समाचार
|| रेरा प्राधिकरण को अपंजीकृत, प्रोजेक्ट/कालोनी निर्माण की जानकारी दे:- श्री अन्टोनी डिसा || अधिकारियों/ कर्मचारियों स्वल्पाहार वितरण हेतु निविदा 27 फरवरी तक आमंत्रित || ओला-पाला प्रभावित किसानों को राहत राशि के लिये 30 करोड़ रुपये स्वीकृत || स्वीप कैम्पस एम्बेसेडर की कार्यशाला 23 फरवरी को || विपक्ष परेशान न हो, 15 दिन बाद इस प्रदेश का 25 लाख किसान खड़ा होकर बोलेगा मेरा कर्जा माफ हो गया || स्टैंडिंग कमेटी की बैठक आज || कॉन्टेक्ट सेंटर 1950 पर फोन कर जिले के  मतदाता निर्वाचन संबंधी किसी भी प्रकार की जानकारी प्राप्त एवं शिकायत कर सकते हैं || बच्चों को लगा खसरा का टीका || आत्मा योजनांर्तगत राज्य के अंदर कृषक प्रशिक्षण || आंगनबाड़ी में टीकाकरण
अन्य ख़बरें
आयुष्मान भारत गोल्डन कार्ड हेतु नागरिकों की पहचान एवं पंजीयन प्रक्रिया निर्धारित
-
झाबुआ | 12-फरवरी-2019
 
   
    आयुष्मान भारत योजना के तहत देश के 10 करोड़ से अधिक परिवारों के लगभग 50 करोड़ लोगों को सालाना 5 लाख रूपये का स्वास्थ्य बीमा उपलब्ध करा रही है। भारत सरकार के स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा संचालित देश की सबसे बड़ी स्वास्थ्य योजना प्रधानमंत्री जन आरोग्य आयुष्मान भारत योजना के पंजीयन प्रक्रिया सूचना एवं प्रौद्योगिकी मंत्रालय द्वारा संचालित जिले के समस्त कॉमन सर्विस सेंटरों द्वारा आधार ई केवायसी के माध्यम से पात्र हितग्राहियों के पंजीयन कर गोल्डन कार्ड प्रदान किया जा रहा है। जिले के ग्रामीण एवं शहरी क्षेत्र में संचालित केन्द्रों पर जाकर नागरिक अपनी पात्रता की जाँच कर सकते हैं। आयुष्मान गोल्डन कार्ड पंजीयन के लिए निर्धारित गाइडलाइन सरकार द्वारा बनायी गयी है।
कैसे चेक करें अपना नाम
       स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय एवं सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय के मध्य हुए समझौते के अन्तर्गत देश के तीन लाख कॉमन सर्विस केन्द्रों पर पात्रता जाँच एवं पंजीयन की सुविधा उपलब्ध की जा रही है। योजना को संचालित करने वाली नेशनल हेल्थ एजेंसी ने एक वेबसाइट और हेल्पलाइन नंबर लॉन्च किया है, जिसके जरिये कोई भी यह जाँच सकता है कि लाभार्थियों की फाइनल लिस्ट में उसका नाम शामिल है या नहीं। लिस्ट में अपना नाम जाँचने के लिये वेबसाइट mera.pmjay.gov.in  देख सकते हैं या हेल्पलाइन नंबर 14555 पर कॉल कर सकते हैं।
कैसे करें क्लेम
       सरकार के पैनल में शामिल हर अस्पताल में आयुष्मान मित्र हेल्प डेस्क होगा। वहाँ लाभार्थी अपनी पात्रता को डॉक्यूमेंट्स के जरिये वेरिफाई कर सकेगा। इलाज के लिये किसी स्पेशल कार्ड की जरूरत नहीं पड़ेगी। सिर्फ लाभार्थी को अपनी पहचान स्थापित करना होगी। पात्र लाभार्थी को इलाज के लिये अस्पताल को एक पैसे भी नहीं देने होंगे।
किन बीमारियों का होगा इलाज
       इसमें इलाज के कुल एक हजार 354 पैकेज हैं, जिसमें कैंसर सर्जरी और कीमोथैरेपी, रेडिएशन थैरेपी, हार्ट बायपास सर्जरी, न्यूरो सर्जरी, रीढ़ की सर्जरी, दांतों की सर्जरी, आँखों की सर्जरी और एमआईआई, सीटी स्कैन जैसे जाँच शामिल हैं।
क्या आधार कार्ड है जरूरी
     इस स्कीम का फायदा उठाने के लिये आधार कार्ड अनिवार्य नहीं है। इसमें बस अपनी पहचान स्थापित करना होगी, जिसे समग्र आईडी या आधार कार्ड या मतदाता पहचान पत्र या राशन कार्ड जैसे पहचान पत्रों से स्थापित कर सकते हैं।
सीएससी केन्द्र की भूमिका
       जिले की समस्त ग्राम पंचायत, तहसील एवं शहरी क्षेत्रों में सूचना एवं प्रौद्योगिकी मंत्रालय द्वारा कॉमन सर्विस सेंटर केन्द्र स्थापित किये गये हैं। जिसके माध्यम से डिजिटल इंडिया कार्यक्रम के अन्तर्गत डिजिटल सुविधाएं प्रदान की जाती हैं। आयुष्मान भारत योजना में इन केन्द्रों के माध्यम से पंजीयन एवं गोल्डन कार्ड प्रदान करने में प्रमुख भूमिका रहेगी। पात्र हितग्राही द्वारा आयुष्मान भारत गोल्डन कार्ड आवेदन के लिये आधार कार्ड, समग्र आईडी एवं मोबाइल नंबर होना चाहिये।
क्या इसमें किसी प्रकार का शुल्क लगता है
       पात्रता जाँच एवं पंजीयन पूर्णता निःशुल्क है। केवल नॉन हास्पिटल वाले पात्र हितग्राही कॉमन सर्विस सेंटर केन्द्रों द्वारा गोल्डन कार्ड का निर्धारित शुल्क 30 रूपये लिया जायेगा। योजना के अन्तर्गत यदि परिवार पात्र है तो परिवार के सभी सदस्यों का अलग-अलग पंजीयन एवं कार्ड बनेगा।
(9 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
जनवरीफरवरी 2019मार्च
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
28293031123
45678910
11121314151617
18192021222324
25262728123
45678910

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer