समाचार
|| उत्कृष्ट सेवा कार्य के लिये "गुरूनानक" और "रहीम" राज्य सम्मान घोषित || हर पात्र किसान को मिले ऋण माफी योजना का लाभ || आत्मविश्वास और दृढ़निश्चय से लक्ष्य भेदना आसान- मंत्री श्री पटवारी || मंत्री श्री जयवर्द्धन सिंह ने देखी ओला-प्रभावित फसल || निर्माण कार्यो में राशि का दुरूपयोग करने वाले ठेकेदारों के विरूद्ध दर्ज हों अपराधिक प्रकरण || सड़क पर चलने वाले हर व्यक्ति की सुरक्षा जरूरी : स्पेशल डी.जी. श्री शर्मा || श्री विचित्र कुमार सिन्हा की स्मृति में पुरस्कार स्थापित करने की पहल की जायेगी || प्रदेश में धान का 21 लाख मी.टन रिकार्ड उपार्जन : मंत्री श्री तोमर || फसल ऋण माफी संबंधी कार्यक्रम तहसील स्तर पर होंगे || नई सरकार का एक और ऐतिहासिक फैसला
अन्य ख़बरें
पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री श्री पटेल द्वारा राष्ट्रीय ग्राम स्वरोजगार योजना अंतर्गत त्रि-स्तरीय पंचायत
प्रतिनिधियों का प्रशिक्षण एवं क्षमतावर्धन कार्यशाला का शुभारंभ
धार | 30-जनवरी-2019
 
 
    प्रदेश के पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री श्री कमलेश्वर पटेल ने बुधवार को यहॉं उदय रंबन क्लब मैदान पर राष्ट्रीय ग्राम स्वरोजगार योजना अंतर्गत त्रि-स्तरीय पंचायत प्रतिनिधियों का प्रशिक्षण एवं क्षमतावर्धन कार्यशाला का महात्मा गांधी के चित्र पर सूत की माला अर्पित कर एवं दीप प्रज्जलित कर शुभारंभ किया। श्री पटेल ने इस कार्यशाला को सम्बोधित करते हुए कहा कि इस कार्यशाला के माध्यम से त्रि-स्तरीय पंचायतराज के प्रतिनिधियों को सीखने और अपने अधिकारों को जानने का मौका मिला है, ऐसे कार्यक्रम होते रहना चाहिए। महात्मा गांधी का सपना था कि देश में पंचायतराज लागू हो। पूर्व प्रधानमंत्री स्वर्गीय राजीव गांधी ने इस पंचायतराज सपने का साकार किया। मध्यप्रदेश में पूर्व मुख्यमंत्री श्री दिग्विजय सिंह ने पंचायतराज लागू किया था। श्री सिंह ने जनपद पंचायतों तथा जिला पंचायतों को अधिकार देने का काम किया था। पूर्व सरकार ने जानकारी के अभाव में अधिकार कम कर दिए थे। श्री पटेल ने कहा कि रोजगार ग्यारंटी योजना भी कांग्रेस शासनकाल की देन है। इस योजना का मुख्य उद्देश्य गांव का विकास करना और बेरोजगारों को रोजगार उपलब्ध कराने का था। उस समय गांवों में उसी टोला-मजरों में नौकरी मिल जाती थी। इस योजना का पूर्व सरकार ने सही क्रियान्वयन नही किया है।
    श्री पटेल ने कहा कि प्रदेश की नई सरकार किए गए वायदों को पूरा करेंगे। त्रि-स्तरीय पंचायतराज के प्रतिनिधियों के मानदेय बढ़ाने के संबंध में हमारे वचन-पत्र में यह सारी बाते शामिल है। वचन-पत्र अनुसार हम यह सभी कार्य करेंगे। हमारी सरकार जो कहती है, वह करती है। श्री पटेल ने कहा कि जनप्रतिनिधियों का प्रशिक्षण होना चाहिए, क्योंकि समाज तथा गॉंव के सम्पर्क में रहते है। जनप्रतिनिधि प्रशिक्षित होगे, तो गॉंव के विकास के लिए प्लान भी बेहतर ढ़ंग से तैयार करेंगे। गॉंव का विकास सुनियोजित ढ़ंग से किया जाना चाहिए। उन्होने पंचायत प्रतिनिधियों से आव्हान किया है कि वे अपने अधिकार व कर्तव्यों के प्रति सजग रहे और अधिकारों का सदुपयोग करें। कार्य मात्र कागजों पर न करते हुए वास्तविक रूप से किए जाने चाहिए। शासकीय धन का दुरूपयोग कतई नही किया जाना चाहिए। योजनाएं जनता के हित के लिए बनी है, इन योजनाओं का बेहतर ढ़ंग से क्रियान्वयन किया जाना चाहिए। हम सबका दायित्व है कि अपने दायित्व का अच्छी तरह से निवर्हन करे।
    श्री पटेल ने कहा कि नई सरकार ने प्रदेश में किसानों का कर्ज माफी का निर्णय विकट परिस्थिति में लिया है। इस निर्णय से किसानों का फायदा होगा। जय किसान फसल ऋण माफी योजना के तहत पात्र किसानों की सूची ग्राम पंचायतों के सूचना पटल पर प्रदर्षित की गई है। पंच-सरपंचों तथा अन्य जनप्रतिनिधियों से अनुरोध किया है     कि वे पात्र किसानों को इस योजना का लाभ पहुंचाने के लिए आगे आए। हम सबकी जिम्मेदारी है कि पात्र किसानों को इस योजना के तहत लाभान्वित करे।
    श्री पटेल ने कहा कि गॉंव में सार्वजनिक स्थानों, खेल मैदान जैसे अन्य विकास कार्य सुनियोजित ढ़ंग से किए जाने चाहिए, ताकि ग्रामीणों को उनकी आवश्यकता तथा अपेक्षाओं के अनुरूप विकास हो सके। श्री पटेल ने कहा कि पंचायत प्रतिनिधियों को उनके अधिकार आवश्यक रूप से मिलेंगे। प्रदेश सरकार गौशालाएं खोलने जा रही है। जिसका लाभ मध्यप्रदेश ग्रामीण आजीविका मिशन के माध्यम से महिलाओं को भी मिलेगा। जिला पंचायत अध्यक्ष श्रीमती मालती-मोहन पटेल ने भी इस कार्यशाला को सम्बोधित किया।
    मनावर विधानसभा क्षेत्र के विधायक श्री हिरालाल अलावा ने कहा कि हमारी सरकार विकास के लिए  वचनबद्ध है। हम सब मिलकर गॉंव के विकास के लिए प्रयास करेंगे। गॉंवों में मूलभूत सुविधाएं उपलब्ध कराने के लिए हरसंभव प्रयास किए जावेंगे। शिक्षा के क्षेत्र में जिले को पिछड़ेपन से उबारेंगे। स्वास्थ्य के क्षेत्र में भी आवश्यक सुधार किए जावेंगे। कुपोशण को दूर करने के लिए भी प्रयास किए जावेंगे। इस तरह के प्रशिक्षण विकासखण्ड स्तर पर भी आयोजित किए जाना चाहिए।
    सरदारपुर विधानसभा क्षेत्र के विधायक श्री प्रताप ग्रेवाल ने कहा कि शासन की मंशा है कि योजनाओं का क्रियान्वयन सही मायने में हो, इसके लिए यह कार्यशाला आयोजित की गई है। नई सरकार ने जनता से किए गए वायदों का क्रियान्वयन करना शुरू कर दिया है। सभी वायदों का क्रियान्वयन आवश्यक रूप से किया जावेंगा।
    धरमपुरी विधानसभा क्षेत्र के विधायक श्री पांचीलाल मेड़ा ने कहा कि प्रदेश में सत्ता का परिवर्तन हुआ है। अधिकारी रूके हुए कार्य समय पर पूर्ण करे। उन्होने कहा कि क्षेत्र की समस्याओं के निराकरण तथा विकास के लिए हरसंभव प्रयास किए जावेंगे।
    कलेक्टर श्री दीपक सिंह ने स्वागत भाषण देते हुए कहा कि धार बहुत बड़ा जिला है, जिसमें 13 जनपद पंचायतें तथा 761 ग्राम पंचायतें है। जिले में 3 लाख से अधिक जॉबकार्डधारी है। प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत जिले में 5 हजार आवासों का निर्माण किया जा चुका है। इसके अलावा 5 हजार आवासों का निर्माण कार्य प्रगति पर है। यह जिला स्वच्छ भारत मिषन के अन्तर्गत खुले में शौच से मुक्त घोषित हो चुका है। जिले में मध्यप्रदेश ग्रामीण आजीविका मिशन द्वारा 14 हजार से अधिक महिला स्वसहायता समूहों का गठन किया जा चुका है, जिसमें 1 लाख 50 हजार से अधिक महिलाएं जुड़ी है। यह जिला प्रदेश में अग्रणी है। यह स्वसहायता समूह विभिन्न गतिविधियां संचालित कर अपना जीवन स्तर तथा आर्थिक क्षेत्र में उन्नति कर रहे है। श्री सिंह ने बताया कि जिले में कई नवाचार के कार्य किए गए है। आगे भी जिले में इसी तरह नवाचार के कार्य किए जावेंगे। इस अवसर पर मुख्य अभियंता ग्रामीण यांत्रिकी सेवा श्री हरिसिंह झणिया ने भी कार्यक्रम को सम्बोधित किया। इस अवसर पर दलौदा सरपंच श्री विपीन जैन ने अपनी ग्राम पंचायत में किए गए कार्यो की प्रेरणादायक जानकारी दी।
    इस अवसर पर पूर्व सांसद श्री गजेन्द्रसिंह राजुखेड़ी, पूर्व विधायक एवं कांग्रेस जिलाध्यक्ष श्री बालमुकुन्दसिंह गौतम, पुलिस अधीक्षक श्री बीरेन्द्र कुमार सिंह, मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत श्री आर.के. चौधरी, आयुक्त पंचायत श्रीमती उर्मिला शुक्ला, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक श्री रूपेश कुमार द्विवेदी, अतिरिक्त मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत श्री संजय तिवारी, कार्यपालन यंत्री ग्रामीण यांत्रिकी सेवा श्री पंवार, जिले के त्रि-स्तरीय पंचायतराज के प्रतिनिधि, समस्त मुख्य कार्यपालन अधिकारी जनपद पंचायत, पत्रकारगण व गणमान्य नागरिक उपस्थित थे। इस कार्यक्रम में जनप्रतिनिधियों ने अपने अनुभव सांझा किए। कार्यक्रम का संचालन श्रीमती अरूणा बोडा ने किया।
 
(17 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
जनवरीफरवरी 2019मार्च
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
28293031123
45678910
11121314151617
18192021222324
25262728123
45678910

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer