समाचार
|| संबल योजना ने हसीना बी को आर्थिक चिंताओं से किया मुक्त (सफलता की कहानी) || प्रदेश में संस्कृत भाषा के विकास के लिये भरपूर प्रयास किये जायेंगे || पर्यटन क्विज के लिये प्रत्येक जिले से एक क्विज मास्टर को प्रशिक्षण || प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व अभियान क्रियान्वयन में मध्यप्रदेश सर्वश्रेष्ठ || जिला योजना समिति की बैठक 19 जुलाई को || उर्दू में 90 प्रतिशत से अधिक अंक लाने वाले विद्यार्थियों को मिलेगा पुरस्कार || सरल बिजली और बिल माफी स्कीम का लाभ संनिर्माण मण्डल के कर्मकारों को भी मिलेगा || पटवारी पद पर नियुक्ति हेतु विशेष आदिम जनजातियों से आवेदन आमंत्रित || सरल बिजली और बिजली बिल माफी स्कीम में 55 लाख से अधिक हितग्राहियों ने कराया पंजीयन || अति वर्षा में नगरीय निकाय का अमला सजग रहे
अन्य ख़बरें
राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन की टीम ने जिले के अस्पतालों का किया निरीक्षण
-
खण्डवा | 21-मार्च-2018
 
   राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन, दिल्ली के डिप्टी कमिश्नर डॉ. बंसत गुप्ता एवं डॉ.रक्षिता, कंसल्टेंट, एन.एच.आर.सी., दिल्ली द्वारा खंडवा जिले में हेल्थ एवं वैलनेस सेंटर बनाने के लिए जिले की विभिन्न स्वास्थ्य संस्थाओं का सुपरविजन किया गया। गत दिवस उप स्वास्थ्य केन्द्र आवल्या, पटाजन, खेड़ी, हिरापुर व प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द गुड़ी, सिंगोट, आशापुर, रोशनी का निरीक्षण कर इन्हें हेल्थ एवं वैलनेस सेंटर बनाने के लिये संभावनाओं का परीक्षण किया। उनके द्वारा मौजूद बिल्डींग, उपकरण, फर्नीचर, व स्टॉफ की कमी को नोट किया गया ताकि इन्हें अपग्रेड करने के लिये राज्य व केन्द्र शासन को रिपोर्ट दी जा सके। इसके अलावा टीम द्वारा सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र छैगांवमाखन, मूंदी एवं प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र चिचगोहन व मोहना उनके समीपस्थ स्थित उप स्वास्थ्य केन्द्रों का भी निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. रतन खंडेलवाल एवं संभागीय आर.एम.एन.सी.एच.-ए. कॉर्डिनेटर डॉ. श्याम जाटव एवं जिला मिडिया अधिकारी, श्री विक्रम सिंह मण्डलोई उपस्थित थे।
   मुख्य चिकित्सा अधिकारी ने बताया कि केन्द्र सरकार व्दारा हेल्थ एवं वैलनेस सेंटर योजना अंतर्गत पूरे देश में 1.50 लाख सेंटर बनाने का लक्ष्य रखा गया है। जिसमें से 25 हजार इस वर्ष बनाये जायेंगे, उसी योजना के अंतर्गत खंडवा जिले के अभी 6 प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र चिन्हित किये जा चुके है। इन सेंटर्स द्वारा ग्रामीण क्षेत्रों में स्वास्थ्य सुविधाओं को बेहतर करने के लिये 12 प्रकार की स्वास्थ्य सेवायें उपलब्ध कराई जायेगी, जिसमें गर्भवती महिलाओं की जांच, गर्भवती महिलाओं व बच्चों का शत्प्रतिशत टीकाकरण साथ ही संस्थागत प्रसव, टी.बी., कैंसर, नाक-कान-गला, दन्त रोग, असंचारी रोग, मधुमेह, रक्तचाप, कैंसर एवं मानसिक रोगियों की जांच आदि सेवायें दी जायेगी, एवं इन बीमारियों के लिये मरीजों की काउंसलिंग, उनकी विभिन्न जांचे करवाकर उन्हें इन सेंटर्स के माध्यम से उन्हीं के गांव में आवश्यक दवाएं निःशुल्क उपलब्ध करायी जायेगी। इन बीमारियो से पीड़ित ग्रामीणों को उप स्वास्थ्य केन्द्र में ही उपलब्ध सुविधाओं से ज्यादा सेवाओं की आवश्यकता होने पर उन्हें निकट के प्राथमिक स्वास्थ केन्द्र और वहां से आवश्यकता होने पर समीपस्थ सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र पर भेजा जावेगा। इन हेल्थ एवं वैलनेस सेंटर पर आवश्यकतानुसार उपकरण, दवाईयों के साथ 01 महिला स्वास्थ्य कार्यकर्ता, 01 पुरूष स्वास्थ्य कार्यकर्ता एवं 01 प्रशिक्षित कम्युनिटी हेल्थ प्रोवाईडर उपस्थित रहेंगे, जो कि पूर्ण रूप से प्रशिक्षित रहेंगे।
   हेल्थ एवं वैलनेस सेंटर के रूप में चिन्हित प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र पर 1 एम.बी.बी.एस. चिकित्सक, 1 आयुष चिकित्सक या ब्रिज कोर्स प्रशिक्षित स्टाफॅ नर्स, लेब टेक्निशियन, फार्मासिस्ट व अन्य स्टॉफ उपस्थित होगा, जो इन सेंटर्स के लिये चिन्हित 12 प्रकार की सेवायें जनता को उपलब्ध करायेंगे एवं निःशुल्क उपचार प्रदान करेंगे। इन सेंटर्स पर मरीजों की आवश्यक कांउसलिंग भी की जावेगी और स्वास्थ्य के प्रति लगातार जनजागरूकता की जायेगी। उप स्वास्थ्य केन्द्रों पर पदस्थ स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं द्वारा घर-घर सर्वे कर इन 12 प्रकार की बीमारियों से पीड़ित मरीजों का चिन्हांकन कर उन्हें हेल्थ एवं वैलनेस सेंटर्स पर लाया जाकर सेवायें उपलब्ध करायी जावेंगी।
(119 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
जूनजुलाई 2018अगस्त
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
2526272829301
2345678
9101112131415
16171819202122
23242526272829
303112345

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer