समाचार
|| ग्रामवासी ग्राम-सभाओं में भागीदारी करें - मंत्री श्री गोपाल भार्गव || राज्यपाल द्वारा स्वतंत्रता दिवस पर प्रदेशवासियों को बधाई और शुभकामनाएँ || शहीदों के माता-पिता को मिलेगी सम्मान निधि की 40 प्रतिशत राशि और 5 हजार रूपये पेंशन || नवीन शासकीय महाविद्यालयों में स्थानांतरित हो सकेंगे पंजीकृत विद्यार्थी || मॉडल हाई स्कूल में स्वाधीनता पर्व का आयोजन आज || बी.एड., एम.एड. में सीट आवंटन का तृतीय चरण 17 को || संभागीय बाल भवन में पुरस्कार वितरण समारोह 17 को वेबसाइट का लोकार्पण भी होगा || कलेक्टर ने नागरिकों से स्वतंत्रता दिवस समारोह में शामिल होने की अपील की || नागपंचमी त्यौहार में सर्पों के विरूद्ध अत्याचार रोकने वन विभाग का अमला चौकस || स्वतंत्रता दिवस पर सार्वजनिक भवनों में रोशनी के निर्देश
अन्य ख़बरें
चना, मसूर एवं सरसों में टोकनधारी पंजीकृत किसानों के उपार्जन का कार्य 14 एवं 15 जून को किया जायेगा
-
नरसिंहपुर | 13-जून-2018
 
 
   मध्यप्रदेश शासन के किसान कल्याण तथा कृषि विकास विभाग द्वारा प्राईस सपोर्ट स्कीम के अंतर्गत चना, मसूर एवं सरसों में टोकनधारी पंजीकृत किसानों के उपार्जन का कार्य 14 एवं 15 जून को किये जाने के संबंध में निर्देश जारी किये गये हैं।
   अधिसूचित कृषि उपज मंडियों में टोकनधारी किसानों के टोकन पर 9 जून के बाद तुलाई नहीं हो पाने के कारण किसानों के कृषि उत्पाद की ट्रालियों की लाईन लगी होने की सूचनायें मिलने पर राज्य शासन द्वारा किसान हित में निर्णय लिया गया है कि अनुमति प्राप्त उपार्जन केन्द्रों पर टोकनधारियों के उपस्थित होने की दशा में तुलाई 14 जून की सुबह से 15 जून की सायं 5 बजे तक ऑनलाइन पोर्टल पर कराई जायेगी। राज्य शासन ने नरसिंहपुर सहित 23 जिलों के चना, मसूर एवं सरसों के सभी उपार्जन केन्द्रों में ऑनलाइन उपार्जन टोकनधारी पंजीकृत किसानों की उपज की खरीदी 15 जून को सायं 5 बजे तक कराई जाने की अनुमति निर्धारित शर्तों के साथ प्रदान की है।
   इस सिलसिले में जारी निर्देशों में कहा गया है कि जिन किसानों को टोकन जारी किये गये एवं भूमि रकबा सत्यापित है, उनकी पात्रतानुसार ऑनलाइन उपार्जन किया जावे। ऑफलाइन जारी टोकन पर उपार्जन की अनुमति नहीं होगी। मंडी में नियुक्त राजस्व, कृषि, खाद्य एवं सहकारिता विभाग के अधिकारियों को संयुक्त दल की देखरेख में ही उपरोक्तानुसार उल्लेखित किसानों की तुलाई की जाना अनिवार्य होगा।
   चना, मसूर एवं सरसों के बिक्रेता किसान के पंजीयन में उल्लेखित बैंक खाते एवं भू- स्वामी के बैंक खाते का मिलान कराया जायेगा। साथ ही यह सुनिश्चित किया जायेगा कि वास्तविक किसान का ही बैंक खाता पंजीयन में दर्ज होने पर ही उपार्जन किया जावे। जिला प्रशासन द्वारा यह सुनिश्चित किया जायेगा कि उपार्जन कार्य पंजीकृत किसान द्वारा प्रदत्त वैध टोकन पर ही किया जा रहा है। इस योजना की सभी शर्तों एवं प्रक्रियाओं का पालन सुनिश्चित किया जायेगा।
   प्रत्येक दिन 40 क्विंटल की अधिकतम उपार्जन मात्रा की शर्त का पालन किया जायेगा। जिन पंजीकृत किसान द्वारा पूर्व में पंजीकृत फसल का विक्रय रबी उपार्जन सीजन में कर दिया गया है, उनके टोकन पर कृषि उत्पाद की तुलाई से पूर्व गहन जांच आवश्यक रूप से की जायेगी।
   शासन के निर्देशों के विपरीत टोकन जारी किये बगैर उपार्जन को मान्य किया जाना संभव नहीं होगा। जिन संस्थाओं द्वारा बगैर टोकन के उपार्जन किया गया होगा, उनके कर्मचारियों के विरूद्ध जिम्मेदारी तय करते हुए अनुशासनात्मक कार्रवाई की जायेगी। ऑनलाइन उपार्जन किये जाने वाले चना, मसूर एवं सरसों की मात्रा का भौतिक सत्यापन कराया जायेगा। भौतिक सत्यापन में उपार्जन केन्द्र पर एफएक्यू गुणवत्ता का स्कंध उपलब्ध होने पर ही खरीदी की जायेगी।
   उपार्जित मात्रा की ऑनलाइन पावती उपार्जन के समय ही जारी कर किसानों को दी जायेगी। ऑफलाइन खरीदी कदापि नहीं की जायेगी। चना, मसूर एवं सरसों के उपार्जन की वीडियोग्राफी भी कराई जायेगी। किसानों से उपार्जन एवं देयक जारी करने का कार्य 15 जून तक ही पूर्ण कराया जायेगा। इसके पश्चात किसी भी दशा में अनुमति नहीं दी जायेगी।
 
(63 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
जुलाईअगस्त 2018सितम्बर
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
303112345
6789101112
13141516171819
20212223242526
272829303112
3456789

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer