समाचार
|| ब्यौहारी नगर वासियों की वर्षों पुरानी ख्वाहिस हुई पूरी (सफलता की कहानी) || "ठहाकों के साथ याद किया पं.ओम व्यास को" || अधिक से अधिक हितग्राही लोक अदालत के माध्यम से प्रकरणों का निराकरण करायें : जिला न्यायाधीश || नि:शुल्क परीक्षा पूर्व प्रशिक्षण हेतु अजा/अजजा उम्मीदवारों से आवेदन 25 जून तक आमंत्रित || नशीले पदार्थों के दुरूपयोग और अवैध व्यापार के विरूद्ध अंतर्राष्ट्रीय दिवस 26 जून को || कमिश्नर श्री दुबे 28 जून को पलेरा आयेंगे || मुख्यमंत्री तीर्थ दर्शन यात्रा के तहत जगन्नाथपुरी यात्रा 29 को || समाज में झूठ, भ्रम, निराशा फैलाने वालों की कोई जगह नहीं - प्रधानमंत्री श्री मोदी || सीपी ग्राम पोर्टल पर शिकायत दर्ज करने की प्रक्रिया में संशोधन हुआ || प्रदेश में योग स्वास्थ्य केन्द्र योजना का शुभारंभ
अन्य ख़बरें
जल संरक्षण पर मीडिया संवाद कार्यशाला सम्पन्न
-
आगर-मालवा | 13-मार्च-2018
 
 
   जल के बिना जीवन की कल्पना नहीं की जा सकती है। वर्तमान में छोटी-छोटी जलसंरचानाओं का जीर्णोद्धार करवाना जरूरी है। आज इस क्षैत्र में महत्वपूर्ण कदम न उठाए गए तो, भविष्य में आम लोगों को पीने और खाना बनाने के साथ ही रोजमर्रा के कार्यों को पूरा करने के लिये जरूरी पानी के लिये लंबी दूरी तय करना पडेगी। यह बात आज भोपाल के वरिष्ठ पत्रकार श्री प्रभु पटेरिया ने जनसम्पर्क संचालनालय के निर्देशानुसार जिला जनसम्पर्क कार्यालय के तत्वावधान में स्थानीय अफ्रिका गोल्ड रेस्टोरेंट में जल संरक्षण विषय पर आयोजित मीडिया संवाद कार्यक्रम के दौरान उपस्थित पत्रकारबन्धुओं को सम्बोधित करते हुए कही। उन्होंने आगे कहा कि देश के कुछ क्षैत्रों में पीने के लिये भी पर्याप्त पानी उपलब्ध नहीं हो पाता हैं, वहीं दूसरी ओर, पर्याप्त जल के क्षेत्रों में अपने दैनिक जरुरतों से ज्यादा पानी लोग बर्बाद कर रहें हैं। हम सभी को जल के महत्व और भविष्य में जल की कमी से संबंधित समस्याओं को समझना चाहिये। कार्यशाला में प्रिन्ट एवं इलेक्ट्रॉनिक मीडिया के जिला ब्यूरो प्रमुख एवं पत्रकारगण मौजूद थे।
   मीडिया संवाद कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए भोपाल के वरिष्ठ पत्रकार श्री प्रकाश भटनागर ने जल संरक्षण विषय पर विस्तार से प्रकाश डालते हुए कहा कि हमें अपने जीवन में उपयोगी जल को बर्बाद और प्रदूषित नहीं करना चाहिये। प्रकृति के द्वारा दिया गया जल एक अनमोल उपहार है। जल की वजह से ही धरती पर जीवन संभव है। हमें जीवन के सभी कार्यों को निष्पादित करने के लिये जल की आवश्यकता है। बिना इसको प्रदूषित किये भविष्य की पीढ़ी के लिये जल की उचित आपूर्ति के लिये हमें पानी को बचाने की जरुरत है। हमें पानी की बर्बादी को रोकना चाहिये। उन्होने उपस्थित पत्रकारबन्धुओं से कहा कि जल संरक्षण और बचाने संबंधी लेख समाचारों पत्रों में प्राथमिकता के साथ प्रकाशित कर आम लोगों को जागरूक कर इसे  बढ़ावा देना चाहिये।
   जिला जनसम्पर्क कार्यालय आगर मालवा द्वारा आयोजित इस कार्यशाला में वरिष्ठ पत्रकार श्री बसंत गुप्ता ने कहा कि जल संरक्षण एक गंभीर एवं महत्वपूर्ण विषय है। आज के समय में जल संरचना जमीन से दिनों दिन बदलती हुई नजर आ रही है। इस बदलाव को रोकने के लिये सिर्फ जनप्रतिनिधि व प्रशासन ही नही बल्कि हम सबको सामूहिक प्रयास करने पर जोर दिया एवं जल संरक्षण को महत्व को विस्तार पूर्वक बताया। इसी तरह श्री नजीर अहमद ने जल संरक्षण के लिये प्रभावी प्रयास करने एवं जल की बरबादी रोकने संबंधी विचार व्यक्त किए। श्री बृजमोहन शास्त्री ने पानी की उपयोगिता एवं महत्व है संबंधी अपने अनुभव व्यक्त किए। प्रेमनारायण सोनी ने कुओं, बावडियों और हमारी जल संरचनाओं का जीर्णोद्धार करने और उनका संरक्षण करने पर बल दिया। श्री अजय झंजी ने पानी का मनुष्य के जीवन में महत्व पर विस्तृत प्रकाश डाला। कार्यशाला में पत्रकार श्री गिरीश सक्सेना, श्री महेश शर्मा, श्री जफर मुल्तानी श्री महेन्द्र जैन, श्री मुकेश हरदेनिया, श्री अनिल मण्डावरा, श्री अशोक परिहार, श्री राजिक अली, श्री धर्मेन्द्र गहलोत सहित अन्य उपस्थित पत्रकारों ने भी संबोधित किया और जल संरक्षण विषय पर अपने महत्वपूर्ण सुझाव दिये।
    कार्यक्रम का शुभारम्भ अतिथियों ने मॉ सरस्वती के चित्र पर दीप प्रज्जवलित एवं माल्यार्पण कर किया। इसके पश्चात् दाधीच ने मुख्य अतिथियों का पुष्पमाला से स्वागत् किया। साथ ही  जनसम्पर्क विभाग आगर मालवा संचार सहायक गेड-3 श्री राम कुमार उइके, श्री ईश्वर मालवीय, श्री अम्बाराम पाण्डेय ने उपस्थित पत्रकारबन्धुओं का पुष्पमालाओं से स्वागत किया। जनसम्पर्क कार्यालय की ओर से कार्यशाला में उपस्थित सभी पत्रकारगणों, मीडियाकर्मियों को प्रशिक्षण किट एवं स्मृति चिन्ह प्रदान किये गये तत्पश्चात सहभोज के साथ ही कार्यशाला का समापन हुआ। कार्यक्रम का संचालन अध्यापक श्री रजनीश स्वर्णकार ने किया तथा आभार श्री दाधीच ने माना।
 
(102 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
मईजून 2018जुलाई
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
28293031123
45678910
11121314151617
18192021222324
2526272829301
2345678

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer