समाचार
|| उद्योग धंधों को विकसित करने के लिए सरकार हर संभव सहयोग करेगी – मंत्री श्री आरिफ अकील || शाला बंद पाये जाने पर शिक्षकों को नोटिस || जलशोधन यंत्रालय में अनियमितता पाने पर सीएमओ को नोटिस || जलशोधन यंत्रालय में समुचित व्यवस्थाएं नहीं देख कलेक्टर हुए नाराज || छः पटवारियों को कलेक्टर ने लगाई फटकार || प्रायवेट स्कूलों की मान्यता नवीनीकरण, ऑनलाइन आवेदन की अंतिम तिथि 30 जून || मुख्यमंत्री जनसुनवाई कार्यक्रम में नवाचार || स्वरोजगार योजना का लाभ लेने के लिए एमपी ऑनलाईन के माध्यम से 30 जून तक करें आवेदन || महिलाओं का कार्यस्थल पर लैंगिक उत्पीड़न की रोकथाम के संबंध में कार्यशाला संपन्न || प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना का क्रियान्वयन अभियान चलाकर करें - कलेक्टर डॉ. रावत
अन्य ख़बरें
मध्यप्रदेश विधानसभा चुनाव-2018 की घोषणा (प्रेस वार्ता)
28 नवम्बर को होगा मतदान, 11 दिसम्बर को होगी मतगणना, जिला निर्वाचन अधिकारी ने दी चुनाव कार्यक्रम तथा आदर्श आचार संहिता की जानकारी
रायसेन | 06-अक्तूबर-2018
 
   
   जिला निर्वाचन अधिकारी एवं कलेक्टर श्रीमती एस प्रिया मिश्रा ने कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में प्रेस वार्ता आयोजित कर विधानसभा चुनाव 2018 के लिए भारत निर्वाचन आयोग द्वारा जारी निर्वाचन कार्यक्रम की घोषणा के बारे में बताया कि विधानसभा चुनाव के लिए अभ्यर्थियों द्वारा नामांकन फार्म 02 नवम्बर 2018 (शुक्रवार) से भरे जाएंगे तथा नामांकन की अंतिम तिथि 09 नवम्बर 2018 (शुक्रवार) को दोपहर 03 बजे तक निर्धारित की गई है। नामांकन पत्रों की संवीक्षा 12 नवम्बर 2018 (सोमवार) को की जाएगी तथा नाम वापस लेने की अंतिम तिथि 14 नवम्बर 2018 (बुधवार) को दोपहर 03 बजे तक निर्धारित की गई है। मतदान 28 नवम्बर 2018 (बुधवार) को किया जाएगा तथा मतगणना 11 दिसम्बर 2018 को की जाएगी।   
    जिला निर्वाचन अधिकारी श्रीमती एस प्रिया मिश्रा ने विधानसभा चुनाव के लिए कार्यवाहियों तथा तैयारियों की जानकारी देते हुए कहा कि मीडिया लोकतंत्र का चौथा स्तंभ है और लोकतंत्र को मजबूत करने के लिए जनजागृति में पत्रकारों की महती भूमिका है। उन्होंने गत चुनावों में मीडिया की रचनात्मक भूमिका की सराहना करते हुए विधानसभा चुनाव में भी सहयोग की अपेक्षा की है।   
    श्रीमती एस प्रिया मिश्रा द्वारा चुनाव प्रचार के दौरान उम्मीदवारों, राजनैतिक पार्टियों, मीडियाजनों एवं अन्य व्यक्तियों द्वारा उपयोग में लाए जा रहे विविध साधनों, माध्यमों तथा खर्च आदि के लिए निर्धारित सीमाओं, अनुमतियों एवं व्यय आदि के लिए आदर्श आचार संहिता एवं अन्य अधिनियमों में वर्णित प्रावधानों तथा उनके उल्लंघन पर की जाने वाली कार्रवाई के संबंध में विस्तार से अवगत कराया गया।
    उन्होंने बताया कि आदर्श आचार संहिता का पालन सुनिश्चित करने के लिए एफएसटी, एसएसटी, वीवीटी, वीएसटी तथा एमसीएमसी कमेटी का गठन किया जा चुका है, जो चुनाव आयोग के निर्देशों का पालन सुनिश्चित करेंगे। उन्होंने बताया कि दिव्यांग मतदाता बिना किसी व्यवधान के अपना मतदान कर सके, इसके लिए विशेष सुविधा की गई है। उन्होंने बताया कि चुनाव गतिविधियों की सूचनाओं के आदान-प्रदान के लिए कंट्रोल रूम बनाए गए हैं। प्रेस वार्ता में एसपी श्री जगत सिंह राजपूत, उप जिला निर्वाचन अधिकारी श्री एमपी बरार तथा डिप्टी कलेक्टर कु. प्रियंका मिमरोट भी उपस्थित थीं।
मतदान केन्द्रों की संख्या
    जिला निर्वाचन अधिकारी श्रीमती एस प्रिया मिश्रा ने बताया कि जिले के चारों विधानसभा क्षेत्रों में कुल 1206 मतदान केन्द्र बनाए गए हैं। जिनमें विधानसभा क्षेत्र क्रमांक-140 उदयपुरा में 308 मतदान केन्द्र, विधानसभा क्षेत्र क्रमांक-141 भोजपुर में 299 मतदान केन्द्र, विधानसभा क्षेत्र क्रमांक-142 सांची में 326 मतदान केन्द्र तथा विधानसभा क्षेत्र क्रमांक-143 सिलवानी में 273 मतदान केन्द्र बनाए गए हैं।
मतदाताओं की संख्या
    जिला निर्वाचन अधिकारी श्रीमती एस प्रिया मिश्रा ने जिले में मतदाताओं की संख्या के बारे में जानकारी देते हुए बताया कि मतदाता सूची के अनुसार जिले में कुल 878659 मतदाता हैं, जिनमें 470882 पुरूष मतदाता, 407749 महिला मतदाता तथा 28  अन्य मतदाता शामिल हैं। विधानसभा क्षेत्र उदयपुरा में कुल 225010 मतदाता हैं जिनमें 120942 पुरूष मतदाता, 104058 महिला मतदाता तथा 10 अन्य मतदाता शामिल हैं। विधानसभा क्षेत्र भोजपुर में कुल 223562 मतदाता हैं जिनमें 120121 पुरूष मतदाता, 103434 महिला मतदाता तथा सात अन्य मतदाता शामिल हैं।
    इसी प्रकार विधानसभा क्षेत्र सांची में कुल 232474 मतदाता हैं जिनमें 124565 पुरूष मतदाता, 107899 महिला मतदाता एवं 10 अन्य मतदाता शामिल हैं। विधानसभा क्षेत्र सिलवानी के तहत कुल 197613 मतदाता हैं जिनमें 105254 पुरूष मतदाता, 92358 महिला मतदाता तथा एक अन्य मतदाता शामिल हैं।
आदर्श आचार संहिता का पालन
    कलेक्टर श्रीमती एस प्रिया मिश्रा ने कहा कि भारत निर्वाचन आयोग द्वारा निर्वाचन की घोषणा के तत्काल पश्चात आदर्श आचार संहिता प्रभावशील हो गई है। उन्होंने बताया कि धार्मिक स्थलों से चुनाव प्रचार संबंधी गतिविधियां वर्जित रहेगीं। शासकीय एवं अशासकीय शालाओं के परिसर में चुनाव सभाएं नहीं होगीं। आदर्श आचार संहिता के संबंध में किसी प्रकार की शिकायत होने पर जिला निर्वाचन अधिकारी, उप जिला निर्वाचन अधिकारी और निर्वाचन क्षेत्र में अनुविभागीय दण्डाधिकारी तथा अनुविभागीय अधिकारी पुलिस में गठित प्रकोष्ठ में शिकायत कर सकते हैं। इसके अतिरिक्त संबंधित तहसीलदार से शिकायत की जा सकती है।
संपत्ति विरूपण अधिनियम का पालन
    कलेक्टर श्रीमती एस प्रिया ने बताया कि संपत्ति विरूपण अधिनियम 1994 के आदेशों का पालन सुनिश्चित किया जाए। इस अधिनियम के तहत संपत्ति की स्वामी की लिखित अनुमति के बिना सार्वजनिक दृष्टि से आने वाली किसी सम्पत्ति को स्याही, खडिया, रेग या किसी अन्य पदार्थ से लिखकर या चिन्हित करके उसे विरूपित करने पर एक हजार रूपए तक के जुर्माने से दण्डनीय हो सकेगा। यदि किसी राजनैतिक दलों या अन्य व्यक्तियों द्वारा शासकीय एवं अशासकीय भवनों पर बैनर लगाए जाते हैं तथा विद्युत टेलीफोन के पोल पर झण्डे लगाए जाते हैं तो उनके विरूद्ध कार्रवाई की जाएगी।
प्रकाशकों एवं मुद्रकों के लिए निर्देश
    जिला निर्वाचन अधिकारी ने बताया कि लोक प्रतिनिधित्व अधिनियम 1951 की धारा 127(क) के अंतर्गत किसी भी प्रकार की सामग्री आदि के प्रकाशन पर प्रकाशन का नाम, मुद्रण का नाम तथा पता मुख्य पृष्ठ पर अंकित होना चाहिए। राजनैतिक दलों द्वारा मंच आदि की स्वयं व्यवस्था की जाएगी। मंचों पर आसीन होने वाले लोगों की सूची पूर्व से ही जिला प्रशासन तथा पुलिस को दी जाएगी।
सभाओं एवं वाहनों की अनुमति
    निर्वाचन अवधि में राजनैतिक दलों एवं प्रतिनिधियों को आम सभाओं तथा जुलूसों के संबंध में किसी प्रस्तावित स्थल और समय के बारे में स्थानीय राजस्व, पुलिस अधिकारियों को पूर्व में सूचना देकर अनुमति लेना चाहिए ताकि शांति एवं कानून व्यवस्था बनी रहे। नगरों के व्यस्ततम क्षेत्रों जहां बाजार लगते हो या मुख्य सड़क किनारे आम सभाओं के पूर्व अनुमति लिया जाना अनिवार्य होगा। साथ ही ध्वनि विस्तारक यंत्रों द्वारा चुनाव प्रचार-प्रसार, आम सभा, जुलूस निकालने से पूर्व संबंधित अधिकारी से अनुमति लेना होगा।
पेड न्यूज की मॉनीटरिंग
    विधानसभा चुनाव में टीवी चैनल, केबल नेटवर्क एवं संचार के माध्यमों में चलने वाले विज्ञापनों, समाचारों सहित समस्त सामग्री की मॉनीटरिंग की जाएगी। इसके लिए मीडिया मॉनीटरिंग सेल की स्थापना की गई है। चुनाव प्रचार संबंधी विज्ञापनों के प्रसारण के लिए जिला एमसीएमसी समिति से सर्टिफिकेट प्राप्त करना अनिवार्य होगा। जिला स्तरीय एमसीएमसी कमेटी में केवल अभ्यर्थी ही आवेदन करेंगे, राजनैतिक दलों को राज्य स्तरीय एमसीएमसी कमेटी में आवेदन करना होगा।
    कलेक्टर श्रीमती एस प्रिया मिश्रा ने कहा कि आदर्श आचार संहिता प्रभावशील होने के साथ ही केबल नेटवर्क अधिनियम, प्रेस एवं पुस्तक पंजीकरण अधिनियम, लोक प्रतिनिधित्व अधिनियम 1951 तथा भारत निर्वाचन आयोग के दिशा निर्देशों का पालन सुनिश्चित किया जाएगा।
महत्वपूर्ण दूभाष नम्बर
    निर्वाचन गतिविधियों की सूचनाओं के आदान-प्रदान के लिए जिला कार्यालय में कंट्रोल रूम बनाया गया है। चुनाव संबंधी सूचना एवं जानकारी के लिए जिला निर्वाचन अधिकारी कार्यालय के दूरभाष नम्बर 07482-223201, भारत निर्वाचन कार्यालय के दूरभाष नम्बर 07482-223486 तथा निर्वाचन कंट्रोल रूम के दूरभाष नम्बर 07482-222093 पर सम्पर्क किया जा सकता है।
(262 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
मईजून 2019जुलाई
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
272829303112
3456789
10111213141516
17181920212223
24252627282930
1234567

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer