समाचार
|| फसल बीमा के लंबित प्रकरणों का करें शीघ्र निराकरण - कलेक्टर || विकासखण्ड स्तरीय अधिकारी-कर्मचारी नियुक्त || जिला स्तरीय दल का गठन || कृषि यंत्रों के लिए ऑनलाइन आवेदन करें || किसान कल्याण तथा कृषि विकास विभाग में निविदा आमंत्रित || जुलाई से अक्टूबर तक होंगी जनजातीय विद्यालयों की खेल प्रतियोगिताएँ || 6 वर्ष से 18 वर्ष तक के बालक/बालिकाओं की बहादुरी के करनामों की दे जानकारी || एनसीटीई के पाठ्यक्रमों के लिये इस वर्ष एम.पी. ऑनलाइन से होगा प्रवेश || मध्यप्रदेश आनंद विवाह रजिस्ट्रीकरण नियम-2018 प्रकाशित || प्रधानमंत्री फसल बीमा करवाना ऋणी कृषकों के लिए अनिवार्य
अन्य ख़बरें
हाथी पांव बीमारी को जड़ से समाप्त करने के लिए घर-घर खिलाई जा रही डीईसी एवं एलबेण्डाजोल
रैली के माध्यम से किया जन जागरण
उमरिया | 14-मार्च-2018
 
   
  
   जिले में फायलेरिया (हाथीपांव) से बचाव हेतु आज राष्ट्रीय फायलेरिया दिवस के अवसर पर घर-घर में एलबेण्डाजोल की गोलियां खिलाई जा रही है। फायलेरिया दिवस के अवसर पर जिला चिकित्सालय में आज लोगो को फायलेरिया रोधी एलबेण्डाजोल टेबलेट खिलाई गई,  इसके पश्चात डॉ. आर एस कानस्कार, जिला मलेरिया अधिकारी डी पी पटेल के नेतृत्व में जागरूकता रैली का आयोजन किया गया। डॉ डी पी पटेल ने बताया कि  एलबेण्डा जोल गोली चबाकर या चूसकर खाई जानी है। जिन लोगों द्वारा इस दवा का उपयोग किया जाता है उन्हें खाली पेट दवा का सेवन नही करने, दो वर्ष से कम उम्र के बच्चों, गर्भवती माताओ एवं गंभीर रूप से बीमार व्यक्तियों को दवा का सेवन वर्जित है।
   डॉ. कानस्कर ने बताया कि दवा खाने के पश्चात कभी कभी विपरित प्रभाव भी देखने को मिलते है। उनसे घबराने की जरूरत नही है, इनमे सिरदर्द, बदन दर्द, मितली, पेट दर्द एवं उल्टी होना, कभी कभी लिम्फ् ग्रंथियों में सूजन अथवा दर्द होना, जिन व्यक्तियो के शरीर में फायलेरिया कृमि होते है उनमे दवा खाने के बाद विपरित प्रभाव दिखाई पड़ सकते है। ऐसी परिस्थितियों में घबराने की जरूरत नही है, बल्कि निकटतम उप स्वास्थ्य केंद्र एवं प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र पर भेजकर निशुल्क उपचार प्राप्त किया जा सकता है। आपने बताया कि 2 से 5 वर्ष तक के बच्चो को डीईसी की एक गोली 100 एमजी तथा एलबेण्डाजोल की 400 एमजी की एक गोली, खानी चाहिए। 6 से 14 वर्ष तक के उम्र के बच्चो को दो गोली डीईसी तथा एक एलबेण्डाजोल तथा 15 वर्ष से उपर के व्यक्तियो को तीन गोली डीईसी तथा एक एलबेण्डाजोल की गोली खिलाई जाएगी।
   कलेक्टर श्री माल सिंह तथा मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. उमेश नामदेव ने बताया कि 14, 15 , 16 मार्च ये गोलियां अभियान के तौर पर खिलाई जाएगी। आपने अपील की है कि फायलेरिया से बचाव हेतु एक खुराक स्वयं खाएं तथा पडोसियों को भी गोली खाने के लिए प्रोत्साहित करें।  
   जिला मलेरिया अधिकारी डॉ. डी पी पटेल ने बताया कि खाली पेट दवा का सेवन नही करे, दो वर्ष से कम उम्र के बच्चो, गर्भवती माताओ एवं गंभीर रूप से बीमार व्यक्ति को को दवा नही दें, दवा का सेवन अपने दवा प्रदायकर्ता / स्वास्थ्य कार्यकर्ता के समक्ष ही करे। दवा खाने से सिरदर्द, बदन दर्द, मितली, पेट दर्द एवं उल्टी हो सकती है जो कुछ देर पश्चात स्वयं ही ठीक हो जाएगी।
(103 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
मईजून 2018जुलाई
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
28293031123
45678910
11121314151617
18192021222324
2526272829301
2345678

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer