समाचार
|| ऑनलाईन प्रवेश के लिए सी.एल.सी. का द्वितीय चरण || प्रदेश के 4 जिलों में सामान्य से अधिक, 33 में सामान्य वर्षा दर्ज || जनजातीय विभाग की योजनाओं का कम्प्यूटरीकरण || शासकीय महाविद्यालयों निर्धारित सीट संख्या में वृद्धि के निर्देश || विकास रथ पहुँचाएंगे विभिन्न योजनाओं की जानकारी || इनोवेटिव आइडिया के लिए आवेदन आमंत्रित || विमुक्त जनजाति वर्ग के समाज सेवियों को मिलेगा पुरस्कार || आज मनाया जायेगा सद्भावना दिवस || मजदूरों के बच्चों को नहीं लगेगा परीक्षा शुल्क || ग्रामीण क्षेत्रों का होगा स्वच्छता सर्वेक्षण 31 अगस्त तक
अन्य ख़बरें
अजीविका दिवस एवं कौशल विकास दिवस समारोह पूर्वक मनाया गया
-
आगर-मालवा | 05-मई-2018
  
     ग्राम स्वराज अभियान अन्तर्गत आज 05 मई को अजीविका दिवस एवं कौशल विकास दिवस जिला मुख्यालय पर स्थानीय सामर्थ्य किसान प्रोड्यूसर कम्पनी परिसर आगर में राज्य ग्रामीण अजीविका मिशन अन्तर्गत गठित स्व-सहायता समूहों के सदस्यों की उपस्थिति में कार्यक्रम आयोजित कर मनाया गया। कार्यक्रम स्थल पर सांसद श्री मनोहर ऊंटवाल जिला पंचायत अध्यक्ष श्रीमती कलाबाई गुहाटिया, कलेक्टर श्री अजय गुप्ता, विधायक श्री गोपाल परमार, जिला पंचायत सीईओ श्री राजेश शुक्ल, जिला पंचायत सदस्य श्री भेरूसिंह चौहान आदि मंचासीन थे। कार्यक्रम का शुभारम्भ अतिथियों द्वारा माँ सरस्वती के चित्र पर माल्यार्पण एवं दीप प्रज्ज्वलित कर किया गया।
     कार्यक्रम में श्रीकृष्ण स्व-सहायता समूह की सदस्य श्रीमती राजूबाई ने अपने अनुभव साझा करते हुए कहा कि आजीविका का कोई साधन नहीं होने से उनके परिवार की आर्थिक स्थिति अच्छी नहीं थी। परिवार की आर्थिक स्थिति में सुधारने एवं स्वयं के पैरों पर खड़ा होने के लिये ग्रामीण आजीविका मिशन अन्तर्गत श्रीकृष्ण स्व-सहायता समूह से जुड़कर हर्बल साबुन बनाने की प्रशिक्षण लिया। प्रशिक्षण के बाद घर पर ही साबुन निर्माण शुरू किया। निर्मित प्रोडक्ट को आगर जिले के अलावा भोपाल, इंदौर सहित अन्य शहरों में बेचा जा रहा है। जिससे उन्हें अच्छी आमदनी प्राप्त हो रही है। पहले की अपेक्षा आज परिवार की आर्थिक स्थिति बेहद अच्छी है। कार्यक्रम में लक्ष्मी स्व-सहायता समूह की श्रीमती रूखमाबाई, समर्पण सहयोग समूह की सदस्य श्रीमती रेखा चौहान, सदस्य धापूबाई, सहित अन्य समूहों की सदस्यों द्वारा अपने अनुभव साझा करते हुए, समूह से जुड़ने के बाद उनके जीवन में आए परिवर्तन के बारे में उपस्थितजनों को अवगत कराया।
    कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए सांसद श्री ऊंटवाल ने कहा कि अजीविका मिशन अन्तर्गत महिलाए स्व-रोजगार के नए-नए तरीके से परिचित हो रही है। राज्य शासन महिलाओं को स्वावलंबन एवं आत्मनिर्भर बनाने के लिये हर संभव प्रयास कर रही है। स्व-सहायता समूहों की महिलाओं की लगन एवं मेहनत के फलस्वरूप ही अजीविका मिशन अन्तर्गत जिले की ख्याति प्रदेश स्तर पर बनी है। जिले में महिला स्वसहायता समूहों को आत्मनिर्भर बनाने की दिशा में अच्छा काम हुआ है। श्री ऊंटवाल ने शासन की मुख्यमंत्री कन्यादान विवाह, उज्ज्वला योजना, सौभाग्य योजना सहित अन्य योजनाओं के बारे में बताते हुए पात्रतानुसार अधिक से अधिक लाभ लेने की अपील की।
    कार्यक्रम को जिला पंचायत अध्यक्ष श्रीमती कलाबाई गुहाटिया ने सम्बोधित करते हुए उपस्थित महिला स्व-सहायता समूह की सदस्यों से उनके हित में संचालित शासकीय योजनाओं का लाभ लेकर आत्मनिर्भर बनने की अपील की। विधायक श्री गोपाल परमार ने कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए कहा कि ग्रामीण क्षेत्र में महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाकर समृद्धि लाने की दिशा में राज्य ग्रामीण आजीविका मिशन महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहा है। ऐसा कोई काम नहीं है, जिसको करने में महिलाओं में जज्बा ना हो। उन्हांेने कहा कि जिन स्व-सहायता समूहों की सदस्यों द्वारा उल्लेखनीय कार्य कर उपलब्धि हासिल की हैं, उनसे प्रेरित होकर अन्य समूह की महिलाएं अपनी लगन और मेहनत के दम पर अपनी पहचान देश एवं प्रदेश स्तर पर स्थापित करें। उन्होंने कौशल विकास के जरिए आत्मनिर्भर बनने का महिलाओं से आग्रह किया। उन्होंने शासन की विभिन्न योजनाओं के बारे में विस्तारपूवर्क उपस्थितजनों को बताया।
    कौशल विकास केन्द्र प्रबंधक श्री दीपक पाटीदार ने प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना की जानकारी देते हुए कहा कि योजनान्तर्गत 18 से 35 वर्ष के युवक/युवतियों को निःशुल्क अलग-अलग ट्रेड में प्रशिक्षित किया जाता हैं, जिससे कि वह अपना स्वयं का रोजगार स्थापित कर सके। जिले के अधिक से अधिक युवक/युवितयां कौशल विकास केन्द्र से अलग-अलग विद्याओं में प्रशिक्षण प्राप्त कर अपना कौशल उन्नयन करें। जिससे कि स्व-रोजगार स्थापित कर सकें। बैंक ऑफ इंडिया के काउंसलर श्री पांडे ने कैशलेस पर विस्तृत जानकारी दी तथा एनआरएलएम प्रबंधक श्री हेमन्त रामावत ने कार्यक्रम की रूप रेखा पर विस्तार से प्रकाश डाला।
    समारोह में अतिथियों द्वारा उल्लेखनीय कार्य करने वाले महिला स्वसहायता समूहों को सम्मानित किया। साथ ही अजीविका मिशन के तहत् गठित समूहों को 52 लाख रुपए की ऋण राशि के चैक का वितरण भी अतिथियों द्वारा किया गया। कार्यक्रम स्थल पर सिवनी में आयोजित प्रदेश स्तरीय कार्यक्रम का सीधा प्रसारण किया गया। प्रदेश स्तरीय कार्यक्रम से मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान द्वारा महिला स्वसहायता समूह के सदस्यों को सम्बोधित किया गया। समारोह में बड़ी संख्या में महिला स्व-सहायता समूह उपस्थित थे। कार्यक्रम स्थल पर रोजगार मेले का आयोजन भी किया गया। जिसमें निजी क्षैत्र 10 कम्पनियों के प्रतिनिधियों ने उपस्थित होकर बेरोजगारों के रोजगार के अवसर प्रदान किए। रोजगार मेले में 340 बेरोजगार युवक/युवतियों ने रोजगार हेतु पंजीयन कराया। जिसमें में 240 बेरोजगार युवक/युवतियों का रोजगार हेतु प्रारंभिक चयन किया गया। समारोह स्थल पर विभिन्न विभागों द्वारा प्रदर्षनी एवं  महिला समूहों द्वारा स्टाल लगाए गए। जिसका अतिथियों द्वारा अवलोकन किया और गतिविधियों की जानकारी प्राप्त की। कार्यक्रम का संचालन एमपी एग्रो के प्रबंधक श्री ओ.पी.विजयवर्गीय ने किया तथा आभार जिला पंचायत सीईओ श्री राजेश शुक्ल ने माना।
    कार्यक्रम में अतिरिक्त सीईओ जिला पंचायत श्री सेंगर, श्री पंवार, जिला कार्यक्रम अधिकारी महिला एवं बाल विकास विभाग श्रीमती निशीसिंह, सांसद प्रतिनिधि श्री विनय मालानी, गोविन्दसिंह बरखेड़ी विधायक प्रतिनिधि श्री तुफानसिंह, डॉ. रूपेश भावसार, संतोष सिंह बराड़ा, जगदीश गवली, अशोक प्रजापत सहित अन्य जनप्रतिनिधिगण, पत्रकारगण एवं बड़ी संख्या में स्व-सहायता समूह की सदस्य उपस्थित थी।
(106 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
जुलाईअगस्त 2018सितम्बर
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
303112345
6789101112
13141516171819
20212223242526
272829303112
3456789

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer