाजिक न्याय, महिला एवं बाल विकास,एवं जनजातीय कार्य विभाग की पाक्षिक समीक्षा की। बैठक में संयुक्त आयुक्त (विकास) डॉ. राजेश राय सहित इन सभी विभागों के संयुक्त संचालक मौजूद थे।
   कमिश्नर श्री अवस्थी ने कहा कि संभाग के हर जिले में हर कुपोषित बच्चे के घर सहित हर आंगनवाड़ी केन्द्रों में ही मुनगे के पौधरोपण करायें। मुनगे का बीज सभी आंगनवाड़ी केन्द्रों को जल्द से जल्द उपलब्ध करा दिया जाये। आंगनवाड़ी केन्द्रों के निर्माण में तेजी लाने के लिए कमिश्नर श्री अवस्थी ने संयुक्त संचालक महिला बाल विकास श्रीमती ऊईके को कलेक्टर छतरपुर की ओर डीओ लेटर भिजवाने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि कुपोषण निवारण के लिए सभी जिलों में पोषण पुर्नवास केन्द्रों (एनआरसी) में बच्चों को समुचित उपचार और उनकी माताओं का कुपोषण से बचाव हेतु समुचित मार्गदर्शन दिया जाये। रसोईयों को समय पर भुगतान हो। विभागीय योजनाओं की माइक्रो लेवल पर मॉनीटरिंग की जायें। कमिश्नर ने कहा कि जिन जिलों में नये आंगनवाड़ी केन्द्रों के भवन निर्माण हेतु राशि प्राप्त हो चुकी है, ऐसे आंगनवाड़ी केन्द्रों का निर्माण कार्य तत्काल प्रारम्भ कर दिया जाये।  
विभागीय छात्रावासों को सुन्दर बनायें
   कमिश्नर श्री अवस्थी ने जनजातीय कार्य एवं अनुसूचित जाति विकास विभाग के संभागीय उपायुक्त श्री मरावी को निर्देशित किया कि वे अपने सभी विभागीय छात्रावासों को और अधिक सुन्दर बनायें। जिलों का अधिक से अधिक दौरा करें, जब भी जिलों में जायें, कलेक्टर्स से जरूर मिलें। समस्याओं पर बात करें और उनके निदान के लिये फौरी कार्यवाही करे। कमिश्नर श्री अवस्थी ने बस्ती विकास और मजरे टोलो का विद्युतिकरण/पंपो का उर्जीकरण मामले में दमोह, पन्ना और छतरपुर जिले में अपेक्षित प्रगति न मिलने पर इन जिलों के कलेक्टर्स को डीओ लेटर भिजवाने के निर्देश दिये। इसी प्रकार पोस्ट मैट्रिक छात्रवृत्ति योजना में शत-प्रतिशत विद्यार्थियों को छात्रवृत्ति वितरण सुनिश्चित करने के निर्देश दिये। बैठक में जनजातीय कार्य एवं अनुसूचित जाति विकास विभाग के विभिन्न बिन्दुओं पर समीक्षा उपरान्त कमिश्नर श्री अवस्थी ने संभागीय उपायुक्त से कहा कि 10 जनवरी से पहले संभाग के संभी जिलों के जिला संयोजकों की बैठक आहूत करें। बैठक में वे स्वंय (कमिश्नर) सभी जिला संयोजकों से रूबरू होकर शासन की सभी योजनाओं की प्रगति की जानकारी लेंगे। श्री अवस्थी ने लगभग प्रत्येक मामले में कमजोर प्रदर्शन करने वाले जिला संयोजक छतरपुर को कार्य सुधार की अंतिम चेतावनी देने के निर्देश संभागीय उपायुक्त को दिये। उन्होंने कहा कि संभाग के सभी जिलों में विभागीय छात्रावासों में संख्या, स्वीकृत सीट्स संख्या, रिक्त सीट्स और विद्यार्थियों की उपस्थिति आदि जानकारियों का एक रेडी रेकनर तैयार करने निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि संभागीय अधिकारी समय-समय पर छात्रावासों का औचक निरीक्षण करते रहे और इन निरीक्षण पाये गए तथ्यों व जानकारियों का प्रतिवेदन भी दें। श्रम विभाग की समीक्षा में कमिश्नर ने विभागाधिकारी को उनके विभाग की सभी योजनाओं में योजना प्रारम्भ से अब तक की प्रगति की अपडेट जानकारी तैयार करने के निर्देश दिए।
पाक्षिक समीक्षा का रोस्टर
   कमिश्नर श्री अवस्थी ने कहा कि हर पखवाड़े में सभी विभागों की माइक्रो लेवल पर समीक्षा की जायेगी। उन्होंने बताया कि प्रतिमाह प्रथम एवं तृतीय सोमवार को शाम 5 बजे से महिला एवं बाल विकास, महिला सशक्तिकरण, जनजातीय कार्य एवं अनुसूचित जाति विकास विभाग, सामाजिक न्याय तथा श्रम विभाग की समीक्षा की जायेंगी। द्वितीय एवं चतुर्थ सोमवार को शाम 5 बजे से लोक निर्माण विभाग, ग्रामीण यांत्रिकी सेवा, जल संसाधन, लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी एवं मध्यप्रदेश राज्य पूर्वी क्षेत्र विद्युत वितरण की समीक्षा की जायेगी। द्वितीय एवं चतुर्थ मंगलवार को शाम 5 बजे से नगरीय प्रशासन, प्रदूषण नियंत्रण, नगर एवं ग्राम निवेष, उद्योग एवं खनिज, स्कूल शिक्षा, स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण तथा आबकारी विभाग की समीक्षा की जायेगी। इसी तरह प्रतिमाह प्रथम एवं तृतीय बुधवार को शाम 5 बजे से कृषि, सहकारिता, नागरिक आपूर्ति निगम, खाद्य, मंडी, उद्यानिकी, मत्स्य, पशु चिकित्सा सेवाएं, बुन्देलखण्ड दुग्धसंघ एवं एम.पी. एग्रो विभाग की समीक्षा की जायेगी।
(174 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
मईजून 2018जुलाई
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
28293031123
45678910
11121314151617
18192021222324
2526272829301
2345678

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer