समाचार
|| लोक सेवा स्थापना दिवस आज || अपार उत्साह और उमंग के साथ निकली नयनाभिराम झांकियाँ (अनंत चतुदर्शी चल समारोह-2018) || सेक्टर अधिकारियों को क्षेत्र में भ्रमण करने के निर्देश || तीन जनपद पंचायत क्षेत्रों के बी.एल.ओ., सुपरवाईजरों का एक दिवसीय प्रशिक्षण आयोजित हुआ || पर्यटन पर्व-2018 का दूसरा दिन (पर्यटन पर्व-2018) || कलेक्टर ने पोस्टर का विमोचन किया || मुख्यमंत्री ऋण समाधान योजना का लाभ 30 सितम्बर तक || सरल बिजली बिल स्कीम में शामिल होने के लिए || सरकारी खरीदी मे पारदर्शिता लाने पोर्टल हुआ प्रारंभ || पंजीकृत किसानों का विवरण ई-उपार्जन पोर्टल पर पृथक संधारित किया जाएगा
अन्य ख़बरें
विश्व जनसंख्या दिवस पर रैली आयोजित
-
जबलपुर | 11-जुलाई-2018
 
  
   विश्व जनसंख्या दिवस 11 जुलाई को सेठ गोविन्ददास (विक्टोरिया) जिला चिकित्सालय से छोटा परिवार सुखी परिवार का महत्व बताने हेतु स्वास्थ्य विभाग के कर्मचारियों एवं आशा कार्यकत्र्ताओं द्वारा रैली निकाली गई।  यह रैली शहर के विभिन्न मार्गों से होती हुई वापस विक्टोरिया अस्पताल में ही समाप्त हुई।  रैली को हरी झंडी मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. एम.एम. अग्रवाल द्वारा दिखाई गई।  इस अवसर पर डीएचओ डॉ. ए. नगरिया, डॉ. प्रदीप अग्रवाल, सिविल सर्जन डॉ. एस.के. पाण्डे, आरएमओ डॉ. संजय जैन, डीटीओ डॉ. धीरज दवंडे, एमईआईओ अजय कुरील, डीएमओ नीता मिश्रा आदि बड़ी संख्या में जनसमुदाय व कर्मचारी मौजूद रहे।
    बढ़ती हुई जनसंख्या देश के विकास में सबसे बड़ी बाधा है क्योंकि जिस तरह से जनसंख्या का विस्फोट प्रति सेकण्ड हो रहा है उसके सामने देश का विकास नगण्य होता जा रहा है जिसके कारण देश में कुपोषण, भुखमरी, अशिक्षा, बेरोजगारी, अपराध, दिन-प्रतिदिन बढ़ते जा रहे हैं वहीं दूसरी तरफ जल संसाधन, रोजगार, जमीन, पेड़ पौधे आदि कम होते जा रहे हैं। इसलिए हम सभी को आज यह संकल्प लेना होगा कि हमे अपना परिवार छोटा रखना होगा ताकि दूसरों को भी छोटा परिवार रखने के लिए प्रेरित हो सकें।  जनसंख्या नियंत्रण हेतु शासन द्वारा समय-समय पर अनेक हितग्राही योजनाओं का क्रियान्वयन किया जाता है।  सभी स्वास्थ्य संस्थाओं, आंगनबाड़ी केन्द्रों के माध्यम से नि:शुल्क कंडोम, ओरल पिल्स का वितरण किया जाता है।  वर्तमान में शासन द्वारा छाया गर्भनिरोधक गोली का शुभारंभ किया गया है जिसे पहले 3 माह सप्ताह में 2 बार, फिर 3 माह बाद सप्ताह में 1 बार गोली खाना है।  इसी प्रकार अंतरा इंजेक्शन भी जन्म में अन्तर रखने का एक महत्वपूर्ण साधन है।  यह इंजेक्शन 3 माह में 1 बार, वर्ष में 4 बार इंजेक्शन लगाकर अनचाहे गर्भ को रोका जा सकता है। आईयूसीडी, पीपीआईयूसीडी गर्भ को रोकने का सबसे अच्छा साधन हैं। ये 10 वर्ष एवं 5 वर्ष के लिए लगाई जाती है।  इसी प्रकार स्थायी साधन में पुरूष नसबंदी एवं महिला नसबंदी सभी स्वास्थ्य संस्थाओं में नि:शुल्क किये जाते हैं, जिसके लिए महिला एवं पुरूष हितग्राही को शासन द्वारा क्षतिपूर्ति राशि प्रदान की जाती है।
    जनसंख्या स्थिरीकरण हेतु शासन द्वारा प्रेरणा योजना चलाई जा रही है, जिसमें आदर्श दंपत्ति की अनिवार्य योग्यताएं जो जरूरी हैं।  इसमें दंपत्ति गरीबी रेखा के नीचे हो, शादी 2011 के बाद होनी चाहिए।  महिला की शादी 19 वर्ष के बाद हुई हो।  पहले बच्चे का जन्म शादी के 2 वर्ष के बाद हो, दूसरे बच्चे का जन्म पहले बच्चे से कम से कम 3 वर्ष बाद हुआ हो, एक वर्ष के भीतर दंपत्ति के किसी भी 1 सदस्य ने स्थायी परिवार नियोजन साधन अपनाया हो तो उपरोक्त सभी शर्त पूरा करने पर प्रोत्साहन राशि 10,000 रूपये यदि पुत्र हो, 12000 रूपये यदि पुत्री हो।  उपरोक्त सभी शर्त पूर्ण करने पर प्रोत्साहन राशि 15000 रूपये यदि दोनों पुत्र हों, 17000 रूपये यदि 1 पुत्र एवं 1 पुत्री हो, 19000 रूपये यदि दोनों पुत्री हों देने का प्रावधान है।
    इस पुरस्कार के लिए जिन प्रमाण पत्रों की आवश्यकता है उनमें दंपत्ति का बीपीएल प्रमाण पत्र, माता की जन्मतिथि प्रमाण पत्र, दंपत्ति का विवाह प्रमाण पत्र शासकीय विभाग द्वारा जारी, बच्चों का जन्म प्रमाण पत्र, माता एवं पिता में किसी एक का नसबंदी प्रमाण पत्र सरकारी अस्पताल द्वारा जारी होना चाहिए। जबलपुर में प्रेरणा योजना से इस वर्ष 190 हितग्राहियों को लाभांवित किया जा चुका है।
(75 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
अगस्तसितम्बर 2018अक्तूबर
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
272829303112
3456789
10111213141516
17181920212223
24252627282930
1234567

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer