समाचार
|| सामाजिक न्याय मंत्री श्री घनघोरिया का दौरा कार्यक्रम || हरा भरा होगा जिला चिकित्‍सालय परिसर-कलेक्‍टर || लाईन मेंटीनेंस हेतु आज रहेगा 4 घण्टे विद्युत प्रदाय बंद || जिला स्तरीय आरसेटी सलाहकार समिति की बैठक सम्पन्न || बैंकर्स की जिला स्तरीय सलाहकार एवं समीक्षा समिति की बैठक संपन्न || महाविद्यालयों में लगाए जाएंगे योजनाओं के फ्लेक्स || हितग्राही मूलक योजनाओ की कलेक्टर ने की समीक्षा || मदरसा नवीनीकरण की आखरी तारीख 30 जून || प्रदेश में 6 महीने में 1300 कि.मी.सड़कों का उन्नयन : मंत्री श्री वर्मा || वचन-पत्र के सहकारी संस्थाओं के मुद्दों पर कार्यवाही के लिए समिति गठित
अन्य ख़बरें
सहायक रिटर्निंग अधिकारी व सेक्टर अधिकारियों के साथ पुलिस अधिकारियों की संयुक्त बैठक सम्पन्न
सहायक रिटर्निंग अधिकारी व एसडीओपी अपने-अपने विधानसभा क्षेत्र की एसएसटी/एफएसटी की गतिविधियों का निरीक्षण करें, एसएसटी व एफएसटी द्वारा सक्रियता से प्रभावी कार्यवाही सुनिश्चित की जायें, भारत निर्वाचन आयोग के निर्देशानुसार सभी मतदान केन्द्रों पर न्यूनतम बुनियादी सुविधाएं सुनिश्चित हों, एक लोकेशन पर एक से अधिक मतदान केन्द्र होने पर हेल्प डेस्क की व्यवस्था सुनिश्चित की जाये, मतदान केन्द्र की लोकेशन बताने वाले संकेतक लगाये जायें, कलेक्टर डॉ श्रीकान्त पाण्डेय व पुलिस अधीक्षक श्री चन्द्रशेखर सोलंकी ने अधिकारियों को दिये उक्त आशय के निर्देश
देवास | 31-मार्च-2019
 
   
    कलेक्टर डॉ. श्रीकान्त पाण्डेय व पुलिस अधीक्षक श्री चन्द्रशेखर सोलंकी ने रविवार को जिला पंचायत के सभाकक्ष में सहायक रिटर्निंग अधिकारी, सेक्टर अधिकारी तथा पुलिस विभाग के अधिकारियों की संयुक्त बैठक ली। बैठक में मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत श्रीमती शीतला पटले, एडीएम श्री नरेन्द्र सूर्यवंशी, एडिशनल एसपी श्री जगदीश डावर व श्री नीरज चौरसिया, उप जिला निर्वाचन अधिकारी श्री राजेन्द्र रघुवंशी विशेष रूप से उपस्थित थे।
    कलेक्टर डॉ. पाण्डेय ने सभी सहायक रिटर्निंग अधिकारियों, एडिशनल एसपी व एसडीओपी को अपने अपने क्षेत्र के एसएसटी पाइंट का निरीक्षण करने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि निरीक्षण के दौरान देखें कि एसएसटी नाकों पर अधिकारी सक्रिय होकर प्रभावी कार्यवाहियां सुनिश्चित करें। कलेक्टर डॉ. पाण्डेय ने एसएसटी व एफएसटी द्वारा अब तक की गई कार्यवाहियों पर असंतोष व्यक्त किया तथा अधिकारियों को सक्रिय होकर प्रभावी कार्यवाही करने की हिदायत दी। उन्होंने बैठक में सभी मतदान केन्द्रों पर भारत निर्वाचन आयोग के नवीन निर्देशानुसार सभी आवश्यक न्यूनतम बुनियादी सुविधाएं सुनिश्चित कराने के निर्देश दिये। उन्होंने बताया कि नवीन निर्देशानुसार ऐसे स्थान/ परिसर जिनमें एक से अधिक मतदान केन्द्र हैं, वहां हेल्प डेस्क की व्यवस्था होगी, जिस पर बीएलओ बैठेगा। मतदान केन्द्र का लोकेशन बताने वाले संकेतक लगाये जायें। बैठक में कलेक्टर डॉ. पाण्डेय ने मतदान के लिए लगने वाली पुरूष व महिला कतारों के प्रबंधन के संबंध में भी दिशा निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि दिव्यांग व बुजुर्ग मतदाता बिना किसी कतार के मतदान करेंगे।
    बैठक में कलेक्टर डॉ. पाण्डेय ने कहा कि सभी एआरओ मतदान केन्द्रों पर आवश्यक जानकारी वाले पोस्टरों का डिस्प्ले सुनिश्चित करायेंगे। मतदान केन्द्रों पर ठंडे पानी की व्यवस्था के साथ ही छाया के लिए कम से कम 15 बाय 15 वर्गफिट आकार के टेंट की व्यवस्था सुनिश्चित करायेंगे। उन्होंने सभी एआरओ, एडिशनल एसपी व एसडीओपी को अपने अपने विधानसभा क्षेत्र के वल्नरेबल एरिया, क्रिटिकल मतदान केन्द्रों तथा एक स्थान पर एक से अधिक मतदान केन्द्र वाले स्थलों का निरीक्षण कर भारत निर्वाचन आयोग के निर्देशानुसार व्यवस्थाएं सुनिश्चित कराने के निर्देश दिये। यह भी कहा कि मतदान केन्द्रों पर फर्नीचर व्यवस्था, बिजली कनेक्शन, पुरूष व महिलाओं के लिए अलग अलग शौचालय की व्यवस्था आदि को भी सुनिश्चित करायें। महिला मतदाताओं के साथ छोटे बच्चों की देखरेख के लिए मतदान केन्द्र पर अटेंडर की व्यवस्था भी सुनिश्चित करा लें।
सेक्टर अधिकारी तय स्थान पर ही रूकेंगे
    बैठक में मॉकपोल के संबंध में ईसीआई के दिशा निर्देशों से अवगत कराया तथा सहायक रिटर्निंग अधिकारी व सेक्टर अधिकारियों को मॉकपोल की प्रक्रिया पर सर्वाधिक ध्यान देने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि मॉकपोल सही नहीं हुआ तो इसके लिए सेक्टर अधिकारी, एआरओ व दूसरे अधिकारियों की भी जिम्मेदारी नियत की जायेगी। उन्होंने कहा कि मतदान के एक दिन पहले सेक्टर अधिकारियों के लिए रूकने हेतु जो स्थान तय किया गया है उस स्थान पर ही रूकेंगे। रिजर्व मशीनों के लिए भी स्थान तय किये गये हैं। माइक्रो आब्जर्वर भी अपने साधनों से मतदान से एक दिन पहले पहुंचना सुनिश्चित करेंगे। सभी एआरओ व एसडीओपी को अस्थायी स्ट्रांग रूम का निरीक्षण करने तथा ईसीआई के निर्देशानुसार प्रोटोकॉल सुनिश्चित कराने के लिए भी निर्देशित किया गया।
वोटर स्लीप के साथ पहचान हेतु 11 दस्तावेजों में से कोई एक दस्तावेज लाने संबंधी निर्देश का व्यापक प्रचार प्रसार के निर्देश
    बैठक में कलेक्टर डॉ. पाण्डेय ने भारत निर्वाचन आयोग के निर्देशानुसार मतदान के लिए मतदाता को वोटर स्लीप के साथ पहचान हेतु 11 वैकल्पिक दस्तावेजों में से कोई एक दस्तावेज साथ में लाने संबंधी निर्देशों का व्यापक प्रचार प्रसार कराने के निर्देश अधिकारियों को दिये। उन्होंने कहा कि इस निर्देश का व्यापक प्रचार प्रसार किया जाये ताकि मतदान के दिन कोई अप्रिय स्थिति निर्मित न हो। उन्होंने कहा कि पहचान के दस्तावेजों की कोई ऐसी व्याख्या न की जाये जिससे सही मतदाता को मतदान करने में कठिनाई हो। उन्होंने कहा कि वैकल्पिक दस्तावेज का उपयोग केवल पहचान सुनिश्चित करने के लिए किया जाना है।
सभी अधिकारी एक टीम के रूप में आपस में समन्वय बनाकर कार्य करें
    बैठक में पुलिस अधीक्षक श्री चन्द्रशेखर सोलंकी ने सभी अधिकारियों को निर्देश दिये कि जिले में लोकसभा निर्वाचन कार्य में संलग्न सभी अधिकारी एक टीम के रूप में कार्य करें। अधिकारी एक दूसरे से समन्वय बनाकर रखें तथा एक दूसरे से नियमित रूप से संवाद करें। उन्होंने कहा कि अधिकारी निर्वाचन कार्य को गंभीरता से लें। वल्नरेबल एरिया, क्रिटिकल मतदान केन्द्रों तथा एक लोकेशन पर एक से अधिक मतदान केन्द्र वाले स्थलों का एसडीएम व एसडीओपी को संयुक्त रूप से भ्रमण सुनिश्चित करें। उन्होंने कहा कि थाना प्रभारी, तहसीलदार व अधीनस्थ अधिकारी भी क्षेत्र का भ्रमण करें तथा ऐसा माहौल्‍ निर्मित करें कि मतदाताओं में बिना किसी भय के मतदान का विश्वास निर्मित हो। उन्होंने एफएसटी व एसएसटी की कार्यवाहियों में सक्रियता लाने के निर्देश दिये।    
मतदाता जागरूकता गतिविधियों पर ध्यान देने के निर्देश
    मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत श्रीमती शीतला पटले ने स्वीप अभियान अन्तर्गत मतदाता जागरूकता संबंधी गतिविधियां प्रभावी रूप से संचालित करने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि पिछले लोकसभा  चुनाव में 70 प्रतिशत के लगभग मतदान हुआ था, इस बार भारत निर्वाचन आयोग के निर्देशानुसार 75 प्रतिशत से अधिक मतदान का लक्ष्य है। मतदाता जागरूकता संबंधी गतिविधियां व्यापक रूप से आयोजित की जायें। इसके अलावा मतदान केन्द्रों पर सभी आवश्यक बुनियादी सुविधायें भी सुनिश्चित कराई जायें ताकि मतदाताओं को किसी प्रकार की परेशानी न हो। गर्मी के मौसम में छाया व ठंडे पानी की व्यवस्था पर विशेष रूप से ध्यान दिया जाये। दिव्यांग मतदाताओं के लिए पर्याप्त ढालयुक्त रैम्प की व्यवस्था सुनिश्चित हो। य‍दि कहीं कोई कमी हो तो अवगत करायें ताकि अभी व्यवस्थाओं में सुधार कराया जा सके।
    बैठक में मास्टर ट्रेनर्स प्रो. एसपीएस राणा, प्रो. अजय काले तथा प्रो. समीरा नईम ने सेक्टर अधिकारियों के अधिकार व कर्तव्य के अलावा ईवीएम व वीवीपेट की प्रक्रिया के साथ ही हेण्डसऑन ट्रेनिंग भी प्रदान की।
(81 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
मईजून 2019जुलाई
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
272829303112
3456789
10111213141516
17181920212223
24252627282930
1234567

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer