समाचार
|| घर से ही करा सकते हैं मोबाइल को आधार से लिंक || अन्तर्राष्ट्रीय बाघ दिवस 29 जुलाई को || हज यात्रियों को विशेष प्रशिक्षण 25 जुलाई तक || समाज कार्य स्नातक स्तरीय पाठ्यक्रम लेखन की समीक्षा 26 जुलाई को || पशुधन संजीवनी हेल्पलाइन टोल फ्री नंबर ‘‘1962’’ प्रारंभ || सीपीसीटी में हिंदी टाईपिंग अनिवार्य || स्कूलों की मान्यता के नवीनीकरण के लिए आयुक्त के पास अपील 20 से 26 जुलाई तक होगी || दिव्यांगजन अधिकार अधिनियम में 21 प्रकार की दिव्यांगताएं शामिल || उर्दू में 90 प्रतिशत से अधिक अंक लाने वाले विद्यार्थियों को मिलेगा पुरस्कार || सुदामा प्री मैट्रिक छात्रवृत्ति योजना
अन्य ख़बरें
फिर से मुस्कुराने लगी नन्ही.. गरिमा (सफलता की कहानी)
मुख्यमंत्री बाल हृदय उपचार योजना से निः.शुल्क हुआ उपचार
सिवनी | 10-जुलाई-2018
 
 
 
   जिला सिवनी के ग्राम परतापुर निवासी गरीब परिवार के श्री श्याम यादव की 03 वर्षीय पुत्री गरिमा हृदय में छेद बीमारी ग्रसित थी। जिसका शासन की जनकल्याणकारी योजना मुख्यमंत्री बाल हृदय उपचार योजना के तहत निः.शुल्क उपचार व ऑपरेशन हुआ। जिसके कारण श्री श्याम यादव की 3 वर्षीय बेटी गरिमा अब स्वस्थ्य हो मुस्कुराने लगी है। अपनी बेटी के चेहरे में युँ ख.शियाँ देख आज श्री श्याम यादव व उसका परिवार अतिउत्साहित है। साथ ही बच्ची के रोगोपचार हेतु शासन से मिलि सहायता रा.शि व समय पर हुये स्वास्थ्य परीक्षण व उचित मार्गदर्षन के लिये परिवार शासन/प्र.शासन का धन्यवाद देता है।  
   श्री श्याम यादव अपनी बेटी गरिमा के बारे में बताते हैं कि उनकी बेटी गरिमा जन्म से ही शांत व एकाकी रहती थी ठीक हस- बोल व रो  नहीं सकती थी। जैसे-जैसे वह बडी हो रही थी उसकी शांतपन व गुमसुदगी चेहरे पर कायम था। गरिमा अन्य बच्चों की भांति खेलना-कूदना व चहलकदमी नहीं करती थी। अपनी बेटी को मायूस व शांत देख व उसके भवि.श्य को लेकर माता-पिता भी हमेसा चिंतित रहते थे। उन्हें यह लग रहा था कि आखिर उनकी पुत्री में ये नि.श्क्रियता क्यों है।
   श्री श्याम यादव बताते हैं कि उनकी बेटी गांव के आंगनबाड़ी केन्द्र भेजते थे। एक दिन मुझे व मेरी पत्नी को आगंनवाडी केन्द्र में आये डाक्टर बुला रहे हैं तब श्री श्याम यादव आगनवाडी केन्द्र में पहुँच स्वास्थ्य परीक्षण करने आई चिकित्सकों की टीम के डॉ. शिवानी निषाद व डॉ. तारेन्द्र डेहरिया के द्वारा बच्ची का प्राथमिक स्वास्थ्य परीक्षण कर हमें गरिमा को संभावित हृदय रोग की समस्या से ग्रसित होने की जानकारी दी गई तथा गरिमा को जिला चिकित्सालय सिवनी में बेटी की जांचच/परीक्षण कराने की सलाह दी गई। तब मैं अपनी बच्ची को जिला चिकित्सालय सिवनी के मेडिकल विशेषज्ञ डॉ. टी.आर. बान्द्रे के समक्.श उपस्थित हुआ जहाँ उन्होंने ई.सी.जी. कर बच्ची के हृदय रोग से ग्रसित होने की पुष्टि करते हुए नागपुर में जाकर परीक्षण कराने की सलाह दी तब परीक्षण के लिये श्रीकृष्णा हृदयालय हॉस्पिटल भेजा गया जहाँ ईको कार्डियोंग्राफी में बच्ची के हृदय में जन्मजात छेद होना बताया गया। श्री श्याम बताते हैं कि बच्ची के हृदय में जन्मजात छेद की बात सुनते ही मेरी चिंतायें और बढ़ गई। गरीबी व आय का कोई साधन न होने के करण  बेटी के ईलाज हेतु मेरे पास पैसो का इंतजाम नहीं हो पा रहा था। तब मुझें जिला चिकित्सालय में कार्यरत फार्मासिस्ट गरिमा गोस्वामी और ए.एन.एम. इन्दु मालवीय व चिकित्सालय प्रबंधन द्वारा मदद कर मुख्यमंत्री बाल हृदय उपचार योजना की जानकारी देते हुये बेटी गरिमा के ऑपरे.शन के लिये मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डा.के.सी. मेश्राराम के निर्दे.शन में बच्ची के आपरेशन से संबंधित समस्त कागजी कार्यवाही पूर्ण की गई तथा कलेक्टर सिवनी श्री गोपालचंद्र डाड द्वारा बच्ची के निः.शुल्क आपरेशन के लिये 1 लाख 44 हजार रूपये की शासकीय सहायता रा.शि जारी करते हुए शुभकामनाएं दी। जिसकी सहायता से गरिमा का सफल आपरेशन हो पाया और आज नन्ही गरिमा फिर से मुस्कुराने लगी है उसे जन्मजात हृदय के छेद की बीमारी से निजात मिल गयी है।
 
(11 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
जूनजुलाई 2018अगस्त
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
2526272829301
2345678
9101112131415
16171819202122
23242526272829
303112345

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer