समाचार
|| केबल अधिनियम 1995 के दिशा निर्देशों का पालन करें - कलेक्टर || अभ्यर्थियों एवं राजनैतिक दलों को आपराधिक मामलों की समाचार पत्रों एवं इलेक्ट्रॉनिक मीडिया में करनी होगी घोषणा-जिला निर्वाचन अधिकारी || शस्‍त्र लायसेंस 22 अक्‍टूबर तक जमा कराना अनिवार्य || विदेशी पटाखों के विक्रय पर प्रतिबंध || आबकारी विभाग द्वारा 146 लीटर शराब जब्त || जिला स्तरीय मास्टर ट्रेनर का प्रशिक्षण सम्पन्न || मतदान के दिन कामगारों को सवैतनिक अवकाश || मतदाता जागरूकता हेतु साईकिल रैली आयोजित || अभ्यर्थियों को शपथ पत्र में देनी होगी लंबित या दोषसिद्ध आपराधिक प्रकरणों की जानकारी || कलेक्‍टर ने किया मध्‍य रात्रि को जेल का आकस्मिक निरीक्षण आपत्तिजनक सामग्री मिलने पर जेल अधीक्षक को दिए नियमित निरीक्षण के निर्देश
अन्य ख़बरें
मुद्रक प्रकाशक की लिखित सहमति के बाद ही छापे - कलेक्टर श्री वीरेन्द्र सिंह रावत
प्रारूप अ एवं ब में जानकारी देना जरूरी कलेक्टर ने ली बैठक, प्रकाशन सामग्री के मुद्रण की राशि के साथ चैक क्रमांक एवं दिनांक की जानकारी देना जरूरी
दतिया | 10-अक्तूबर-2018
 
 
   विधानसभा निर्वाचन 2018 के दौरान विभिन्न राजनैतिक दलों और अभ्यर्थियों द्वारा प्रचार-प्रसार के लिए मुद्रित कराये जाने वाले बैनर, पोस्टर, हैण्डबिल, बुकलेट व विज्ञापनों की मॉनीटरिंग जिला स्तर पर की जा रही है। जिसके विभिन्न प्रावधानों से मुद्रक व प्रकाशकों को अवगत कराने के लिए प्रिंटिग प्रेस एवं फ्लैक्स निर्माताओं की बैठक कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी श्री वीरेन्द्र सिंह रावत की अध्यक्षता में सम्पन्न हुई। जिसमें उप जिला निर्वाचन अधिकारी श्री टीएन सिंह द्वारा भारत निर्वाचन आयोग के प्रावधानों से लोक प्रतिनिधित्व अधिनियम 191 की धारा 127 (क) का पालन करने के निर्देश दिए है।
    अपर कलेक्टर द्वारा जो प्रमुख रूप से निर्देश दिए गए है उसके अनुसार लोक प्रतिनिधित्व अधिनियम की धारा 127 क के तहत् कोई भी व्यक्ति ऐसे निर्वाचन पुस्तिका या पोस्टर जिसके मुख्य पृष्ठ पर उसके मुद्रक और प्रकाशक का नाम पता न हो मुद्रित और प्रकाशित नही करेगा और न मुद्रित और प्रकाशित करायेगा। किसी भी सामग्री के प्रकाशन से पूर्व प्रकाशक के हस्ताक्षरित और दो व्यक्तियों द्वारा गवाह के रूप में हस्ताक्षरित घोषणा पत्र को मुद्रक को लेना अनिवार्य है। प्रकाशक जिला निर्वाचन अधिकारी अथवा रिटर्निंग आफीसर को प्रकाशक के घोषणा पत्र संख्या आदि प्रारूप अ तथा ब में भरकर देगा। इस प्रकार की प्रक्रिया न अपनाने पर अधिनियम 127 के तहत् एफआईआर दर्ज की जायेगी।
    निर्वाचन के अंतर्गत विधानसभा क्षेत्र 20 सेवढ़ा, 21 भाण्ड़ेर तथा 22 दतिया के अंतर्गत निर्वाचन प्रक्रिया में भाग लेने वाले सभी अभ्यर्थी, राजनैतिक दल प्रचार-प्रसार हेतु मुद्रित कराये जाने वाली सभी समाग्री की एक प्रति जिला स्तरीय मीडिया सर्टीफिकेशन एवं मॉनीटररिंग एमसीएमसी कमेटी नवीन कलेक्ट्रेट स्थित कक्ष तथा क्षेत्र के रिटर्निंग आफीसर व्यय लेखा शाखा को भी प्रकाशक द्वारा प्रदत्त कार्य आदेश का निर्धारित प्रारूप अ तथा ब में तीन दिवस के अंदर दिया जाना जरूरी है।  
    मुद्रक द्वारा प्रारूप अ में प्रकाशन कराने आए व्यक्ति का नाम, पता, फोन, मोबाईल, आईडी प्रूफ, किस अभ्यर्थी के लिए सामग्री मुद्रित कराई जाना है। अभ्यर्थी का नाम, राजनैतिक दल का नाम विधानभा क्षेत्र, कार्य आदेश का दिनांक, सामग्री का स्वरूप, बैनर, पोस्टर, हैण्ड़बिल, बुकलेट, स्टीकर अन्य सामग्री, आकार, संख्या, लागत आवेदक के हस्ताक्षर, दो पहचान कर्ताओं के हस्ताक्षर सहित जानकारी प्रारूप अ में दी जायेगी।
    मुद्रक प्रारूप ब में कलेक्टर, रिटर्निंग आफीसर दतिया, सेवढ़ा, भाण्ड़ेर, प्रभारी मीडिया सर्टीफिकेशन कमेटी को मुद्रण सामग्री की जानकारी देगा। जिसमें प्रिंटिंग प्रेस का नाम, प्रत्याशी का नाम, विधानसभा क्षेत्र, विधानसभा सामग्री का प्रकार, बैनर, पोस्टर, हैण्डबिल, बुकलेट, स्टीकर अन्य सामग्री आकार संख्या, लागत की जानकारी भरकर देगा साथ ही उसमें यह भी उल्लेख करेगा कि मैने इस कार्य के एवज में कुल राशि इतने रूपये चैक क्रमांक इतने-इतने के द्वारा दिनांक इतने-इतने को प्राप्त की है।
(7 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
सितम्बरअक्तूबर 2018नवम्बर
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
24252627282930
1234567
891011121314
15161718192021
22232425262728
2930311234

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer