समाचार
|| जिलास्तरीय शांति समिति की बैठक 19 अगस्त को || जनजातीय विभाग की योजनाओं का कम्प्यूटरीकरण || ऑनलाईन प्रवेश के लिए सी.एल.सी. का द्वितीय चरण || उर्दू पाण्डुलिपि और पुस्तकों के लिये आवेदन आमंत्रित || मुख्यमंत्री ऋण समाधान योजना में आंशिक संशोधन || इस वर्ष 23 एवं 24 अक्टूबर को होगा नर्मदा महोत्सव का आयोजन || किसानों की सुविधा के लिए एमपी किसान एप || 20 अगस्त को मनाया जायेगा सद्भावना दिवस || श्रमिकों के बच्चों के लिए शिक्षा हेतु वित्तीय सहायता योजना || केरल के बाढ़ पीड़ितों की सहायता के लिए राशि एकत्र करने का अनुरोध
अन्य ख़बरें
मुख्यमंत्री द्वारा की गई घोषणाओं के परिपालन में की गई कार्यवाही के संबंध में बैठक संपन्न
-
छिन्दवाड़ा | 17-मई-2018
 
     प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान द्वारा गत 6 अप्रैल को जिले के तामिया विकासखंड के ग्राम रातेड़ में आयोजित कार्यक्रम में की गई घोषणाओं के परिपालन में की गई कार्यवाही के संबंध में कलेक्टर श्री वेद प्रकाश ने आज कलेक्टर कार्यालय के मिनी सभाकक्ष में संबंधित अधिकारियों की बैठक ली तथा प्रगति की जानकारी प्राप्त की। बैठक में वनमंडलाधिकारी श्री एस.एस.उद्दे, सहायक आयुक्त जनजातीय कार्य विभाग श्रीमती शिल्पा जैन, अधीक्षण अभियंता म.प्र. पूर्व क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी श्री वाय.के.सिंघई, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. जे.एस.गोगिया, जिला आपूर्ति अधिकारी श्रीमती नुजहत बकाई और अन्य संबंधित विभागों के अधिकारी उपस्थित थे।
      कलेक्टर श्री वेद प्रकाश ने मुख्यमंत्री की घोषणा वन भूमि पर कई वर्षो से काबिज जो भारिया है उन्हें पट्टे देकर भू-स्वामी बनाया जायेगा और पातालकोट में जिन भारिया के पास रहने के लिये जमीन का टुकडा नहीं है उन्हें जमीन देकर उसका मालिकाना हक दिया जायेगा, के संबंध में निर्देश दिये कि भारिया परिवार को वनाधिकार पट्टे प्रदाय किये जाये। इसके लिये लंबित दावों का परीक्षण कर शीघ्र कार्यवाही की जाये तथा शासन स्तर के साथ ही अलग से भी डी.पी.एस. मशीनों की व्यवस्था की जाये। उन्होंने वनाधिकार पट्टे के लंबित प्रकरणों के शीघ्र निराकरण के लिये जनजातीय कार्य विभाग में सेल गठित कर उसमें 2 कर्मचारियों की ड्यूटी लगाये जो संबंधित अधिकारियों के सतत् संपर्क में रहकर लंबित प्रकरणों के निराकरण में समुचित कार्यवाही की प्रक्रिया पूर्ण करा सके। उन्होंने अचार, चिरौंजी और महुआ खरीदी के लिये लघु वनोपज खरीदी केन्द्र खोलने और महुआ 30 रूपये प्रति किलो एवं अचार की गुठली 150 रूपये प्रति किलो की दर पर खरीदी करने की घोषणा के संबंध में निर्देश दिये कि लघु वनोपज खरीदी केन्द्रों को नियमित रूप से खोले और समर्थन मूल्य पर अचार, चिरौंजी और महुआ की खरीदी करे। वनमंडलाधिकारी ने इस संबंध में बताया कि वन क्षेत्रों में 19 लघु वनोपज खरीदी केन्द्र खोले गये है और समर्थन मूल्य पर अचार, चिरौंजी और महुआ की खरीदी की जा रही है। इसी प्रकार तेंदूपत्ता संग्राहकों को अब 2 हजार रूपये प्रति मानक बोरा पारिश्रमिक दिया जा रहा है तथा चरण पादुका योजना के अंतर्गत तेंदूपत्ता संग्राहक पुरूषों को जूते और पानी की कुप्पी तथा महिलाओं को चप्पल, पानी की कुप्पी और साड़ी वितरित की जा रही है।
      कलेक्टर ने भारिया बहुल क्षेत्र में भारिया आदिवासियों का स्वास्थ्य परीक्षण करने और गंभीर रोग से पीड़ित होने पर उनका निःशुल्क उपचार करने की घोषणा के संबंध में मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी को निर्देश दिये कि चिकित्सकों की एक टीम गठित कर एक माह तक इस क्षेत्र में नि:शुल्क स्वास्थ्य शिविर आयोजित करे। चिकित्सक टीम के वाहन में जी.पी.एस. लगाये जिससे टीम की लोकेशन के संबंध में जानकारी मिलती रहे। स्वास्थ्य परीक्षण में गंभीर रोग से पीड़ित मरीज पाये जाने पर उनका समुचित उपचार करे। उन्होंने 12वीं कक्षा तक पढ़ने वाली भारिया बालिकाओं को ए.एन.एम. का प्रशिक्षण देकर उन्हें स्वास्थ्य सेवा के कार्य में लगाये जाने के संबंध में निर्देश दिये कि इस क्षेत्र में नर्सिंग प्रशिक्षण केंद्र खोलने के लिये स्थल का चयन करे और बालिकाओं को चिन्हित करे तथा प्रशिक्षण केंद्र की मान्यता के लिये राज्य शासन को प्रस्ताव भेजे। उन्होंने पातालकोट क्षेत्र की सभी बस्तियों में नलजल योजना की व्यवस्था के संबंध में निर्देश दिये कि प्रत्येक बसाहट में पेयजल स्त्रोत के स्थल से लेकर बसाहट तक नल-जल योजना के लिये सोलर पंप लगाकर पेयजल व्यवस्था सुनिश्चित करें तथा प्रति यूनिट 2.76 लाख रूपये लागत का प्रस्ताव तैयार कर प्रस्तुत करे। स्थापित हैण्डपंपों/ट्यूबबेलों में बिजली की व्यवस्था कर एक हार्स पावर की मोटर लगायें। वन अधिकार अधिनियम के अंतर्गत जिन भारिया परिवारों को भूमि आवंटित की गई, के खेतों में कुओं का निर्माण करायें और बिजली होने पर विद्युत मोटर व बिजली नहीं होने पर डीजल पंप स्थापित करें ताकि वे कुएं से पानी निकालकर सिंचाई कर सकें। वनाधिकार पट्टा प्राप्त भारियाओं को खाद्य बीज और ऋण उपलब्ध करायें ताकि वे अच्छे से खेती कर सके। जिन 856 भारिया परिवारों के पास घास-फूस की झोपडी है या कच्चे मकान है, प्रधानमंत्री आवास योजना के अंतर्गत उनके आवास स्वीकृत कराकर उनके पक्के मकान बनाये।
      बैठक में सहायक आयुक्त जनजातीय कार्य श्रीमती जैन ने बताया कि विशेष भर्ती अभियान में सीधी भर्ती की सुविधा पातालकोट के भीतर व ऊपर रहने वाले सभी भारियाओं को मिलने की घोषणा के अनुरूप केबिनेट की बैठक में छिन्दवाडा और सिवनी जिले के भारिया युवक-युवतियों को विशेष भर्ती अभियान में सीधी भर्ती किये जाने का निर्णय लिया जा चुका है। भारिया भाषा को  संरक्षित करने के लिये 18 भारिया भाषायी शिक्षक नियुक्त करने का प्रस्ताव शासन को भेजा गया है तथा भारिया संस्कृति को अक्षुण्ण रखने के लिये छिन्दवाडा में भारिया सांस्कृतिक केन्द्र स्थापित करने के प्रस्ताव को राज्य शासन से स्वीकृति प्राप्त हो गई है तथा शीघ्र ही इस केंद्र के निर्माण का कार्य प्रारंभ किया जायेगा। उन्होंने बताया कि भारिया बच्चों को कम्प्यूटर में प्रशिक्षित किये जाने के लिये छिन्दवाडा में मेपसेट के माध्यम से एक कम्प्यूटर प्रशिक्षण केन्द्र खोलने की स्वीकृति भी प्राप्त हो गई है तथा विभागीय भूमि पर यह केंद्र भी शीघ्र प्रारंभ किया जायेगा। भारिया युवक-युवतियों को आई.टी.आई. में विभिन्न प्रशिक्षण देकर उनके कौशल को बढाने के लिये भारिया युवक-युवतियों को चिन्हित किया जा रहा है। भारिया जनजाति के बच्चों के लिये एकलव्य आवासीय विद्यालय खोलने का प्रस्ताव शासन को भेजा गया है तथा भारिया परिवारों के बच्चों को पहली से लेकर पी.एच.डी. तक निःशुल्क शिक्षा दी जा रही है। उन्होंने बताया कि 3 हजार 191 भारिया महिलाओं के बैंक खाते में प्रतिमाह एक हजार रूपये के मान से दिसंबर 2017 से मार्च 2018 तक की 1.11 करोड़ रूपये की राशि जमा कर दी गई है तथा शेष एक हजार 552 भारिया महिलाओं के लिये 1.84 लाख रूपये का आवंटन भी प्राप्त हो गया है जो शीघ्र ही उनके बैंक खातों में जमा किया जायेगा। ग्राम पंचायत छिंदी के स्कूल टोला की भारिया जनजाति के श्री सकरलाल भारती की नातिन के समुचित उपचार के लिये 25 हजार रूपये की राशि परिवार को उपलब्ध करा दी गई है। बैठक में बताया गया कि भारिया परिवारों को एक रूपये किलो पर गेहूँ, चांवल और नमक उपलब्ध कराया जा रहा है तथा उज्जवला रसोई गैस योजना के अंतर्गत रसोई गैस भी उपलब्ध कराई गई है। साथ ही भारिया जनजाति के श्री सकरलाल भारती की पत्नी को उज्जवला रसोई गैस उपलब्ध करा दी गई है। बैठक में बताया गया कि सहज बिजली अभियान के अंतर्गत सभी भारिया परिवार को बिजली कनेक्शन उपलब्ध कराने का कार्य जारी है तथा आगामी सितंबर माह तक सभी परिवारों को बिजली कनेक्शन उपलब्ध करा दिया जायेगा।
(93 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
जुलाईअगस्त 2018सितम्बर
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
303112345
6789101112
13141516171819
20212223242526
272829303112
3456789

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer