समाचार
|| अंतिम दिन तक भरे गए 25 व्यक्तियों द्वारा नाम निर्देशन पत्र || लोकसभा क्षेत्र टीकमगढ़ के लिए 20 अप्रैल को की जायेगी नामनिर्देशन पत्रों की संवीक्षा || मास्टर ट्रेनर्स का एक दिवसीय उन्मुखीकरण आज || टीकमगढ़ संसदीय क्षेत्र में आज 13 अभ्यर्थियों ने नाम निर्देशन पत्र जमा किये || अतिरिक्त बैलेट यूनिटों को स्ट्राँग रूम में रखा गया || सेक्टर एवं पुलिस अधिकारियों की संयुक्त बैठक सम्पन्न || एमएलबी में ईव्हीएम की कमीशनिंग आज से || नोडल अधिकारी अपना कार्य पूरी ईमानदारी, निष्ठा, सजगता एवं समन्वय के साथ करें कार्य - व्‍यय प्रेक्षक श्री तिवारी || पीठासीन अधिकारी को समस्‍या आने पर सहायता करने आवश्‍यक जानकारी रखें सेक्‍टर आफीसर - जिला निर्वाचन अधिकारी || नये वोटर आई.डी. कार्ड का 30 अप्रैल तक करायें वितरण
अन्य ख़बरें
शासकीय कर्मचारी चुनाव में आचार संहिता का पालन करें
उल्लंघन पाये जाने पर निलंबन के साथ-साथ एफआईआर भी दर्ज होगी
आगर-मालवा | 15-अप्रैल-2019
 
   
 
   कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी श्री अजय गुप्ता ने जिले के सभी अधिकारी-कर्मचारियों से अपील की है कि वे लोकसभा निर्वाचन के दौरान आदर्श आचार संहिता का पालन करें तथा किसी भी तरह के राजनैतिक कार्यक्रम, जुलूस, जलसे आदि में शामिल न हों। उन्होंने कहा कि ऐसी किसी भी शिकायत मिलने पर तथा जांच में दोषी पाये जाने पर संबंधित कर्मचारी को न केवल निलंबित किया जायेगा, बल्कि उसके विरूद्ध पुलिस में एफआईआर भी दर्ज कराई जायेगी। कलेक्टर ने हाल ही में आगर नगर पालिका के 13 स्थाई/अस्थाई /दैनिक वेतन भोगी कर्मियों के विरूद्ध की गई कार्यवाही का हवाला देते हुए जिले के सभी कर्मचारियों को निर्वाचन के दौरान सतकर्ता से कार्य करने की हिदायत दी है।
    कलेक्टर ने कहा है कि आदर्श आचार संहिता का पालन करते हुए शासकीय कर्मचारियों को चुनाव में बिल्कुल निष्पक्ष रहना चाहिए। यह आवश्यक है कि वे किसी को यह महसूस न होने दें कि वे निष्पक्ष नहीं है। जनता को उनकी निष्पक्षता का विश्वास होना चाहिए तथा उन्हें ऐसा कोई कार्य नहीं करना चाहिए, जिससे ऐसी आशंका भी हो कि वे किसी दल या उम्मीदवार की मदद कर रहे हैं।
    कलेक्टर ने कहा है कि शासकीय कर्मचारियों को किसी भी प्रकार के चुनाव अभियान या प्रचार में भाग नहीं लेना चाहिए तथा उन्हें यह देखना चाहिए कि उनकी सरकार में हैसियत या अधिकारों का लाभ कोई दल या उम्मीदवार न ले सके। निर्वाचन में किसी अभ्यर्थी के लिए कार्य करना मध्यप्रदेश सिविल सेवा आचरण नियम 1965 के प्रावधानों के विपरीत है। लोक प्रतिनिधित्व अधिनियम 1951 की धारा 129एवं 134-क की ओर विशेष रूप से ध्यान आकर्षित करते हुए कहा है कि निर्वाचन के दौरान अधिकारी-कर्मचारी न तो किसी अभ्यर्थी के लिए कार्य करेंगे और न मत डालने में कोई असर डालेंगे। इसके अतिरिक्त कोई शासकीय सेवक निर्वाचन अभिकर्ता, मतदान अभिकर्ता या गणना अभिकर्ता के रूप में कार्य नहीं कर सकता है।
(4 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
मार्चअप्रैल 2019मई
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
25262728293031
1234567
891011121314
15161718192021
22232425262728
293012345

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer