समाचार
|| उत्कृष्ट सेवा कार्य के लिये "गुरूनानक" और "रहीम" राज्य सम्मान घोषित || हर पात्र किसान को मिले ऋण माफी योजना का लाभ || आत्मविश्वास और दृढ़निश्चय से लक्ष्य भेदना आसान- मंत्री श्री पटवारी || मंत्री श्री जयवर्द्धन सिंह ने देखी ओला-प्रभावित फसल || निर्माण कार्यो में राशि का दुरूपयोग करने वाले ठेकेदारों के विरूद्ध दर्ज हों अपराधिक प्रकरण || सड़क पर चलने वाले हर व्यक्ति की सुरक्षा जरूरी : स्पेशल डी.जी. श्री शर्मा || श्री विचित्र कुमार सिन्हा की स्मृति में पुरस्कार स्थापित करने की पहल की जायेगी || प्रदेश में धान का 21 लाख मी.टन रिकार्ड उपार्जन : मंत्री श्री तोमर || फसल ऋण माफी संबंधी कार्यक्रम तहसील स्तर पर होंगे || नई सरकार का एक और ऐतिहासिक फैसला
अन्य ख़बरें
जिला सड़क सुरक्षा समिति की हुई बैठक
-
छतरपुर | 08-फरवरी-2019
 
   
 
   कलेक्टर मोहित बुंदस की अध्यक्षता में सुबह कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में जिला सड़क सुरक्षा समिति की बैठक हुई। बैठक में सड़क सुरक्षा गतिविधियों, सड़क दुर्घटनाओं के आंकड़ों की निगरानी, दुर्घटनाओं के कारणों की पहचान, सड़क सुरक्षा परिषद को सुझाव प्रदान करने और मानकों का कार्यान्वयन सुनिश्चित करने के संबंध में चर्चा हुई।
    कलेक्टर श्री बुंदस ने कहा कि जिले में दुर्घटना में कमी के लिए कार्ययोजना तैयार कर कार्यान्वित करने की आवश्यकता है। उन्होंने ब्लैक स्पॉट की पहचान कर सुधार कराने और सड़क सुरक्षा अभियान को प्रोत्साहित करने के निर्देश अधिकारियों को दिए। इस दौरान अतिक्रमण की समस्या, रोड मार्किंग, स्ट्रीट वेण्डर्स के रजिस्ट्रेशन, 108 एम्बुलेंस की व्यवस्था दुरूस्त करने और ओवर लोडेड वाहनों की धरपकड़ के संबंध में सहमति बनी।
    कलेक्टर ने खजुराहो के साइलेंट जोन की मॉनिटरिंग करने और प्रस्तावित रिंगरोड का प्रेजेंटेशन तैयार करने के निर्देश भी दिए। नगर पालिका सीएमओ हरिहर गंधर्व को इस संबंध में राष्ट्रीय शहरी आजीविका मिशन से आवश्यक कार्य कराने और कंसल्टेंट के माध्यम से सड़क सुरक्षा को दुरूस्त करने के लिए कार्ययोजना बनाने के निर्देश दिए। समिति की सदस्य-सचिव और यातायात प्रभारी पूर्णिमा मिश्रा द्वारा  शहर में यातायात व्यवस्था को सुधारने के लिए मल्टीलेवल पार्किंग की आवश्यकता बताने पर कलेक्टर ने स्थान चिन्हित करने के निर्देश दिए। इस अवसर पर उपस्थितजनों से सुझाव भी लिए गए। बैठक में पुलिस अधीक्षक तिलक सिंह, जिपं सीईओ हर्ष दीक्षित, एएसपी जयराज कुबेर, सहायक कलेक्टर गुरूप्रसाद, एसडीएम कमलेश पुरी सहित समिति से जुड़े विभागों के अधिकारी और व्यापारी संघ के सदस्य एवं प्रतिनिधिगण उपस्थित थे।
रेफरल केस में कमी लाने के निर्देश
    कलेक्टर ने सिविल सर्जन को निर्देशित किया कि प्रायः गंभीर मरीज को जिला अस्पताल से अनावश्यक रूप से रेफर करने की शिकायतें मिलती हैं। इसे दुरूस्त करने के साथ सड़क दुर्घटना में पीड़ित व्यक्ति को शुरूआती एक घंटे में पर्याप्त इलाज की व्यवस्था करें। उन्होंने ताकीद किया कि आगामी दिनों में वे स्वयं रेफरल रजिस्टर चेक करेंगे और लापरवाही पर संबंधित चिकित्सक का वेतन रोका जाएगा। उन्होंने ब्लड बैंक में सभी ग्रुप की ब्लड उपलब्धता और ब्लड बैंक की व्यवस्था दुरूस्त करने के लिए भी निर्देशित किया। 
(8 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
जनवरीफरवरी 2019मार्च
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
28293031123
45678910
11121314151617
18192021222324
25262728123
45678910

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer