समाचार
|| जिले में धारा 144 प्रभावशील || पूर्व प्रधानमंत्री स्वर्गीय श्री अटल बिहारी वाजपेई को मौन रखकर दी गई श्रद्धांजलि || शासकीय सेवकों को सामूहिक रूप से कलेक्टर ने दिलाई सद्भावना शपथ || वर्षा की स्थिति || राजस्व अधिकारियों को नई भू-राजस्व संहिता के प्रावधानों का दिया गया प्रशिक्षण || दिव्यांग राधा ने बनाई अपनी अलग पहचान "सफलता की कहानी" || व्यक्ति तय करले तो कोई काम अंसभव नही ऐसा ही कर दिखाया रूबीना शाह ने "सफलता की कहानी" || मतदाता सूची में संशोधन एवं परिवर्द्धन का कार्य पूरी सजगता से करें बीएलओ-जिला निर्वाचन अधिकारी || जिले में जन सामान्य के स्वास्थ्य के हित और लोक शांति को बनाए रखने के लिए धारा 144 के तहत प्रतिबंधात्मक आदेश जारी || उर्दू पाण्डुलिपि और पुस्तकों के लिये 31 अगस्त तक आवेदन आमंत्रित
अन्य ख़बरें
नगर पंचायत मंदसौर में सुना गया मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह के कार्यक्रम का सीधा प्रसारण
मुख्यमंत्री जनकल्याण(सम्बल) योजना कार्यक्रम में हितग्राहियों को 37 लाख 11 हजार राशि का किया वितरण
मन्दसौर | 13-जून-2018
 
   प्रदेश शासन के निर्देशानुसार आज शाम 5 बजे मुख्यमंत्री जनकल्याण (सम्बल) योजना कार्यक्रम नगर पालिका मंदसौर में आयोजित हुआ। कार्यक्रम में सांसद श्री सुधीर गुप्ता, मंदसौर विधायक श्री यशपाल सिंह सिसोदिया, जिला पंचायत अध्यक्षा श्रीमती प्रियंका मुकेश गिरी गोस्वामी, नगर पालिका अध्यक्ष श्री प्रहलाद बंधवार सहित अन्य जनप्रतिनिधि तथा अधिकारी एवं कर्मचारी उपस्थित थे। कार्यक्रम स्थल पर लाल परेड ग्राउण्ड भोपाल से मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान का संदेश का सीधा प्रसारण सुना गया।
   मुख्यमंत्री श्री चौहान ने मुख्यमंत्री जनकल्याण योजना के लांचिंग अवसर पर उपस्थित लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि आज का दिन खून पसीना बहाने वाले श्रमिकों के लिये है। इन श्रमिकों के लिये इतिहास रचा जा रहा है। मुख्यमंत्री जनकल्याण योजना एक ऐसी योजना है। जो दुनिया में पहले कभी नहीं बनी। उन्होने कहा कि भगवान सबको समान बनाया, यह धरती सबके लिये बनाई परन्तु कुछ लोग अमीर बन गये और कुछ लोग गरीब रह गये। मुख्यमंत्री ने कहा कि यह योजना गरीब की जिन्दगी बदलने वाली योजना है। यदि किसी गरीब की जिन्दगी बदलती है तो मेरा जीवन सफल हो जाएगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि गरीबी हटाने के नारे तो बहुत लगाये गये लेकिन गरीबी नहीं हटी। हमने गरीबी हटाने का फार्मुला मध्यप्रदेश की धरती पर लाये है। उन्होने कहा कि किसी गरीब की जरूरत पुरी कर दो तो वह गरीब व्यक्ति की गरीबी दूर हो जाएगी। इसी को ध्यान में रखते हुए मध्यप्रदेश शासन गरीबों के कल्याण के लिये अनेक योजनाएं संचालित कर रही है।
   मुख्यमंत्री ने गरीब कल्याण योजनाओं की जानकारी देते हुए बताया कि अब मध्यप्रदेश की धरती पर कोई भी गरीब बिना जमीन के टुकडे के नही रहेगा। हर गरीब को जमीन का मालिक बनाया जाएगा। उसे पट्टा देकर कानूनी रूप से जमीन का मालिक बनाया जाएगा और फिर उस जमीन पर गरीब को आवास बनाकर दिया जाएगा। उन्होने आश्वस्त किया कि प्रदेश के हर गरीब के पास उसकी अपनी जमीन होगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि गरीब को प्रधानमंत्री आवास बनाकर दिये जाएंगे और जो शेष बचेंगे उन्हें मुख्यमंत्री अंत्योदय आवास योजना में आवास बनाकर दिये जाएंगे।
    मुख्यमंत्री ने मुख्यमंत्री जनकल्याण (संबल) योजना की जानकारी देते हुए बताया कि इस योजना के तहत गरीब पंजीकृत असंगठित श्रमिक के बच्चों की कक्षा पहली से लेकर कॉलेज तक की फीस शासन भरेगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि श्रमिक के बच्चे यदि उच्च शैक्षणिक कोर्स में प्रवेश लेते है तो उनकी मेडिकल की सालाना 8 लाख रूपए तक की फीस शासन वहन करेगी। मजदूर को अब मजबूर रहने नहीं दिया जाएगा। यदि श्रमिक बिमार होता है तो उसका उपचार शासकीय एवं निजि चिकित्सालय में किया जाएगा। यदि मजदूर की सामान्य मृत्यु होती है तो उसे दो लाख रूपए की राशि तथा दुर्घटना में मृत्यु होने पर चार लाख रूपए की राशि दी जाएगी। अंत्येष्टि सहायता के रूप में 5 हजार रूपए की राशि दी जाएगी। मुख्यमंत्री ने बताया कि गरीबों को अब मात्र 200 रूपए प्रतिमाह बिजली का बील देना होगा। मुख्यमंत्री ने बताया कि इस वर्ष प्रदेश के एक लाख युवाओं को विभिन्न व्यवसाय के लिये लोन दिया जाएगा। महिला स्वयं सहायता समूह की लोन की गारंटी शासन देगी और समूह के लोन पर तीन प्रतिशत ब्याज शासन वहन करेगी।
कार्यक्रम में इन्हें दी गई मदद
    मुख्यमंत्री जनकल्याण (सम्बल) योजना कार्यक्रम में 658 हितग्राहियों को 37 लाख 11 हजार राशि वितरण की गई। अन्त्येष्टी सहायता एवं अनुग्रह सहायता के प्रकरणों में श्रीमती नीरूबाला पति प्रेमचंद रेंकवार निवासी अयोध्याबस्ती मंदसौर, श्रीमती सुमित्रा पति महेन्द्र सांखले निवासी मयुर कॉलोनी मंदसौर एवं श्री जगदीश पिता कालुराम सोनगरा निवासी नरसिंहपुर मंदसौर प्रत्येक को 2 लाख 5 हजार के चेक वितरित किये गये। मुख्यमंत्री प्रसूति सहायता योजना के तहत श्रीमती करीना, श्रीमती अनुराधा, श्रीमती शबनम, श्रीमती मनीषा, श्रीमती फरीन प्रत्येक को 15-15 हजार सहायता वितरित की गई। स्वसहायता समुह तहत माही, गुंजन, चाहत, झासी की महारानी, विश्वपति, आस्था, द्वारकाधीश एवं बंधन समूह प्रत्येक को 10-10 हजार आवृतिनिधी राशि वितरीत की गई। प्रधानमंत्री उज्जवला योजना के तहत श्रीमती श्यामाबाई, श्रीमती कालीबाई गहलोद, श्रीमती कालीबाई वर्मा, श्रीमती नेहा परमार एवं निशाबाई को गेस चुल्हा वितरीत किया गया।
 
 
(68 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
जुलाईअगस्त 2018सितम्बर
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
303112345
6789101112
13141516171819
20212223242526
272829303112
3456789

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer