समाचार
|| घर से ही करा सकते हैं मोबाइल को आधार से लिंक || अन्तर्राष्ट्रीय बाघ दिवस 29 जुलाई को || हज यात्रियों को विशेष प्रशिक्षण 25 जुलाई तक || समाज कार्य स्नातक स्तरीय पाठ्यक्रम लेखन की समीक्षा 26 जुलाई को || पशुधन संजीवनी हेल्पलाइन टोल फ्री नंबर ‘‘1962’’ प्रारंभ || सीपीसीटी में हिंदी टाईपिंग अनिवार्य || स्कूलों की मान्यता के नवीनीकरण के लिए आयुक्त के पास अपील 20 से 26 जुलाई तक होगी || दिव्यांगजन अधिकार अधिनियम में 21 प्रकार की दिव्यांगताएं शामिल || उर्दू में 90 प्रतिशत से अधिक अंक लाने वाले विद्यार्थियों को मिलेगा पुरस्कार || सुदामा प्री मैट्रिक छात्रवृत्ति योजना
अन्य ख़बरें
प्रदेश में 15 जुलाई से चलेगा पौधा रोपण अभियान - मुख्यमंत्री श्री चौहान
केन्द्र में लंबित योजनाओं पर विशेष ध्यान दें - सोयाबीन जैसी फसलों के निर्यात की संभावनाएँ खोजें, मुख्यमंत्री ने की सभी विभागों की प्रमुख योजनाओं की समीक्षा
आगर-मालवा | 11-जुलाई-2018
 
   
    मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने गत दिवस मंत्रालय में सभी विभागों की प्रमुख योजनाओं की समीक्षा करते हुए विभाग प्रमुखों को निर्देश दिये कि केन्द्र सरकार में विभिन्न स्तरों पर स्वीकृति के लंबित योजनाओं और प्रस्तावों पर विशेष ध्यान दें। संबंधित केन्द्रीय मंत्रालयों के संबंधित अधिकारियों से लगातार संपर्क में रहें। श्री चौहान ने इस मौके पर वित्त, स्कूल शिक्षा, समाज कल्याण, सहकारिता, नागरिक आपूर्ति, कृषि, चिकित्सा शिक्षा, महिला बाल विकास, राजस्व आदि महत्वपूर्ण विभागों की योजनाओं की समीक्षा की।
   मुख्यमंत्री श्री चौहान ने 15 जुलाई से प्रदेश में पौधा रोपण अभियान चलाने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि दो अक्टूबर तक सभी जिलों को खुले में शौच से मुक्त घोषित करने के लिये तेजी से काम करें। कृषि विभाग की समीक्षा करते हुए उन्होंने कहा कि किसानों का सोयाबीन विदेशों को निर्यात करने की संभावना तलाशने के लिये केन्द्र सरकार के संबंधित विभागों और एजेंसियों से चर्चा करें।
   श्री चौहान ने मुख्यमंत्री जन-कल्याण (संबल) योजना की समीक्षा करते हुए कहा कि यह योजना पण्डित दीनदयाल उपाध्याय के अंत्योदय दर्शन से प्रेरित है। सरकार गरीबों और कमजोर वर्ग के लोगों को सामाजिक न्याय दिलाने के लिये प्रतिबद्ध है। उन्होंने कहा कि सभी विभाग अपनी प्रमुख योजनाओं के क्रियान्वयन पर पूरा ध्यान लगायें। सभी योजनाएं गरीबों को लाभ देने वाली और प्रदेश की अर्थ-व्यवस्था को मजबूत करने वाली हैं। कई योजनाओं को अन्य राज्यों ने अपनाया है और प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने सराहना की है।
    मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि प्रदेश की योजनाओं का स्वरूप लोगों की भागीदारी के साथ काम करने का है। उन्होंने स्कूल शिक्षा विभाग के मिल बांचे कार्यक्रम का उल्लेख करते हुए कहा कि समाज की भागीदारी से यह कार्यक्रम लोकप्रिय हो गया है। इसी प्रकार केन्द्र सरकार की सरकारी खरीद की एकीकृत व्यवस्था जैम से खरीदी में मध्यप्रदेश अग्रणी है। उन्होंने कहा कि लाड़ली लक्ष्मी, उज्जवला, व्यापार करने के आसान तरीके अपनाने, मेधावी विद्यार्थियों को आगे पढ़ने के मौके देने की ओर प्रदेश ने पूरे देश का ध्यान आकृष्ट किया है।  
    इस अवसर पर विभागीय मंत्री, मुख्य सचिव श्री बी. पी. सिंह और सभी विभागों के विभाग प्रमुख उपस्थित थे।
(11 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
जूनजुलाई 2018अगस्त
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
2526272829301
2345678
9101112131415
16171819202122
23242526272829
303112345

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer