समाचार
|| रक्तदान महान पुण्य कार्य है : मंत्री श्री सिलावट || हर समाज में बेटियों का शिक्षित होना जरूरी : मंत्री श्री शर्मा || केन्द्र से कोश्यारी समिति की रिपोर्ट लागू करवाने की पहल करेंगे : मंत्री श्री शर्मा || हर वर्ग और समाज की माँगें पूरी करने के प्रयास किये जाएंगे : मंत्री श्री शर्मा || रक्तदान महान पुण्य कार्य है - मंत्री श्री सिलावट || सरकारी अस्पतालों में निजी चिकित्सकों की सेवाएँ लेना विचाराधीन || किसान के बेटे प्रवीण एवं अशोक को भी मिली सीएसए माइक्रो एटीएम गु्रप मे नौकरी (खुशियों की दास्तां) || केन्द्र से कोश्यारी समिति की रिपोर्ट लागू करवाने की पहल करेंगे : मंत्री श्री शर्मा || जी.एस.टी. से संबंधित कठिनाइयों का शीघ्र निराकरण होगा || किसानों को ऋण माफी के साथ दिया जाएगा सम्मान पत्र
अन्य ख़बरें
धारा 144 तहत प्रतिबंधात्मक आदेश लागू
-
जबलपुर | 11-अक्तूबर-2018
 
    कलेक्टर छवि भारद्वाज ने स्वतंत्र और निष्पक्ष रूप से विधानसभा निर्वाचन 2018 सम्पन्न कराने के लिए दण्ड प्रक्रिया संहिता 1973 की धारा 144 (1) के तहत प्रतिबंधात्मक आदेश जारी किया है। जो जिले में तत्काल प्रभाव से प्रभावशील हो गया है।
    इस आदेश के तहत कोई भी व्यक्ति जिसमें शस्त्र अनुज्ञप्तिधारी व्यक्ति भी सम्मिलित है। सम्पूर्ण निर्वाचन प्रक्रिया के दौरान सार्वजनिक स्थान पर शस्त्र लेकर विचरण नहीं कर सकता है। घातक अस्त्र-शस्त्र जैसे फरसा, बल्लम, तलवार, भाला, चाकू, कुल्हाड़ी, गुप्ती, बरछी, त्रिशूल, लाठी इत्यादि लेकर सार्वजनिक स्थल पर विचरण नहीं कर सकेगा और न ही इनका प्रदर्शन सार्वजनिक स्थलों पर किया जाएगा। कोई भी व्यक्ति सार्वजनिक स्थल पर फटाखा अथवा विस्फोटक सामग्री, ज्वलनशील पदार्थ, मशाल आदि का उपयोग नहीं कर सकेगा। सार्वजनिक सभा, नुक्कड़ सभा, रैली का आयोजन तथा इन कार्यक्रमों के दौरान किसी भी आकार के झण्डे, बैनर, पोस्टर्स का प्रदर्शन हेतु सक्षम प्राधिकारी से अनुमति बिना नहीं कर सकेगा। ध्वनि विस्तारक यंत्र के उपयोग हेतु भी सम्बन्धित सक्षम प्राधिकारी से लिखित अनुमति प्राप्त की जाना अनिवार्य होगा। ध्वनि विस्तारक यंत्र का उपयोग रात्रि 10 से प्रात: 6 बजे तक पूर्णत: प्रतिबंधित रहेगा।
    प्रतिबंधात्मक आदेश में प्रावधान है कि चुनाव प्रचार हेतु सामग्री पर प्रकाशक, मुद्रक का नाम, मुद्रित पृष्ठों की संख्या अंकित की जाए एवं लोक प्रतिनिधित्व अधिनियम 1951 की धारा 127 “क” का अक्षरश: पालन किया जाए। आदर्श आचरण संहिता नियत प्रावधानों का अक्षरश: पालन सुनिश्चित किया जाए। कोई भी व्यक्ति शासकीय अथवा सार्वजनिक परिसम्पत्ति को विरूपित नहीं करेगा। निजी परिसम्पत्ति के मामलों में सम्पत्ति मालिक की लिखित अनुज्ञा लेकर ही करेगा। मध्यप्रदेश कोलाहल नियंत्रण अधिनियम 1985 एवं ध्वनि प्रदूषण नियम 2000, सम्पत्ति विरूपण अधिनियम, धार्मिक संस्था (दुरूपयोग निवारण) अधिनियम का अक्षरश: पालन करना होगा। निर्वाचन आयोग द्वारा समय-समय पर दिए गए निर्देशों का पालन करना होगा।
    यह आदेश ड्यूटी पर तैनात पुलिस, सशस्त्र बल, सेना, होमगार्ड, एनसीसी, फायर ब्रिगेड कर्मचारी, ड्यूटी पर तैनात कार्यपालिक मजिस्ट्रेट, सुरक्षा कर्मचारियों, एम्बुलेंस पर प्रभावशील नहीं माना जाएगा।  
(129 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
जनवरीफरवरी 2019मार्च
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
28293031123
45678910
11121314151617
18192021222324
25262728123
45678910

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer