समाचार
|| आचार्य श्री का जीवन-दर्शन जन-कल्याण के लिए अमूल्य : मुख्यमंत्री श्री चौहान || राज्य मंत्री श्री जालम सिंह पटेल 21 जुलाई को दमोह जायेंगे || सांची बौद्ध विश्वविद्यालय परिसर में स्थापित होंगे अन्य देशों के अध्ययन केन्द्र || शिक्षा और स्वास्थ्य में अग्रणी जिलों में शामिल हो बड़वानी || जीवन में एक पौधा जरूर लगाना चाहिए : प्राचार्य || बच्चों के सपनों को साकार करेगी राज्य सरकार : मुख्यमंत्री श्री चौहान || विधानसभा चुनाव की तैयारियों को लेकर थाना प्रभारियों की बैठक संपन्न || छात्रावासों और आश्रमों में 23 जुलाई को मनाया जायेगा प्रवेश उत्सव || ग्रामीण महिलायें करेंगी आधुनिक फैशन कपड़ों का प्रदर्शन || उपसंचालक लोक शिक्षण ने किया शालाओं का आकस्मिक निरीक्षण
अन्य ख़बरें
किसी भी मजदूर को मजबूर नहीं रहने दिया जाएगा- मुख्यमंत्री श्री चौहान
भीकनगांव में मुख्यमंत्री ने 1 लाख 3 हजार गरीबों जमीन के पट्टे किए वितरित, प्रदेश में अब स्वघोषित व प्रमाणित (सेल्फ डिक्लेरेशन) मोड पर अमल किया जाएगा
खरगौन | 17-अप्रैल-2018
 
   
   मुख्यमंत्री श्री शिवराजसिंह चौहान ने कहा कि आज का दिन मप्र के गरीबों और मजदूरों के लिए स्वर्णिम दिन के रूप में लिखा जाएगा। समाज के कल्याण के लिए मप्र शासन ने पूरा समय दिया है और कई योजनाएं भी। अब से गरीबों के दिन बदलेंगे। अब फसल काटने वाले, गिट्टी तोड़ने वाले और हम्माली करने वालों तथा 2.50 एकड़ से कम जमीन वालों सभी गरीबों को मजबूर नहीं रहने दिया जाएगा। जिस तरह भगवान किसी के साथ भेदभाव नहीं करता। वैसे ही मप्र सरकार भी किसी के साथ बिना भेदभाव के योजनाओं से लाभांवित कर रही है। मुख्यमंत्री श्री शिवराजसिंह चौहान आज मंगलवार को खरगोन के भीकनगांव तहसील में आयोजित असंगठित श्रमिक सम्मेलन को संबोधित कर रहे थे। श्रमिक सम्मेलन में मुख्यमंत्री श्री चौहान ने मंच से 1 लाख 3 हजार गरीबों को जमीन के पट्टे वितरित करने की घोषणा की। साथ ही कार्यक्रम के माध्यम से 70 हजार गरीबों को पट्टे वितरित किए गए।
कोई भी गरीब जमीन के टुकड़े के बगैर नहीं रहेगा
   मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि खरगोन में 1 लाख 3 हजार गरीबों को जमीन का मालिक बनाया जा रहा है। इसी तरह प्रदेश में किसी भी गरीब को जमीन के टुकड़े के बगैर नहीं रहने दिया जाएगा। पुराने कब्जे वालों को भी वनाधिकार पट्टा दिया जाएगा। प्रत्येक पट्टे पर मकान बनाने के लिए प्रधानमंत्री आवास योजना और मुख्यमंत्री अंत्योदय योजना के तहत मकान बनाकर दिए जाएंगे। 4 साल के भीतर सभी कच्चे मकानों को पक्के मकान बनाने के लिए योजना का अवसर दिया जाएगा। यह मकान 4 साल में 25-25 प्रतिशत प्रति वर्ष बनाए जाएंगे। आज से योजना का शुभारंभ होते ही सभी तरह के मजदूर एक वर्ग में होंगे और उन्हें शासन की योजनाओं का हर संभव लाभ दिया जाएगा। शासन द्वारा जिनके पास साधन और धन है उनसे टेक्स लेकर गरीबों में बांटने का काम कर रही है। क्योंकि गरीबों को भी अधिकार और हक है।
प्रदेश की जनता को पुराने दिनों में नहीं रहने देंगे
   मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि एक समय प्रदेश में सड़क और बिजली के अभाव में विद्यार्थी, व्यवसायी और किसान सभी परेशान होते रहे है। प्रदेश शासन ने तय किया है कि प्रदेश की जनता को पुराने दिनों में नहीं रहने दिया जाएगा। सभी योजनाओं से जोड़कर उनको प्रगति और विकास के पथ पर ले जाया जाएगा। गरीबों को पहले मौलिक आवश्यकताएं जैसे- मकान के लिए जमीन और बिजली प्राथमिकता से दी जाएगी। मप्र सरकार पंडित दीनदयाल के आदर्षों पर गरीबों के कल्याण के लिए कार्य कर रही है। शासन द्वारा गरीबों को पहले ही 1 रूपए किलो गेहूं और चावल उपलब्ध करा रही है। क्योंकि गरीबों के लिए दोजुन की रोटी सबसे ज्यादा जरूरी है। अब 1 अप्रैल से पंजीकृत मजदूरों को पुराने बिजली के बिल नहीं भरने पड़ेगें। पुराना भुगतान सरकार द्वारा किया जाएगा। अब सिर्फ 200 रूपये प्रतिमाह घरेलु कनेक्शन का बिजली बिल ही भरना होगा।
मुख्यमंत्री ने की घोषणाएं
    मुख्यमंत्री श्री चौहान ने श्रमिक सम्मेलन को संबोधित करते हुए कई घोषणाएं की। उन्होंने कहा कि अब से 6 माह व 9 माह का बेटा-बेटी होने पर 4 हजार रूपए उनकी माताओं के खातों में दिए जाएंगे। बेटा-बेटी के जन्म पर 12 हजार रूपए अलग से प्रदान किए जाएंगे। गरीबों के बेटा-बेटियों के अध्ययन के लिए पहली से पीएचडी तक की फीस सरकार भरेगी। भारत सरकार की आयुष्मान योजना में भी राज्य सरकार द्वारा अंश देकर प्रदेश की जनता को योजना का लाभ दिया जाएगा। गरीब बहनों को व्यवसाय के लिए प्रशिक्षित किया जाएगा। 
   किसी भी मजदूर या श्रमिक की दुर्घटना में स्थाई अपंगता पर 2 लाख रूपए और अस्थाई अपंगता पर 1 लाख रूपए प्रदान किए जाएंगे। 60 वर्ष से कम आयु के गरीब की सामान्य मृत्यु पर भी 2 लाख प्रदान किए जाएंगे। वहीं दुर्घटना में मृत्यु पर 4 लाख रूपए गरीब मजदूर के परिवार को प्रदान किए जाएंगे। शासन ऐसा नहीं चाहती है कि कोई परिवार उनके बगैर रहे, लेकिन होनी को टाला नहीं जा सकता। दुख की घड़ी में सरकार उनके साथ खड़ी रहेगी।
    मुख्यमंत्री असंगठित कल्याण योजना में अन्तेष्टी सहायता योजना के तहत पंजीबद्ध असंगठित कर्मकार की मृत्यु होने पर अंतिम संस्कार के लिए तत्काल आर्थिक मदद 5 हजार रूपए उत्तराधिकारी को प्रदान की जाएगी। असंगठित महिला कर्मकार को प्रसुति की स्थिति में कार्य से अनुपस्थित रहने पर होने वाली आर्थिक क्षति की प्रतिपूर्ति के लिए गर्भावस्था की अंतिम तिमाही में 4 हजार रूपए प्रसुति होने के पश्चात 12 हजार रूपए की सहायता प्रदान की जाएगी।
     प्रदेश में अब स्वघोषित व प्रमाणित (सेल्फ डिक्लेरेशन) मोड पर अमल किया जाएगा। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने प्रदेश के सभी कलेक्टर्स और जिला पंचायत सीईओ को संबोधित करते हुए घोषणा की है कि अगर मजदूर गरीब स्वयं लिखकर देता है कि वह आयकर श्रेणी में नहीं है वह गरीब है, तो योजनाओं की पात्रता रखता है। उसे भी असंगठित मजदूर कल्याण योजना में शामिल किया जाएगा। प्रदेश में संचालित हर योजना को जल्द से जल्द क्रियांवित करने की कार्यवाही की जा रही है। शासन गरीबों की जिंदगी बदलने की ओर अग्रसर है। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने यह भी कहा कि हर गांव में 5-5 लोगों की समिति योजनाओं के क्रियान्वयन में कार्य करेगी।    
मुख्यमंत्री ने इनको किया लाभांवित
   मुख्यमंत्री श्री चौहान ने श्रमिक सम्मेलन में 70 हजार गरीबों को पट्टे वितरित किए। बड़वाह के दीपक की मृत्यु होने पर उनके उत्तराधिकारी किशनलाल को मृत्यु की दशा में अनुग्रह राशि 2 लाख रूपए प्रदान की गई। भीकनगांव की कलाबाई और ख्यालीबाई को प्रधानमंत्री उज्जवला योजनांतर्गत गैस कनेक्शन प्रदान किए गए। राजेश दिगंबर पटेल, साजिक सादिर खान, शेखर भास्कर व जिन्ना उमर शेख को ई-रिक्षा और ई-लोडर के लिए 1 लाख 70 हजार और 1 लाख 55 हजार रूपए का लाभ मुख्यमंत्री के हाथों दिया गया। इसके अलावा सभी विकासखंडों के हितग्राहियों को भू-अधिकार पत्र प्रदान किए गए।
    कार्यक्रम में सांसद श्री नंदकुमारसिंह चौहान ने स्वागत भाषण में श्रमिक संगठन की योजनाओं के बारे में जानकारी दी। कार्यक्रम का आभार राज्यमंत्री श्री बालकृष्ण पाटीदार ने व्यक्त किया।   
कार्यक्रम में यह रहे उपस्थित
    कार्यक्रम में स्कूल शिक्षा और जिले के प्रभारी मंत्री डॉ. विजय शाह, राज्यमंत्री श्री बालकृष्ण पाटीदार, सांसद श्री नंदकुमारसिंह चौहान, महेश्वर विधायक श्री राजकुमार मेव, बड़वाह विधायक श्री हितेंद्रसिंह सोलंकी, पूर्व विधायक श्री बाबुलाल महाजन, श्री जमुनासिंह सोलंकी, श्री धुलसिंह डावर, भीकनगांव नगर परिषद अध्यक्ष श्री दीपक ठाकुर, खरगोन नपा अध्यक्ष श्री विपिन गौर, उपाध्यक्ष श्री कन्हैया कोठाने उपस्थित रहे। इनके अलावा इंदौर कमिश्नर श्री संजय दुबे, श्रमायुक्त श्री शोभित जैन, डीआयजी के श्री एके शर्मा, कलेक्टर श्री अशोक कुमार वर्मा, पुलिस अधीक्षक श्री डी कल्याण चक्रवर्ती, अपर कलेक्टर श्री शीलेंद्रसिंह सहित अन्य अधिकारी, जनप्रतिनिधि, पत्रकारगण एवं लाखों की संख्या में श्रमिक व नागरिक उपस्थित रहे।
 
  
   
   
(95 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
जूनजुलाई 2018अगस्त
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
2526272829301
2345678
9101112131415
16171819202122
23242526272829
303112345

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer