समाचार
|| परिवहन एवं राजस्व मंत्री श्री गोविंद राजपूत ने किया कै. सिंधिया को नमन || प्रतिभा का खजाना है संगीत की नगरी इन्हें तराशना है जरूरी - तोमर || खाद्य मंत्री श्री तोमर ने मेले में किया प्रदर्शनी का उदघाटन || व्याख्याता संघ द्वारा खाद्य मंत्री श्री तोमर का अभिनंदन || पशुपालन मंत्री आज मुरैना जिले में आयोजित कार्यक्रमों में होंगे शामिल || खाद्य मंत्री श्री तोमर आज विभिन्न कार्यक्रमों में शामिल होंगे || कलेक्टर ने देखे स्मार्ट सिटी के कार्य || ग्राम खुरैरी व बेरजा में मुख्यमंत्री फसल ऋण योजना के कैम्प का कलेक्टर ने किया निरीक्षण || लोगों की समस्याओं का त्वरित निराकरण हो || रेत का अवैध उत्खनन व परिवहन सख्ती से रोकें- कलेक्टर
अन्य ख़बरें
15 जनवरी से प्रारम्भ होगा खसरा रूबेला टीकाकरण अभियान
जिला स्तरीय टास्क फोर्स की बैठक में कलेक्टर ने कार्ययोजना की समीक्षा की
अनुपपुर | 11-जनवरी-2019
 
 
   कलेक्टर श्री चंद्रमोहन ठाकुर ने खसरा तथा रूबेला के प्रति सुरक्षा प्रदान करने के लिए 15 जनवरी से प्रारम्भ किए जाने वाले टीकाकरण अभियान की कार्ययोजना की समीक्षा की आवश्यक तैयारियों एवं व्यवस्थाओं हेतु निर्देश दिए। जिला स्तरीय टास्क फोर्स की बैठक में आपने यह सुनिश्चित करने के लिए कहा खसरा रूबेला (एमआर) का टीका स्कूलों तथा आउटरीच सत्रो में एक राष्ट्रव्यापी अभियान के अंतर्गत प्रारम्भ हो जाए। इस हेतु आपने स्वास्थ्य विभाग, शिक्षा विभाग एवं महिला एवं बाल विकास के मैदानी अमले को आपसी समन्वय के साथ शत प्रतिशत टीकाकरण के लक्ष्य की प्राप्ति हेतु समेकित रूप से प्रयास करने के लिए कहा है। आपने अभियान के समस्त सदस्यों को विधिवत रूप से प्रशिक्षण दिए जाने हेतु स्वास्थ्य विभाग को निर्देश दिए हैं।
9 माह से 15 वर्ष के समस्त आयु वर्ग के बच्चों को यह टीका लगाया जाएगा
    मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी ने बताया कि इस अभियान के अंतर्गत 9 माह से 15 वर्ष तक के आयु वर्ग के समस्त बच्चों को यह टीका लगाया जाएगा, भले ही पहले उन्हें एमआर/एमएमआर का टीका दिया जा चुका हो।
   डॉ श्रीवास्तव ने बताया कि खसरा एक जानलेवा रोग है जो कि वाइरस द्वारा फैलता है। बच्चों में खसरे के कारण विकलांगता एवं असमय मृत्यु का भी खतरा रहता है। आपने रूबेला रोग के बारे में जानकारी देते हुए बताया कि यह रोग वाइरस द्वारा फैलता है इसके लक्षण खसरा रोग जैसे ही होते हैं। लड़के एवं लड़कियों दोनो को इस रोग से बराबर खतरा है। यदि कोई महिला गर्भावस्था के शुरुआती चरण में इससे संक्रमित हो जाए तो कंजेनिटल रूबेला सिंड्रोम (सीआरएस) हो सकता है जो कि उसके भ्रूण तथा नवजात शिशु के लिए घातक हो सकता है।
   डॉ श्रीवास्तव ने बताया कि मीजल्स रूबेला अभियान 15 जनवरी से प्रारम्भ होगा, सभी स्कूलों सामुदायिक सत्रों आंगनवाड़ी केंद्रो और शासकीय स्वास्थ्य केंद्रो में टीकाकरण किया जाएगा। बच्चों को यह टीका प्रशिक्षित स्वास्थ्य कर्मी द्वारा लगाया जाएगा।
4 सप्ताह सघन टीकाकरण एवं 5 वे सप्ताह छूटे हुए समस्त बच्चों को लगाया जाएगा टीका
    विश्व स्वास्थ्य संगठन के प्रतिनिधि डॉ मो शरीफ ने बताया कि समस्त अभियान की नियमित रूप से निगरानी की जाएगी। आपने बताया टीकाकरण दल में एक प्रशिक्षित सदस्य जो टीकाकरण का कार्य करेगा एवं प्रशिक्षित सहायक रहेंगे। एक दल एक दिन में लगभग 150 बच्चों का टीकाकरण कार्य करेगा।
   बैठक में मुख्यकार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत डॉ सलोनी सिडाना, जिला कार्यक्रम अधिकारी महिला एवं बाल विकास विभाग श्रीमती मंजूलता सिंह, जिला टीकाकरण अधिकारी डॉ एसबी चौधरी , डीपीसी श्री हेमंत खैरवार समेत स्वास्थ्य विभाग, महिला एवं बाल विकास विभाग एवं शिक्षा विभाग के अधिकारी एवं कर्मचारी उपस्थित रहे।
 
(9 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
दिसम्बरजनवरी 2019फरवरी
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
31123456
78910111213
14151617181920
21222324252627
28293031123
45678910

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer