समाचार
|| राजस्व अधिकारियों की समीक्षा बैठक 22 जुलाई को || बेटी बचाओ अभियान अंतर्गत निबन्ध प्रतियोगिता का आयोजन || जरारूधाम गौ-अभ्यारण में पौध रोपण कर इसे 10 सालों में एक समृद्ध जंगल की तरह विकसित करना हैं- केन्द्रीय राज्य मंत्री प्रहलाद सिंह पटैल || कलेक्टर ने बटोही गांव का किया भ्रमण || चित्रकूट में कलेक्टर की अध्यक्षता में मिनी स्मार्ट सिटी की बैठक सम्पन्न || पंचायतों को 22 जुलाई तक स्व-कराधान की जानकारी भेजने के निर्देश || मंडी समिति सिहोरा के वार्ड एवं ग्रामों की सूची का अंतिम प्रकाशन 24 को || महाविद्यालयों में प्रवेश के लिए 10 प्रतिशत आरक्षण के मापदण्ड निर्धारित || संस्कृति विभाग द्वारा संस्थाओं से आवेदन आमंत्रित || एक दिवसीय मीडिएशन रिफरेशर कार्यक्रम संपन्न
अन्य ख़बरें
राष्ट्रीय डेंगू दिवस आज
डेंगू, चिकनगुनिया और मलेरिया की रोकथाम हेतु चलेगा जनजागरण अभियान
जबलपुर | 15-मई-2019
 
   
    राष्ट्रीय डेंगू दिवस 16 मई को विविध जागरूकता कार्यक्रम एवं गतिविधियां आयोजित की जाएंगी। राष्ट्रीय डेंगू दिवस में डेंगू एवं चिकनगुनिया से बचाव एवं रोकथाम का व्यापक प्रचार-प्रसार जनसमुदाय में किया जाएगा।
    जिले के स्कूल शिक्षा, पंचायत, ग्रामीण विकास, महिला एवं बाल विकास इत्यादि के साथ मिलकर विकासखण्डों एवं जिले में अंतर्विभागीय समन्वय स्थापित कर डेंगू एवं चिकनगुनिया रोग पर बचाव एवं रोकथाम की चर्चा की जाएगी एवं सहयोग लिया जाएगा। डेंगू एवं चिकनगुनिया फैलाने वाले मच्छर एंडीज के लार्वा का विनष्टीकरण एवं उसे रोकने हेतु जैविक प्रबंधनों के उपायों के द्वारा रोकथाम में मदद की जाएगी। समस्त विभागों के साथ डेंगू, चिकनगुनिया रोकने हेतु एक शपथ कार्यक्रम आयोजित किया जाएगा।
    मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी द्वारा दी गई जानकारी के मुताबिक डेंगू एवं चिकनगुनिया की रोकथाम के लिए ग्राम स्तर से जिला स्तर तक जागरूकता कार्यशाला बैठक, रैली, मीडिया, रेडियो, स्थानीय केबल द्वारा डेंगू, चिकनगुनिया रोग से बचाव हेतु जागरूकता कार्यक्रम प्रसारित कराए जाएंगे।  
    डेंगू, चिकिनगुनिया और मलेरिया की रोकथाम हेतु अपनाए जाने वाले उपायों के तहत छत एवं घर के आसपास अनुपयोगी सामग्री में पानी जमा न होने दें। सप्ताह में एक बार अपने टंकी, डिब्बा, बाल्टी आदि का पानी खाली कर दें और अच्छी तरह से धोकर सुखाकर उपयोग में लाएं। सप्ताह में एक बार अपने कूलर का पानी साफ कर एवं सुखाकर पानी भरें। पानी के बर्तन टंकियों आदि को ढंककर रखें। हैण्डपम्प और पानी के स्त्रोतों के आसपास पानी एकत्रित होने न दें। पानी भरे रहने वाले स्थानों पर मिट्टी का तेल या जला हुआ आयल डालें। मच्छरों के बचाव के लिए फुल बांह के कपड़े पहनें। मच्छर को भगाने के लिए नीम का धुंआ करें एवं अन्य कीटनाशक का भी उपयोग कर सकते हैं। मच्छरों से होने वाले रोगों के बचाव के लिए सदैव मच्छरदानी का उपयोग करें एवं अपने घर के दरवाजे, खिड़कियों में मच्छररोधी जाली का उपयोग करें। बुखार आने पर शासकीय चिकित्सालयों में खून की जांच कराएं यह पूर्णत: नि:शुल्क है।  
(66 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
जूनजुलाई 2019अगस्त
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
24252627282930
1234567
891011121314
15161718192021
22232425262728
2930311234

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer