समाचार
|| भाप्रसे के 25 के अधिकारियों की नवीन पद-स्थापना || मध्यप्रदेश "पानी का अधिकार" कानून बनाने की पहल करने में अग्रणी || स्लम रिडेव्हलपमेंट पॉलिसी बनायी जायेगी - मंत्री श्री जयवर्द्धन सिंह || शिशु-मातृ मृत्यु दर पर नियंत्रण राज्य सरकार की प्राथमिकता - मंत्री श्री सिलावट || इंदौर-इच्छापुर-एदलाबाद (महाराष्ट्र) राष्ट्रीय राजमार्ग का कार्य शीघ्र शुरू करे-मंत्री श्री यादव || परिवहन मंत्री श्री गोविंद सिंह राजपूत ने की स्कूल-कॉलेज मालिक-प्रतिनिधियों से चर्चा || यात्री वाहनों के अनुज्ञा-पत्रों की समीक्षा और सुझाव के लिये समिति गठित || ग्राम पंचायतें बनायें पानी का बजट - ग्रामीण विकास मंत्री श्री पटेल || मध्यप्रदेश में अब घोषणा नहीं, काम करने वाली सरकार : मुख्यमंत्री श्री नाथ || प्रदेश में 26 जून को मनाया जाएगा अंतर्राष्ट्रीय नशा निवारण दिवस
अन्य ख़बरें
नवागत कलेक्टर ने 50 से अधिक आवेदनों पर जनसुनवाई की
-
उज्जैन | 08-जनवरी-2019
 
  
   नवागत कलेक्टर श्री शशांक मिश्रा ने मंगलवार को बृहस्पति भवन में 50 से अधिक आवेदनों पर जनसुनवाई कर अधिकारियों को आवश्यक दिशा-निर्देश दिये। ऋषि नगर उज्जैन निवासी रितिका द्विवेदी पिता रामकृष्ण द्विवेदी ने आवेदन दिया कि उन्होंने गत विधानसभा निर्वाचन में बतौर मतदान दल कर्मचारी कार्य किया था, परन्तु उन्हें आज दिनांक तक मानदेय का भुगतान नहीं हुआ है। उनके द्वारा पूर्व में भी इस सम्बन्ध में आवेदन दिया गया था। इस पर कलेक्टर श्री मिश्रा ने जिला निर्वाचन कार्यालय के सम्बन्धित अधिकारी को तुरन्त कार्यवाही करने के निर्देश दिये।

    नवाखेड़ा निवासी मनीष शर्मा पिता मोहनलाल ने आवेदन दिया कि उनके गांव में निजी रास्ते पर प्रधानमंत्री सड़क निर्माण योजना के तहत सीमेन्ट का पाईप रखवाया गया था, जिस कारण खेत पर आने-जाने का रास्ता अवरूद्ध हो गया। अभी तक सीमेन्ट के पाईप को वहां से हटाया नहीं गया है, जिस कारण आवेदक को हार्वेस्टर, ट्रेक्टर और अन्य कृषि उपकरण खेत में ले जाने में बहुत दिक्कत आ रही है, अत: उनके रास्ते से शीघ्र पाईप हटवाया जाये। इस पर प्रधानमंत्री ग्रामीण सड़क के अधिकारी को जांच कर तत्काल कार्यवाही करने के लिये कहा गया।
    बापू नगर निवासी धापूबाई पिता गोविन्द बैरागी ने आवेदन दिया कि उनके पुत्र की पिछले वर्ष पानी में डूबकर मृत्यु हो गई थी। वे और उनके पति पिछले 7 साल से अलग रह रहे हैं। पुत्र के मरने के बाद शासन की ओर से जो सहायता राशि उन्हें दी गई थी, वह उनके पति द्वारा जबर्दस्ती उनसे छीन ली गई है। आवेदिका ने इस सम्बन्ध में पुलिस में भी शिकायत की है कि परन्तु कोई कार्यवाही नहीं हो पाई है। आवेदिका ने उनके पैसे पति से वापिस दिलवाने की गुहार लगाई, जिस पर एसपी उज्जैन को मामले की जांच हेतु आवेदन अग्रेषित किया गया।
   ग्राम सगवाली तहसील महिदपुर निवासी उदयराम पिता गंगाराम ने आवेदन दिया कि उनके स्वामित्व की भूमि पर कुछ स्थानीय लोगों द्वारा जबरन अतिक्रमण कर लिया गया है और भूमि को अपने कब्जे में लेने का प्रयास किया जा रहा है। इस पर तहसीलदार महिदपुर को जांच करने के निर्देश दिये गये।
   प्रताप नगर उज्जैन निवासी रमेश पिता पदमसिंह राठौर ने आवेदन दिया कि वे वर्तमान में मेहनत-मजदूरी कर अपना जीवन यापन कर रहे हैं और उनके पास रहने के लिये पक्का आवास नहीं है, अत: उन्हें प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत रहने के लिये घर उपलब्ध कराया जाये, ताकि वे अपने बीवी-बच्चों की परवरिश अच्छे से कर सकें। इस पर कार्यपालन यंत्री प्रधानमंत्री आवास को नियमानुसार कार्यवाही करने के लिये कहा गया।
   ग्राम मल्हारगढ़ तहसील तराना निवासी लक्ष्मीनारायण पटेल पिता कालू पटेल ने आवेदन दिया कि ग्राम पंचायत नानूखेड़ा के सहायक सचिव के द्वारा शासकीय कार्यों के लिये स्वीकृत की गई राशि का दुरूपयोग किया जा रहा है और राशि का उपयोग निजी इस्तेमाल के लिये किया जा रहा है। इस पर सीईओ जनपद पंचायत तराना को मामले की जांच करने के निर्देश दिये गये।
   ग्राम कायथा तहसील तराना निवासी बापू पिता रामाजी ने आवेदन दिया कि गांव के एक व्यक्ति द्वारा उनकी फसल में जबरन अपने मवेशियों को चराया जा रहा है, जिस कारण उनकी फसल बर्बाद हो रही है। मना करने पर उस व्यक्ति द्वारा उन्हें जान से मारने की धमकी दी जा रही है। इस पर पुलिस अधीक्षक को कार्यवाही करने के लिये आवेदन अग्रेषित किया गया।
   उज्जैन निवासी बिहारीलाल पिता गोविन्दराम चौहान ने आवेदन दिया कि उनके पुत्र द्वारा उनसे अभद्र व्यवहार कर मारपीट की जा रही है और आयेदिन उनसे रूपयों की मांग की जाती है। उनके पास जितनी भी रकम थी, वे अपने पुत्र को दे चुके हैं और अब उनके पास कुछ नहीं बचा है। इस पर पुत्र द्वारा उन्हें घर से निकालने की धमकी दी जा रही है। इस पर तहसीलदार उज्जैन को मामले की जांच करने के लिये कहा गया।
   उज्जैन निवासी पूर्णचंद्र विश्वास पिता भवनचंद्र विश्वास ने उन्हें स्थाई आवासीय पट्टा दिलवाये जाने के लिये आवेदन दिया, जिस पर एसडीएम उज्जैन को कार्यवाही करने के निर्देश दिये गये। बड़नगर निवासी रामेश्वर पिता मांगीलाल ने विकलांग पेंशन के कुछ समय से नहीं मिलने की शिकायत की तथा निवेदन किया कि उसे पुन: चालू कराया जाये। इस पर सामाजिक न्याय एवं नि:शक्तजन कल्याण विभाग को उचित कार्यवाही करने के लिये कहा गया। इसी प्रकार अन्य मामलों में जनसुनवाई की गई।    
(167 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
मईजून 2019जुलाई
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
272829303112
3456789
10111213141516
17181920212223
24252627282930
1234567

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer