समाचार
|| भोपाल में 26 से 28 फरवरी तक जश्न-ए-उर्दू || इलाज से मना करने वाले हॉस्पिटल की मान्यता रद्द होगी : स्वास्थ्य मंत्री श्री सिलावट || सूक्ष्म लघु एवं मध्यम उद्यमी ऋण सहायता एवं आउटरीच अभियान || मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ को प्रदेश पुलिस द्वारा पुलवामा के शहीदों के परिवारों के लिये 7.50 करोड़ का चेक भेंट || प्रदेश हित और नागरिकों की सुविधाओं के लिए नई संचार नीति लागू || रेरा प्राधिकरण को अपंजीकृत, प्रोजेक्ट/कालोनी निर्माण की जानकारी दे:- श्री अन्टोनी डिसा || अधिकारियों/ कर्मचारियों स्वल्पाहार वितरण हेतु निविदा 27 फरवरी तक आमंत्रित || ओला-पाला प्रभावित किसानों को राहत राशि के लिये 30 करोड़ रुपये स्वीकृत || स्वीप कैम्पस एम्बेसडर की कार्यशाला 23 फरवरी को || विपक्ष परेशान न हो, 15 दिन बाद इस प्रदेश का 25 लाख किसान खड़ा होकर बोलेगा मेरा कर्जा माफ हो गया
अन्य ख़बरें
लक्ष्य लेकर आगें बढे़ जीवन में निराशा नही आनें दें - जिला एवं सत्र न्यायाधीश
हुनर को रोजगार देंना ही कैरियर मेला का उद्देश्य - प्रथम अपर सत्र न्यायाधीश, आरव्हीपीएस महाविद्यालय उमरिया में दो दिवसीय कैरियर मार्गदर्शन शिविर का शुभारंभ
उमरिया | 12-फरवरी-2019
 
  
   युवा लक्ष्य लेकर आगें बढे़ जीवन में निराशा नही आनें दें। स्वामी विवेकानंद ने कहा था उठो, जागों तब तक चलते रहो जब तक कि लक्ष्य न मिल जाए। इसी तरह पूर्व राष्ट्रपति डॉ. एपी अब्दुल कलाम ने भी संघर्ष का रास्ता चुनकर निराशा से दूर रहते हुए देश के सर्वोच्च पद को धारण किया। प्रत्येक मनुष्य के जीवन में निराशा आती है किंतु उस निराशा को हावी नही होने देना ही जीवन की सफलता की कुंजी है। इसके लिए पांच सूत्र है निष्काम भाव से काम, कर्म की निरंतरता, अकर्म से विरक्ती, अहंकार का त्याग, समर्पण, अच्छा आचरण तथा समन्वय। युवा देश की शक्ति होते है। समाज तथा देश एवं अभिभावक इन युवाओं की सफलता की ओर टकटकी लगाये रहता है। इसलिए सभी युवाओं को सकारात्मक सोच के साथ सीमित उर्जा का उपयोग लक्ष्य प्राप्त करने के लिए करना चाहिए। उक्त आशय के विचार जिला एवं सत्र न्यायाधीश अरूण सिंह ने आज रणविजय प्रताप सिंह महाविद्यालय में आयोजित दो दिवसीय कैरियर मेला के शुभारंभ अवसर पर युवाओ को संबोधित करते हुए व्यक्त किए।
    कार्यक्रम प्रथम अपर सत्र न्यायाधीश सुरेंद्र शर्मा विशिष्ट अतिथि थे। इस अवसर पर महाविद्यालय के प्राचार्य सीबी सोधिंया, उत्कृष्ट महाविद्यालय के प्राचार्य डॉ. अभय पाण्डेय, चंदिया महाविद्यालय की  प्राचार्य हेमलता, कार्यक्रम की समन्वयक हर्षा चचाने सहित महाविद्यालयों के प्रध्यापक, जिला विधिक सहायता अधिकारी प्रदीप सिंह, जी एम व्यापार एवं उद्योग केंद्र, विभिन्न विभागों के अधिकारी तथा महाविद्यालयीन छात्र छात्राएं उपस्थित रहें।
    कार्यक्रम के विशिष्ट अतिथि प्रथम अपर जिला एवं सत्र न्यायाधीश सुरेंद्र शर्मा ने कहा कि वर्तमान परिवेश में रोजगार विद्यार्थियों के लिए चैलेंज बन गया है। हुनर को रोजगार मे बदलने के मार्गदर्शन हेतु कैरियर मार्गदर्शन मेलों का आयोजन किया जाता है। उत्कृष्ट महाविद्यालय के प्राचार्य डा अभय पाण्डेय ने कहा कि एक समय था, जब रोजगार के सीमित अवसर हुआ करते थे, मार्गदर्शन देने वाले भी नही हुआ करते थे। आज प्रतिस्पर्द्धा के युग में जहां शिक्षा के प्रकार बदले है वहीं रोजगार के अवसर भी बढे है। कैरियर मार्गदर्शन का आशय आपका रोजगार आपके द्वार है। यह प्रदेश सरकार की अभिनव पहल है। इसका लाभ विद्यार्थियों को लेना चाहिए। आपने कहा कि विद्यार्थी शिक्षा काल से ही अपना लक्ष्य निर्धारित करके भविष्य की तैयारी करें तो सफलता अवश्य मिलेगी। महाविद्यालय के प्राचार्य डॉ. सीबी सोंधियां ने स्वामी विवेकानंद द्वारा दिये गये उदबोधनों का उदाहरण देते हुए कहा कि जीवन मे आगें बढने हेतु लक्ष्य तय करने होगे। विद्यार्थियों को आज विभिन्न क्षेत्रों में रोजगार के पर्याप्त अवसर है। उसी की जानकारी कैरियर मार्गदर्शन शिविर के माध्यम से दी जा रही है। युवा इसका लाभ उठाये। कैरियर मार्गदर्शन शिविर की समन्वयक डॉ. हर्षा चचाने ने कहा कि आज प्रशासनिक, सेना, रेल, बैंकिंग, एनजीओं, विभिन्न क्षेत्रों में विशेषज्ञता वाले रोजगार उपलब्ध है। जरूरत है समय पर जानकारी प्राप्त कर उसके लिए प्रयास करने की। कार्यक्रम का संचालन प्राध्यापक डा0 स्वामी द्वारा किया गया। कार्यक्रम में नेहरू कान्वेंट स्कूल के नन्हें मुन्हें बच्चों द्वारा मां सरस्वती की वंदना, स्वागत गीत तथा देश भक्ति गीतों की प्रस्तुति दी गई जिसका संयोजक निशक्त समाजसेवी सोहन चौधरी द्वारा किया गया।
(9 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
जनवरीफरवरी 2019मार्च
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
28293031123
45678910
11121314151617
18192021222324
25262728123
45678910

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer