समाचार
|| शासन की योजनाओं का ठीक ढंग से हो क्रियान्वयन जिससे जनता को मिले ज्यादा से ज्यादा लाभ - मंत्री श्री सिंह || नेशनल लोक अदालत में मोटर दुर्घटना क्षतिपूर्ति दावा प्रकरणों का राजीनामा से निराकरण करने के लिये प्री-सिटिंग बैठकों का आयोजन आज और 20 जून को || खरीफ 2018 में वितरित अल्पकालीन फसल ऋण की देय तिथि में वृद्धि || चौरई में कानूनी साक्षरता शिविर संपन्न || नगर पालिका भिण्ड क्षेत्र अंतर्गत 197.18 करोड़ की लागत से बनने वाली वित्तपोषित पेयजल योजना का मंत्री श्री जयवर्धन सिंह ने किया भूमिपूजन || प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के अंतर्गत पात्र कृषक परिवारों की सूची पी.एम.-किसान पोर्टल पर अपलोड करने के निर्देश || जिले में 16 जून से 15 अगस्त तक मत्स्याखेट, मत्स्य विक्रय और परिवहन प्रतिबंधित || निर्वाचन संबंधी ईआरओ नेट पोर्टल पुनः प्रारंभ || विद्युत बिल जमा करने की एटीपी मशीन अब जय स्तंभ पार्क के पास || जिला पंचायत की सामान्य सभा एवं सामान्य प्रशासन समिति की बैठक 21 को
अन्य ख़बरें
धनौरा एवं घंसौर के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों का निरीक्षण कर मैदानी अमले की कलेक्टर ने ली बैठक
7 लापरवाह अधिकारी - कर्मचारियों पर कार्यवाही
सिवनी | 13-मई-2019
 
   
   कलेक्टर श्री प्रवीण सिंह ने सोमवार 13 मई को जिले के सुदूर अंचल क्षेत्र धनौरा एवं घंसौर के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों का निरीक्षण किया साथ ही सेक्टर सुपरवाइजर, एएनएम एवं सम्बंधित चिकित्सको की बैठक लेकर स्वास्थ्य केंद्रवार विभागीय लक्ष्य एवं शासकीय योजनाओं की प्रगति की समीक्षायें की तथा लापरवाही बरतने वाले 2 सेक्टर सुपरवाइजर के निलंबन, 6 एएनएम कार्यकर्ता तथा 1 डॉक्टर की वेतनवृद्धि रोकने के निर्देश दिये गए साथ अव्यवस्थाओं को लेकर घंसौर बी.एम.ओ. को कारण बताओं नोटिस जारी करने के निर्देश दिए।
   कलेक्टर श्री प्रवीण सिंह ने सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र धनौरा के लक्ष्य विरुद्ध अपेक्षाकृत प्रगति न कर पाने वाले उपस्वास्थ्य केंद्र सालेवाड़ा की एएनएम कार्यकर्ता वंदना सेन, रावठान की एएनएम कार्यकर्ता अनिता राय, बरबसपुर की कविता वरकड़े तथा मुरघई की एएनएम कार्यकर्ता कल्पना उइके की एक-एक वेतनवृद्धि रोकने के निर्देश दिए। सेक्टर सुपरवायजर श्री संतोष सिंह को अपने प्राथमिक कार्यों की जानकारी न होने पर निलंबित करने के निर्देश दिए। इसी  तरह सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र घंसौर के लक्ष्य विरुद्ध प्रगति न कर पाने वाले उपस्वास्थ्य केंद्र गंगपुर की एएनएम भुवनेश्वरी वरकड़े तथा कार्यों से जुड़े प्रश्नों के उत्तर न पाने पर एएनएम गीता शिवहरे तथा राष्ट्रीय बाल सुरक्षा मिशन के डॉ अजय उईके की एक एक वेतन वृद्धि रोकने  तथा सेक्टर सुपरवाइजर श्री रविशंकर को निलंबित करने के निर्देश दिए।
बैठक में कार्य के प्रति गंभीरता बरतने के दिए निर्देश
    धनौरा एवं घंसौर विकासखण्ड की पृथक-पृथक आयोजित की गई बैठक में कलेक्टर श्री प्रवीण सिंह ने सभी एएनएम कार्यकर्ता, सेक्टर सुपरवायजर एवं मेडिकल अधिकारियों को दो टूक शब्दों में कहा कि वह कार्य के प्रति गंभीरता लाते हुए कार्यप्रणाली में सुधार करे। स्वास्थ्य विभाग के मैदानी अमले का कार्य लक्ष्य प्रपत्र के साथ मैदानी सतह में भी दिखाई देना चाहिए। सम्पूर्ण जिलें में संस्थागत प्रसव में बढ़ोत्तरी हो और मातृ एवं शिशु मृत्यु दर में कमी आये यह सुनिश्चित करें । जिसके लिए एनीमिया ग्रसित माता का पूर्व चिन्हाकंन किया जाए तथा स्पेशल केस लेते हुए स्वास्थ्य लाभ दिया जाए । आशा कार्यकर्ता के प्रपत्रों में हितग्राहियों के भी हस्ताक्षर करवाये जाए ताकि यह सुनिष्चित हो सके कि आशा द्वारा वास्तविक रूप से हितग्राही माता को विभागीय सेवा प्रदान की गई है। इसी तरह विगत वर्ष हुई मातृ/ शिशु मृत्यु के कारणों का पता लगाते हुए प्राप्त विभागीय कमियों को दूर किया किया जाए तथा लापरवाही बरतने वाले कर्मचारियों को सेवा से पृथक करने की कार्यवाही की जाए।
    उन्होंने मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. मेश्राम को निर्देशित किया कि सम्पूर्ण जिले की एएनएम वार, सेक्टरवार तथा बीएमओ वार किए गए कार्यो की मासिक रिपोर्ट बनाई जाए जिसे प्रत्येक माह की 10 तारीख को कलेक्टर कार्यालय को उपलब्ध कराया जाए ताकि लापरवाही बरतने वाले अधिकारियों/कर्मचारियों पर सीधे कार्यवाही हो सके। इसी तरह हर सप्ताह मातृ मृत्युदर तथा शिशु मृत्युदर की रिपोर्ट भी विकासखण्डवार कारणों के साथ उपलब्ध कराई जाए। सभी स्वास्थ्य केन्द्रों में शासन द्वारा निर्धारित दवाईयॉं पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध रहें तथा वास्तविक हितग्राही तक उनकी पहुँच हो यह सुनिश्चित करें।
एनआरसी में दर्ज बच्चों के वजन में विशेष बढ़ोत्तरी न होने पर बीएमओ सहित अन्य को कारण बताओ नोटिस जारी
    कलेक्टर श्री प्रवीण सिंह ने सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र घंसौर के निरीक्षण में कुपोषित बच्चों के स्वास्थ्य सुधार हेतु एनआरसी में दर्ज किए गए बच्चों की ग्रेडिंग तथा उपचार प्रक्रिया का अवलोकन किया तथा 13 दिन से एनआरसी में भर्ती बच्चों के वजन में कोई विशेष बढ़ोत्तरी न होने पर नाराजगी व्यक्त की तथा एनआरसी से संबंधित कर्मचारियों को कारण बताओ नोटिस जारी करने के निर्देष दिए। इसी तरह चिकित्सालय में पर्याप्त साफ-सफाई न होने, वार्ड में कूलर आदि की व्यवस्था न होने पर बीएमओ श्री ब्रजेन्द्र चौधरी को कारण बताओं नोटिस जारी कर 7 दिवस के अंदर सुधार लाने के निर्देश दिए।    
(35 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
मईजून 2019जुलाई
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
272829303112
3456789
10111213141516
17181920212223
24252627282930
1234567

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer