समाचार
|| संबल योजना ने हसीना बी को आर्थिक चिंताओं से किया मुक्त (सफलता की कहानी) || प्रदेश में संस्कृत भाषा के विकास के लिये भरपूर प्रयास किये जायेंगे || पर्यटन क्विज के लिये प्रत्येक जिले से एक क्विज मास्टर को प्रशिक्षण || प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व अभियान क्रियान्वयन में मध्यप्रदेश सर्वश्रेष्ठ || जिला योजना समिति की बैठक 19 जुलाई को || उर्दू में 90 प्रतिशत से अधिक अंक लाने वाले विद्यार्थियों को मिलेगा पुरस्कार || सरल बिजली और बिल माफी स्कीम का लाभ संनिर्माण मण्डल के कर्मकारों को भी मिलेगा || पटवारी पद पर नियुक्ति हेतु विशेष आदिम जनजातियों से आवेदन आमंत्रित || सरल बिजली और बिजली बिल माफी स्कीम में 55 लाख से अधिक हितग्राहियों ने कराया पंजीयन || अति वर्षा में नगरीय निकाय का अमला सजग रहे
अन्य ख़बरें
भावांतर भुगतान योजना में अब तक 8 लाख से अधिक किसानों ने करवाया पंजीयन
-
धार | 22-मार्च-2018
 
   
    प्रदेश में रबी फसलों के लिये किसानों के पंजीयन का कार्य लगातार किया जा रहा है। इसके लिये प्रदेशभर की ग्राम पंचायतों में ग्राम सभा भी आयोजित की जा रही हैं। रबी फसल में चना, मसूर, सरसों, प्याज और लहसुन के लिये किसानों का पंजीयन किया जा रहा है। अब तक 8 लाख 26 हजार 771 किसानों का भावांतर भुगतान योजना में पंजीयन किया जा चुका है। यह पंजीयन 18 लाख 44 हजार हेक्टेयर भूमि की फसल के लिये किया गया है।
    प्रदेश में लहसुन में 20 जिलों में भावांतर भुगतान योजना में पंजीयन किया जा रहा है। लहसुन फसल के लिये धार, नीमच, रतलाम, उज्जैन, मंदसौर, इंदौर, सागर, छिन्दवाड़ा, शिवपुरी, शाजापुर, राजगढ़, छतरपुर, आगर-मालवा, गुना, देवास, सीहोर, रीवा, सतना, भोपाल और जबलपुर जिले में किसानों का पंजीयन किया जा रहा है। लहसुन के लिये पंजीयन का कार्य 31 मार्च तक होगा। बाकी फसलों के लिये पंजीयन का कार्य 24 मार्च तक होगा। ग्रामसभाओं में पंजीयन का कार्य ऑफलाइन किये जाने की व्यवस्था की गई है।
    भावांतर भुगतान योजना में इंदौर संभाग में 69 हजार 723, उज्जैन संभाग में एक लाख 57 हजार 622, ग्वालियर में एक लाख 38 हजार 946, चम्बल संभाग में 37 हजार 559, जबलपुर संभाग में 62 हजार 301, नर्मदापुरम संभाग में 34 हजार 348, भोपाल संभाग में एक लाख 72 हजार 718, रीवा में 22 हजार 32, शहडोल संभाग में 3 हजार 146 और सागर संभाग में एक लाख 30 हजार 376 किसानों के पंजीयन किये गये हैं। भावांतर भुगतान योजना में पंजीयन का कार्य 3 हजार 500 कृषि साख सहकारी समितियों और 257 कृषि उपज मण्डी समितियों में भी किया जा रहा है। किसान कल्याण तथा कृषि विकास विभाग ने भावांतर भुगतान योजना में किसानों के पंजीयन के संबंध में जिला कलेक्टर्स को आवश्यक निर्देश दिये हैं।
(118 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
जूनजुलाई 2018अगस्त
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
2526272829301
2345678
9101112131415
16171819202122
23242526272829
303112345

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer