समाचार
|| आचार्य श्री का जीवन-दर्शन जन-कल्याण के लिए अमूल्य : मुख्यमंत्री श्री चौहान || राज्य मंत्री श्री जालम सिंह पटेल 21 जुलाई को दमोह जायेंगे || सांची बौद्ध विश्वविद्यालय परिसर में स्थापित होंगे अन्य देशों के अध्ययन केन्द्र || शिक्षा और स्वास्थ्य में अग्रणी जिलों में शामिल हो बड़वानी || जीवन में एक पौधा जरूर लगाना चाहिए : प्राचार्य || बच्चों के सपनों को साकार करेगी राज्य सरकार : मुख्यमंत्री श्री चौहान || विधानसभा चुनाव की तैयारियों को लेकर थाना प्रभारियों की बैठक संपन्न || छात्रावासों और आश्रमों में 23 जुलाई को मनाया जायेगा प्रवेश उत्सव || ग्रामीण महिलायें करेंगी आधुनिक फैशन कपड़ों का प्रदर्शन || उपसंचालक लोक शिक्षण ने किया शालाओं का आकस्मिक निरीक्षण
अन्य ख़बरें
दवाईयों के निर्माण में भी भारत को समृद्ध और आत्मनिर्भर बनाया जाये - केन्द्रीय मंत्री श्री गेहलोत
ऑल इंडिया फार्मास्यूटिकल एसोसिएशन मध्यप्रदेश की फार्मा मीट-2018 सम्पन्न
इन्दौर | 08-अप्रैल-2018
 
  
     केन्द्रीय समाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री श्री थावरचंद गेहलोत ने कहा है कि भारत का चिकित्सा एवं औषधियों के क्षेत्र में गौरवशाली इतिहास रहा है। इसी को देखते हुए वर्तमान में भारत को दवाईयों के निर्माण में भी समृद्ध और आत्मनिर्भर बनाने की जरूरत है। इसके लिये उन्होंने फार्मास्यूटिकल क्षेत्र से जुड़े सभी लोगों का आव्हान किया कि वे आगे आकर फॉर्मा क्षेत्र को विकसित करे और देश की तरक्की में मदद करें।
    श्री गेहलोत आज यहां ऑल इंडिया फार्मास्यूटिकल एसोसिएशन म.प्र. के तत्वावधान में विजय नगर स्थित आनंद मोहन माथुर सभागृह में आयोजित फार्मा मीट-2018 को सम्बोधित कर रहे थे। इस अवसर पर प्रदेश के स्वास्थ्य एवं चिकित्सा मंत्री श्री रुस्तम सिंह मुख्य अतिथि थे। कार्यक्रम में विशेष अतिथि के रूप में प्रदेश के तकनिकी शिक्षा एवं कौशल विकास मंत्री श्री दीपक जोशी एवं पूर्व मंत्री श्री बाबूलालजी जैन मौजूद थे।
    कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुये श्री गेहलोत ने कहा कि भारत सरकार ने उद्यमिता को बढावा देने के लिये कारगर योजना बनाकर उसका प्रभावी क्रियान्वयन कर रही है। उन्होंने सभी का आव्हान किया कि वे आगे आकर इन योजनाओं का लाभ ले।
    प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री श्री रुस्तम सिंह ने संबोधित करते हुए कहा कि राज्य सरकार की प्राथमिकता है कि उद्योगों को बढ़ावा दिया जाए। हमारे प्रदेश के उद्योग क्षेत्र की उदारवादी एवं मित्रवत नीतियों को देखते हुए प्रदेश में तेजी से औद्योगिक निवेश बढ़ा है। उन्होंने कहा कि दवा निर्माण के क्षेत्र में भी उद्यमियों को प्रोत्साहित करने के लिए नियमों का सरलीकरण किया गया है। उन्होंने कहा की प्रदेश में फार्मा के क्षेत्र में भी औद्योगिक निवेश को बढ़ावा दिया जा रहा है। उन्होंने कहा कि प्रदेश में उद्यमी आगे आयें  और फार्मा के क्षेत्र में अधिक से अधिक निवेश करें। श्री रुस्तम सिंह ने कहा कि प्रदेश के शासकीय अस्पतालों के फार्मासिस्टों की वेतन विसंगतियां भी दूर की जा रही है।
    कार्यक्रम को संबोधित करते हुए प्रदेश के तकनीकी शिक्षा एवं कौशल उन्नयन मंत्री श्री दीपक जोशी ने कहा की फार्मा को स्किल डेवलपमेंट से जोड़ा गया है। हमारा प्रयास है कि फार्मा के क्षेत्र में भी कुशल लोग आगे आएं और अच्छी गुणवत्ता की दवाइयों का निर्माण करें। अगर हमारे यहां अच्छी गुणवत्ता की दवाइयों का निर्माण होगा तो प्रदेश से बड़ी संख्या में दवाइयों का निर्यात किया जा सकेगा। उन्होंने कहा कि हमने तय किया है कि फार्मेसी कौंसिल की मदद से फार्मेसी पाठ्यक्रम में आवश्यकता के अनुरूप बदलाव किए जाएं। फार्मेसी क्षेत्र में रोजगार की अपार संभावनाएं इसको देखते हुए फार्मेसी क्षेत्र को भी बढ़ावा दिया जा रहा है। उन्होंने कहा कि फार्मेसी के क्षेत्र में मध्य प्रदेश को सुपर पावर प्रदेश बनाया जाएगा।
     उक्त कार्यक्रम में संयुक्त औषधि नियंत्रक भारत सरकार श्री डॉ. व्ही.जी. सोमानी, डॉ. सी.एस. वर्मा तथा श्री बिपल्ब चटर्जी ने तकनीकी विषयों पर अपने विचार व्यक्त किये। विशेषज्ञ श्री अमरसिंह चौधरी का मोटिवेशन पर व्याख्यान भी हुआ। उक्त कार्यक्रम में प्रदेश के विभिन्न फार्मेसी कॉलेजों के बड़ी संख्या में विद्यार्थी व फार्मेसी से संबंधित उद्योगों, अस्पताल आदि संबंधित कई फार्मेसिस्ट व पदाधिकारियों ने भाग लिया।
    फार्मा मीट-2018 की अध्यक्ष डॉ. रश्मि दाहिमा ने स्वागत भाषण दिया। छात्रगण द्वारा फार्मेसी के विभिन्न विषयों पर माडल, पोस्टर आदि की प्रदर्शनी आयोजित की गई। संस्था प्रदेश अध्यक्ष श्री संजय जैन ने संस्था की गतिविधियों की जानकारी दी। कार्यक्रम को पूर्व मंत्री श्री बाबूलाल जैन तथा महासचिव श्री अनिल खारिया ने भी सम्बोधित किया।
(104 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
जूनजुलाई 2018अगस्त
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
2526272829301
2345678
9101112131415
16171819202122
23242526272829
303112345

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer