समाचार
|| कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी नीरज कुमार सिंह और पुलिस अधीक्षक विवेक सिंह ने मतगणना कार्य में || कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी नीरज कुमार सिंह पुलिस अधीक्षक || 07-दमोह संसदीय क्षेत्र का परिणाम घोषित कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी नीरज कुमार सिंह ने || गुना संसदीय निर्वाचन क्षेत्र में भाजपा के उम्मीदवार डॉ.के.पी.यादव विजयी घोषित || लोकसभा निर्वाचन 2019 के अंतर्गत मंडला संसदीय क्षेत्र की मतगणना संपन्न || गुना संसदीय निर्वाचन क्षेत्र अंतर्गत गुना जिले की गुना एवं बमोरी विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र तथा 20-राजगढ़ में शामिल चांचौडा एवं राघौगढ विधानसभा निर्वाचन क्षेत्रों में पड़े मतों की गिनती हुई (लोकसभा निर्वाचन 2019) || कड़ी सुरक्षा और प्रेक्षकों की मौजूदगी में मतगणना संपन्न || लोकसभा निर्वाचन के तहत श्योपुर-विजयपुर विधानसभा की मतगणना संपन्न || कलेक्टर एवं पुलिस अधीक्षक द्वारा शांति पूर्वक मतगणना के लिए धन्यवाद || विदिशा संसदीय क्षेत्र से भाजपा प्रत्याशी श्री रमाकांत भार्गव ने जीत दर्ज की
अन्य ख़बरें
टीकमगढ़ के द्वारा लोकतंत्र के महापर्व (संसदीय निर्वाचन 2019) के तहत अभिनव प्रयोग
-
टीकमगढ़ | 09-मई-2019
 
   
    कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी ने बताया है कि लोकसभा निर्वाचन 2014 में वोटर टर्नआउट 49% को दृष्टिगत रखते हुए अधिक से अधिक मतदाताओं से व्यमक्तिगत सम्पर्क हेतु सेक्टर अधिकारियों को स्वीआप गतिविधियों की कमान सौंपी गई। इस लक्ष्य को दृष्टिगत रखते हुए महिला, युवा, दिव्यांग, पलायन कर गए मतदाताओं हेतु विशेष प्रयास करने हेतु रणनीति तैयार की गई तथा गतिविधियों का दैनिक कार्यक्रम तैयार किया गया। विगत लोकसभा निर्वाचन के परिणामों का विश्ले षण कर कुल मतदान में कम वोटिंग वाले तथा महिलाओं की कम वोटिंग वाले क्षेत्र चिन्हित किए गए। प्रत्येथक सेक्टतर अधिकारी को उनके सेक्टर अंतर्गत मतदान केन्द्रों की वोटिंग टर्नआउट की जानकारी दी गई। सेक्टर अधिकारी द्वारा EVM/VVPAT के प्रदर्शन तथा मतदाता जागरूकता गतिविधियां की गईं एवं मतदान को लेकर कम रूचि वाले क्षेत्रों में पुनः सघन स्वीप कार्यक्रम चलाया गया। मास्टर ट्रेनर की संख्या 50 से बढ़कर 150 की गई, जिससे एक बहुत बड़ा रिसोर्स ग्रुप तैयार हुआ तथा निर्वाचन गतिविधियों के निर्बाध संचालन में बहुत आसानी हुई। कलेक्टर श्री सुमन द्वारा मतदान कर्मी एवं पूरी टीम के लिए स्वयं पुस्तक लिखी गई, जिससे निर्वाचन गतिविधियों की बारीकियों एवं सम्भावित कठिनाइयों पर स्पष्ट मार्गदर्शन प्राप्त हुआ। वाहनों को ढोंगा स्थल से तैयार कराकर बडोराघाट (सामग्री वितरण स्थपल) में क्रमबद्ध तरीके से पार्किंग की व्यंवस्था  की गई, जिससे सामग्री वितरण स्थल पर यातायात सुगम रहा एवं मतदान कर्मियों को आसानी हुई। टेबल पर मतदान सामग्री का वितरण किया गया, जिससे न केवल एक मतदान केन्द्र के सभी मतदान कर्मियों को तत्काल एक दूसरे से परिचय प्राप्त करने का अवसर मिला, बल्कि मतदान केन्द्र की ओर प्रस्थान करने में लगने वाले समय की बचत हुई। सामग्री वापसी काउंटर पर काउंटर को A,B,C  एवं अतिरिक्त काउंटर में विभाजन किया गया तथा पूर्व से ही पीठासीन एवं सेक्टार को A,B,C एवं अतिरिक्त काउंटर पर जमा की जाने वाली सामग्री का चार्ट दिया गया, ताकि सामग्री जमा करने में असुविधा से बचा जा सके। कमिशनिंग के बाद एक ही दिन मॉक पोल का आयोजन किया गया। उक्त् मॉक पोल आयोजन में राजनैतिक दल एवं अभ्यगर्थी के प्रतिनिधियों ने भाग लिया, जिससे सम्पूर्ण प्रक्रिया पारदर्शी रही।
    उन्होंने बताया कि उपरोक्त बिन्दुओं के साथ साथ नामांकन टीम का चयन आदि ऐसे अनेक बिंदु रहे हैं, जिनका टीकमगढ़ में पहली बार सफलतम प्रयोग हुआ है और आगे ये परम्परा के रूप में काम करते रहेंगे। उपरोक्त समस्त व्यवस्थाओं से न केवल मतदान कर्मियों को सहजता से मतदान कराने में आसानी हुई, बल्कि निर्वाचन संचालन सुगम एवं बेहतर हुआ।
टीकमगढ़/निवाड़ी जिले में मतदाता जागरूकता अभियान की चुनौतियां
    कलेक्टर श्री सुमन ने बताया है कि टीकमगढ़ जिले में लोकसभा निर्वाचन 2019 के शांतिपूर्ण संचालन के साथ साथ मतदान का प्रतिशत बढ़ाना एक बड़ी चुनौती थी। विगत लोकसभा निर्वाचन में जिले में मतदान का प्रतिशत 49 रहा था एवं महिलाओं का मतदान प्रतिशत 40 था, जिससे इस बार न केवल मतदान का प्रतिशत बढ़ाना बल्कि महिलाओं की कम भागीदारी ने चुनौती को दोगुना कर दिया था। लोकसभा निर्वाचन का मतदान 6 मई को किया जाना था। तापमान में वृद्धि ने मतदाता जागरूकता हेतु SVEEP गतिविधियों के आयोजन में हमारी कठिनाई को ही नहीं बढ़ाया था, बल्कि लगातार बढ़ रही भीषण गर्मी में 6 मई को मतदाताओं को वोट देने हेतु बाहर लाने की हमारी चुनौती को और भी बढ़ा दिया था। मतदान दिवस 6 मई के ठीक अगले दिन होने वाला अक्षय तृतीया का पर्व भी एक  चुनौती प्रस्तुत कर रहा था,क्योंकि इस दिन बड़ी संख्या में विवाह कार्यक्रमों के आयोजन किए जाते हैं। इन कार्यक्रमों की तैयारियों की व्यस्तता में भी कई मतदाताओं के मतदान से वंचित रह जाने की आशंका थी। बड़ी संख्या में जिले से पलायन कर चुके मतदाताओं को मतदान हेतु प्रेरित करना भी एक चुनौती थी, क्योंकि उनसे संपर्क स्थापित करना,भीषण गर्मी में मतदान हेतु यात्रा करने हेतु प्रेरित करना या SVEEP हेतु भी विशिष्ट प्रकार के कठिन प्रयासों भरा चुनौतीपूर्ण कार्य था।
    उपरोक्त चुनौतियों को समक्ष में रखते हुए श्री सौरभ कुमार सुमन, कलेक्टर, जिला टीकमगढ़ एवं पूर्व कलेक्टर जिला निवाड़ी श्री अक्षय कुमार सिंह तथा वर्तमान कलेक्टर सुश्री शैलबाला ऐ. मार्टिन तथा दोनों जिलों (टीकमगढ़ एवं निवाड़ी) के पुलिस अधीक्षक क्रमश: श्री अनुराग सुजानिया तथा श्री मुकेश कुमार श्रीवास्तनव के आपसी सहयोग एवं समन्वित प्रयासों से जिले में Focused रणनीति बनाकर कार्य किया गया। इसमें महिलाओं, दिव्यांगजनों, पलायन कर चुके मतदाताओं और पहली बार मतदान करने वाले मतदाताओं के द्वारा मतदान सुनिश्चित करने के लिए मतदान केंद्रों पर विभिन्न गतिविधियों का आयोजन किया गया।
मतदाता जागरूकता हेतु प्रयास
    2014 में लोकसभा निर्वाचन में वोटर टर्नआउट 49 प्रतिशत को दृष्टिगत रखते हुए अधिक से अधिक मतदाताओं से व्यक्तिगत सम्पर्क कर मतदान करने हेतु अनुरोध करने का लक्ष्य रखा गया। इस लक्ष्य को दृष्टिगत रखते हुए महिला, युवा, दिव्यांग, पलायन कर गए मतदाताओं हेतु विशेष प्रयास करने हेतु रणनीति तैयार की गई। विगत लोकसभा निर्वाचन के परिणामों का विश्लेंषण कर कुल मतदान में कम वोटिंग वाले तथा महिलाओं की कम वोटिंग वाले क्षेत्र चिन्हित किए गए। प्रत्येक सेक्टतर अधिकारी को उनके सेक्टलर अंतर्गत मतदान केन्द्रों  की वोटिंग टर्नआउट की जानकारी दी गई। सेक्टगर अधिकारी द्वारा EVM/VVPAT के प्रदर्शन तथा मतदाता जागरूकता गतिविधियां की गईं एवं मतदान को लेकर कम रूचि वाले क्षेत्रों में पुनः सघन स्वीप कार्यक्रम चलाया गया।
    नवीन मतदाताओं और महिला मतदाताओं से मतदान का आग्रह करने और आकर्षित करने के लिए जिले के शुभंकर के रूप में वोट बिन्ना का इस्तेमाल किया गया। विभिन्न स्थानों पर सेल्फी पॉइंट स्थापित कर वोट बिन्ना को जागरूक युवा मतदाता के रूप में प्रतीकात्मक रूप से प्रस्तुत किया गया, ताकि नवीन मतदाता, महिलाएं और अन्य लोग भी मतदान करने हेतु जागरूक हो सकें। सभी 1286 मतदान केंद्रों पर चुनाव पाठशालाओं का आयोजन किया गया। इन चुनाव पाठशालाओं में 102884 मतदाताओं ने भागीदारी की,जिससे मतदाता जागरूकता में वृद्धि हुई। सेक्टर अधिकारियों के माध्यम से प्रत्येक बूथ पर अधिकतम मतदाताओं को EVM/VVPAT का प्रदर्शन सुनिश्चित किया गया। टीकमगढ़ जिले में 339707 मतदाताओं एवं निवाड़ी जिले में 155364 मतदाताओं द्वारा EVM/VVPAT प्रदर्शन में भागीदारी की गई। मतदाताओं को अपने बूथ पर आकर्षित करने के लिए सभी 1286 मतदान केंद्रों पर AMF को सुनिश्चित किया गया तथा मतदान केंद्रों की आकर्षक साज-सज्जा की गई। प्रत्येक दिव्यांग और बुजुर्ग मतदाता को घर-घर जाकर मतदान हेतु आमंत्रण पत्र दिए गए। ग्राम पंचायतों में क्षेत्र स्तरीय कर्मचारियों और स्व सहायता समूहों के माध्यम से तथा नगर पालिका में विशेष रूप से जारी नंबर के माध्यम से प्रत्येक मतदाता से संपर्क स्थापित किया गया। बसों के ड्राइवर्स एवं कंडक्टेर्स को भी स्वीप गतिविधियों से जोड़ा गया। उनकी बैठक कर बसों में यात्रा करने वाली सवारियों से मतदान करने का आहवान करने को कहा गया। ड्राइवर्स एवं कंडक्ट र्स ने भी उत्सााह दिखाते हुए आगे आकर सवारियों को 06 मई को मतदान करने के संदेश का प्रचार-प्रसार किया। मतदाताओं से मतदान की अपील करने के लिए रैलियों का आयोजन सभी गांवों में किया गया।
    जिले में मैदानी स्तीर के कर्मचारियों से पलायन कर गए मतदाताओं के नाम व मोबाइल नम्बर का डाटाबेस तैयार कराया गया। पलायन से प्रभावित परिवारों के सदस्यों को प्रोत्साहित करने और मतदान के दिन मतदान के लिए वापस आने का अनुरोध किया गया। जिला स्तर के कंट्रोल रूम से पलायन कर चुके मतदाताओं को सीधे टेलीफोन कॉल किए गए, जिससे लोगों की बहुत सकारात्मक प्रतिक्रिया प्राप्त हुई। कुल 11522 मतदाताओं से संपर्क स्थापित किया गया और मतदान हेतु आहवान किया गया। दीपदान करते हुए मतदान शपथ और प्रत्येक बूथ को सुंदर तरीके से सजाकर प्रकाशमान भी किया गया। सभी नगरपालिकाओं में कचरा संग्रहण करने वाले वाहनों में SVEEP टीकमगढ़ गीत और स्थानीय बुंदेली बोली के माध्यम से मतदान करने की अपील की गई। मतदान करने की अपील करने वाली लघु फिल्म के प्रदर्शन के माध्यम से भी मतदाताओं को जागरूक किया गया। जिला स्तर, सभी तहसील मुख्यालय और नगर पालिकाओं में मैराथन का आयोजन कर मतदाताओं को वोट देने की अपील बड़े अभियान के रूप में की गई। जिला और नगर पालिकाओं में टैक्सी, ऑटो रैलियों का आयोजन किया गया। लोगों को मतदान के लिए प्रेरित करने हेतु सेल्फी पॉइंट बनाए गए। टीकमगढ़ में महिला पार्क को मतदाता पार्क के रूप में विकसित किया गया। लोकतंत्र की उड़ान - गतिविधि का आयोजन किया गया, जिसमें SVEEP टीकमगढ़ के लोगो टीकमगढ़ वोट करेगा को स्व-सहायता समूहों की महिलाओं और अन्य लोगों के साथ मानव श्रृंखला की मदद से तैयार किया गया। रोशन होता लोकतंत्र - जमड़ार नदी के किनारे कुंडेश्वर में 5000 दीपकों को एक साथ रोशन किया गया,और मतदान करने की अपील की गई। ओरछा में बेतवा नदी के तट पर भी दीपदान के माध्यम से मतदाता जागरूकता की सामूहिक गतिविधि का आयोजन किया गया। कॉलेजों में चुनावी प्रक्रिया के बारे में वाद विवाद, निबंध लेखन, भाषण प्रतियोगिताएं एवं विशेष जागरूकता शिविर आयोजित किए गए। कैंडल मार्च भी सामूहिक SVEEP गतिविधि के रूप में आयोजित किया गया। मेंहदी प्रतियोगिता ,रंगोली प्रतियोगिता और व्यंजन प्रतियोगिताएं आयोजन कर महिलाओं को SVEEP से जोड़ा गया।

टीकमगढ़ जिले में SVEEP गतिविधियों के परिणाम
 
AC NAME PC ELECTION 2019 TURNOUT % PC ELECTION 2014 TURNOUT % INCREASE IN VOTER TURNOUT

MALE FEMALE Total MALE FEMALE Total MALE FEMALE Total
Tikamgarh 73.04 66.37 68.9 61.31 47.18 54.7 11.73 19.19 14.2
Jatara 70.11 62.89 66.7 55.09 37.19 46.8 15.02 25.7 19.9
Khagrapur 70.69 63.29 67.2 54.11 36.98 46.2 16.58 26.31 21
TOTAL 71.28 64.18 67.9 56.76 40.41 49.1 14.52 23.77 18.8
    लोकसभा निर्वाचन 2019 में टीकमगढ़ जिले का मतदान प्रतिशत 67.92 रहा,जबकि विगत लोकसभा निर्वाचन में कुल मतदान प्रतिशत 49.14 था,इस प्रकार मतदान प्रतिशत में कुल 18.78 की वृद्धि दर्ज हुई। विगत लोकसभा निर्वाचन में जिले में महिलाओं का मतदान प्रतिशत 40.41 रहा था, जो 2019 में बढ़कर 64.18ः हो गया, इस प्रकार महिलाओं के मतदान प्रतिशत में कुल 23.77 प्रतिशत की वृद्धि हुई। लोकसभा निर्वाचन 2019 में महिलाओं की टीम ने न केवल क्षेत्र स्तर पर SVEEP में बढ़ चढ़कर भाग लिया,  बल्कि आगे आकर बड़ी संख्या में मतदान किया।विगत लोकसभा निर्वाचन में जिले में पुरुषों का मतदान प्रतिशत 56.76 रहा था, जो 2019 में बढ़कर 71.28% हो गया, इस प्रकार पुरुषों के मतदान प्रतिशत में कुल 14.52 प्रतिशत की वृद्धि हुई।
 
निवाड़ी जिले में SVEEP गतिविधियों के परिणाम
    जिले में मतदाता जागरूकता हेतु की गई SVEEP गतिविधियों के बहुत उत्साहवर्धक परिणाम सामने आए। न केवल मतदान प्रतिशत में वृद्धि हुई बल्कि महिलाओं की स्पष्ट भागीदारी देखने को मिली।

 
AC NAME PC ELECTION 2019 TURNOUT % PC ELECTION 2014 TURNOUT % INCREASE IN VOTER TURNOUT
MALE FEMALE Total MALE FEMALE Total MALE FEMALE Total
Prithvipur 75.03 66.96 71.2 56.33 39.37 48.5 18.7 27.59 22.8
Niwari 70.06 61.37 65.9 56.32 40.05 48.7 13.74 21.32 17.3
TOTAL 72.55 64.17 68.6 56.33 39.71 48.6 16.22 24.45 20

    लोकसभा निर्वाचन 2019 में निवाड़ी जिले का मतदान प्रतिशत 68.59 रहा, जबकि विगत लोकसभा निर्वाचन में कुल मतदान प्रतिशत 48.58 था, इस प्रकार मतदान प्रतिशत में कुल 20.02 की वृद्धि दर्ज हुई। विगत लोकसभा निर्वाचन में जिले में महिलाओं का मतदान प्रतिशत 39.71 रहा था,  जो 2019 में बढ़कर 64.17% हो गया। जिले में महिलाओं के मतदान प्रतिशत में कुल 24.45 प्रतिशत की वृद्धि हुई। लोकसभा निर्वाचन 2019 में महिलाओं की टीम ने न केवल क्षेत्र स्तर पर SVEEP में बढ़ चढ़कर भाग लिया,  बल्कि आगे आकर बड़ी संख्या में मतदान किया। विगत लोकसभा निर्वाचन में जिले में पुरुषों का मतदान प्रतिशत 56.33 रहा था, जो 2019 में बढ़कर 72.55ः हो गया, इस प्रकार पुरुषों के मतदान प्रतिशत में कुल 16.22 प्रतिशत की वृद्धि हुई।
SVEEP गतिविधियों के परिणाम
    जिले में मतदाता जागरूकता हेतु की गई SVEEP गतिविधियों के बहुत उत्साहवर्धक परिणाम सामने आए। न केवल मतदान प्रतिशत में वृद्धि हुई बल्कि महिलाओं की स्पष्ट भागीदारी देखने को मिली -
 
 
AC NAME PC ELECTION 2019 TURNOUT % PC ELECTION 2014 TURNOUT % INCREASE IN VOTER TURNOUT
MALE FEMALE Total MALE FEMALE Total MALE FEMALE Total
Tikamgarh 73.04 66.37 68.9 61.31 47.18 54.7 11.73 19.19 14.2
Jatara 70.11 62.89 66.7 55.09 37.19 46.8 15.02 25.7 19.9
Khagrapur 70.69 63.29 67.2 54.11 36.98 46.2 16.58 26.31 21
TOTAL 71.28 64.18 67.9 56.76 40.41 49.1 14.52 23.77 18.8
Prithvipur 75.03 66.96 71.2 56.33 39.37 48.5 18.7 27.59 22.8
Niwari 70.06 61.37 65.9 56.32 40.05 48.7 13.74 21.32 17.3
TOTAL 72.55 64.17 68.6 56.33 39.71 48.6 16.22 24.45 20
GRAND TOTAL 71.79 64.176 68 56.63 40.154 49 15.15 24.022 19
 
    इस प्रकार दोनों जिलों के जिला कलेक्ट्र एवं पुलिस अधीक्षकों के आपसी समन्वय एवं सहयोग से टीकमगढ़ एवं निवाड़ी जिलों में क्रमश: वोटर टर्नआउट 18.78 एवं 20.02 प्रतिशत वृद्धि हुई। साथ ही महिला मतदाता टर्नआउट प्रतिशत क्रमश: 23.77 एवं 24.45 वृद्धि के साथ अभूतपूर्व बढोत्त री दर्ज की गई। पुरूष मतदाता टर्नआउट टीकमगढ एवं निवाडी जिले में क्रमश: 14.52 एवं 16.22 प्रतिशत रहा। इस प्रकार दोनों जिलों के प्रशासकीय समन्वहय एवं आपसी सहयोग से जिले को वोटर टर्नआउट के कम प्रतिशत वाले जिले से निकालकर अधिक प्रतिशत वाले जिलों में शामिल कर अभूतपूर्व उपलब्धि अर्जित की गई, जिसमें मीडिया से मिले अभूतपूर्व सहयोग को नजरअंदाज नहीं किया जा सकता। लोकसभा निर्वाचन SVEEP गतिविधियों में महिलाओं और सभी वर्ग के मतदाताओं की भागीदारी उल्लेखनीय रही। स्व-सहायता समूहों की महिलाओं ने घर-घर जा कर लोगों को मतदान हेतु जागरूक किया और वातावरण निर्माण हेतु विशेष प्रयास किए। SVEEP के टीकमगढ़ जिले के शुभंकर(मैस्कॉट) वोट बिन्ना ने नवीन और महिला मतदाताओं को प्रेरित ही नहीं किया,बल्कि टीकमगढ़ जिले के लोकसभा निर्वाचन 2019 को नया विशिष्ट स्वरूप प्रदान किया,परिणामतः महिलाओं सहित सभी मतदाताओं के मतदान प्रतिशत में वृद्धि परिलक्षित हुई।
(15 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
अप्रैलमई 2019जून
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
293012345
6789101112
13141516171819
20212223242526
272829303112
3456789

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer