समाचार
|| अंतर्राष्ट्रीय-राष्ट्रीय खिलाड़ियों को निजी अकादमी खोलने के लिये मिलेगी मदद || मतदाता जागरूकता अभियान के लिये नोडल अधिकारी नियुक्त || शासकीय योजनाओं के माध्यम से बेरोजगार युवा स्थापित कर सकते हैं स्वयं का रोजगार || सांची में स्वरोजगार जागरूकता शिविर 25 जुलाई को || मतदाता जागरूकता अभियान के लिये नोडल अधिकारी नियुक्त || संवेदनशीलता से हो जन समस्याओं का निराकरण-कलेक्टर || सोयाबीन कृषको के लिये उपयोगी सलाह || डिजिटल इंडिया एवं एक भारत एक थीम के तहत एनआईसी द्वारा जिले की नई वेबसाइट विकसित || आरूल गांव की दुर्गा अलोने का हुआ नि:शुल्क कूल्हा प्रत्यारोपण (खुशियों की दास्तां) || यूरिया आदि घातक पदार्थों से दूध बनाने वालों और व्यापार करने वालों पर होगी सख्त कार्रवाई
अन्य ख़बरें
चिकित्सकों एवं सीडीपीओ ने हाईरिस्क गर्भवती महिलाओं से की गृह भेंट
-
होशंगाबाद | 02-जून-2019

 
     नर्मदापुरम् संभाग के सभी जिलो में हिरण्यगर्भा मातृ मुस्कान अभियान के तहत गर्भवती महिलाओं की विशेष जाँच एवं देखरेख का कार्यक्रम संचालित किया जा रहा है। इस अभियान के तहत स्वास्थ्य विभाग के चिकित्सक एवं महिला एवं बाल विकास विभाग की परियोजना अधिकारी हाईरिस्क गर्भवती महिलाओं के घर पर पहुँचकर उनके स्वास्थ्य की जाँच करते हैं और मौके पर ही महिला को पोषण आहार, नि:शुल्क दवाईयाँ प्रदान करते हैं। गृह भेंट के दौरान गर्भवती महिला के स्वास्थ्य की देखभाल के लिए गर्भवती महिला के परिजनो को भी समझाईश दी जाती है। गत दिवस डॉ.ऋषि चौबे ने शिवपुर के ग्राम चंदपुरा में पहुँचकर हाईरिस्क गर्भवती महिला विनिता पति जितेन्द्र यदुवंशी से गृह भेंट की। 22 वर्षीय विनीता यदुवंशी के हाईरिस्क होने का कारण उसका जीडीएम एक पाजेटिव होना है। डॉ. चौबे ने विनीता को दवाईयाँ दी और उसके स्वास्थ्य की जाँच की। महिला के परिजनो से कहा गया कि महिला को जिला चिकित्सालय लाया जाए ताकि पूर्ण रूप से उसके स्वास्थ्य की जाँच की जा सके। विनीता को नियमित रूप से हरी सब्जियाँ खाने की सलाह दी गई। चंदपुरा में ही डॉ.चौबे ने रसंति से गृह भेंट की। गृह भेंट के दौरान महिला के परिजन भी मौजूद थे। महिला को कहा गया कि वे सिवनीमालवा चिकित्सालय में नियमित रूप से अपनी जाँच कराते रहें। डॉ.चौबे ने शिवपुर में हाईरिस्क गर्भवती महिला आशा ओझा से भी गृह भेंट की तथा हाईरिस्क महिला कांता ओझा से भी गृह भेंट कर उन्हें स्वास्थ्य संबंधी परामर्श दिया।
   परियोजना अधिकारी इटारसी शाहीन खान ने आँगनबाड़ी केन्द्र क्रमांक 6 के अंतर्गत आने वाली हाईरिस्क महिला श्रीमती संध्या पति आशीष मालवीय से गृह भेंट की। महिला का हाईरिस्क होने का कारण महिला का शुगर 116 तक पहुँचना है। शाहिन खान ने उन्हें पोषण आहार संबंधी परामर्श दिया। उन्हें अंकुरित अनाज, मुनगे से बने व्यंजन, हरी सब्जियाँ एवं समय-समय पर खाना खाने की सलाह दी गई। गर्भवती महिला को समझाईश दी गई कि वे आयरन की गोलियों का एवं आयरन युक्त भोज्य पदार्थो का सेवन करें, सूप एवं चुकन्दर का सेवन करें। विटामिन सी युक्त पदार्थ जैसे आंवला, नीबूं, संतरा, मौसंमी के जूस का नियमित सेवन करें और टीएचआर के पैकेट का नियमित इस्तेमाल करें, स्वच्छता का ध्यान रखे, भारी काम न करें, खूब पानी पिएं और टहलें।
     डॉ.शशि सोनी ने भी ग्राम नकतरा में हाईरिस्क गर्भवती महिला ज्योति मेहरा से गृह भेंट कर उन्हें स्वास्थ्य संबंधी परामर्श दिया। डॉ.मिथलेश उइके ने डोलरिया की हाईरिस्क गर्भवती महिला रीना गौर से गृह भेंट की, इसके साथ ही उन्होंने ओमवती से गृह भेंट कर उन्हें परामर्श दिया। सिवनीमालवा के डॉ.सुरेन्द्र कौशल ने हाईरिस्क गर्भवती महिला 28 वर्षीय मंजू पति सत्यनारायण से गृह भेंट कर उन्हें स्वास्थ्य संबंधी परामर्श दिया। डा.विश्वनाथ अहिरवार ने रामपुर गुर्रा सेक्टर में गर्भवती महिला गीता पति हरिओम कहार को स्वास्थ्य संबंधी परामर्श दिया और जाँच की। महिला का हाईरिस्क होने का कारण उसका वजन मात्र 45 किलो होना है साथ ही मल्टी पारा होना है। महिला को टेबलेट, आयरन एवं केल्शियम लेने की समझाईश दी तथा उन्हें बताया कि आँगनबाड़ी से मिलने वाले पोष्टिक हलवे का नियमित रूप से सेवन करें। प्रति दिन हरी सब्जियाँ, सलाद एवं चुकन्दर खाए। डॉ. अहिरवार ने गुर्रा में प्रीति पति लालसाहब से भी गृह भेंट की एवं उनके परिजनो को महिला की विशेष देखभाल करने के निर्देश दिए।
(52 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
जूनजुलाई 2019अगस्त
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
24252627282930
1234567
891011121314
15161718192021
22232425262728
2930311234

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer