समाचार
|| स्वास्थ्य मंत्री श्री तुलसीराम सिलावट ने इंदौर में की समीक्षा || अलर्ट : "चमकी बुखार" सावधानी ही दूसरा उपचार है || 3 सौ 32 लोगों ने जन सुनवाई में कलेक्टर को सुनाई अपनी समस्याएं || राज्य एवं जिला स्तर पर कर्मचारियों के स्थानांतरण हेतु आन लाईन समय सारणी जारी || ग्राम पंचायतें बनायें पानी का बजट - ग्रामीण विकास मंत्री श्री पटेल || यात्री वाहनों के अनुज्ञा-पत्रों की समीक्षा और सुझाव के लिये समिति गठित || क्षमतावान युवा पीढ़ी को तैयार करना कोर्स का उद्देश्य - महिला बाल विकास मंत्री || अब 21 प्रकार की दिव्यांगतायें शामिल जिला मेडिकल बोर्ड बनायेगा दिव्यांगता प्रमाण-पत्र || सिविल सेवा प्रोत्साहन योजना से मिल रहे हैं अच्छे अवसर || श्री एम. सेलवेन्द्रन सचिव मुख्यमंत्री पदस्थ
अन्य ख़बरें
आपदा एवं बाढ़ राहत के लिए आवश्यक तैयारियां पूर्व से रखें -कलेक्टर श्रीमती मैथिल
अतिवर्षा एवं बाढ़ से निपटने संबंधी बैठक संपन्न
सागर | 03-जून-2019
 
 
 
     अतिवृष्टि व बाढ़ से निपटने के लिए सोमवार को सभाकक्ष में कलेक्टर श्रीमती प्रीति मैथिल नायक ने जिले के समस्त अनुविभागीय अधिकारी सहित विभागीय अधिकारियों की बैठक आयोजित कर आवश्यक दिशा-निर्देश दिए।
    कलेक्टर श्रीमती मैथिल ने समस्त अनुविभागीय अधिकारियों को निर्देश दिए कि अपने-अपने अनुविभाग के नदी, नाले, तालाब एवं बांधों को चिन्हित कर बाढ़ से निपटने के प्रयास किए जावें एवं उनका 100 प्रतिशत निरीक्षण किया जाए।
    उन्होंने लोक निर्माण विभाग एवं पुलिस विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिए कि वर्षा प्रारंभ पूर्व होने के पूर्व ही बैरिकेटिंग एवं चौकियों की व्यवस्था की जावे। यदि जल भराव होने पर पानी छोड़ने की स्थिति बनती है तो पहले जनपद पंचायत के माध्यम से सूचना दी जावे उसके बाद पानी छोड़ा जावे। जलभराव की स्थिति के लिए कन्ट्रोल रूम का गठन कर इसके दूरभाष क्रमांक का व्यापक प्रचार-प्रसार किया जाए। बड़े तालाबों एवं बाधों के नीचे की ओर रहने वाले गांव व बस्तियों पर विशेष नजर रखी जाए। जलभराव की स्थिति निर्मित होने पर रेस्क्यू प्लान व वैकल्पिक मार्ग भी तैयार रखें। समस्त थाना प्रभारी यह सुनिश्चित करें कि पुल पर पानी होने पर लोगों को पुल पार करने नहीं दिया जाए। साथ ही संबंधित क्षेत्रों विभाग के प्रमुखों के मोबाईल नंबर अपने पास रखें। होमगार्ड के जवानों द्वारा बचाव दल एवं उनके पास पर्याप्त मात्रा में रस्सी, सर्च लाईट, नाव, जैकिट व अन्य उपयोगी संसाधन उपलब्ध हो इसका विशेष ध्यान रखा जायें।  
    उन्होंने नगर निगम सागर को निर्देश दिए कि शहर के जल भराव वाले क्षेत्रों में नाली एवं नालों की सफाई तत्काल की जाए। अस्थाई शिविर स्थल का चयन कर उनमें आवश्यक सुविधाएं मुहैया करना सुनिश्चित करने को कहा। पीएचई विभाग प्रमुख को निर्देश दिए कि खुले पेयजल स्त्रोंतों पर ब्लीचिंग पाउडर का छिड़काव किया जाना सुनिश्चित कर इसका पालन प्रतिवेदन प्रस्तुत करें।  
    उन्होंने डेंगू, मलेरिया एवं चिकिनगुनिया रोगों वाले क्षेत्रों को चिन्हित कर उनमें मच्छर रोधी दवा का छिड़काव एवं रूके हुए गंदे पानी का निश्काशन किया जाए। उन्होंने आशा एवं आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं द्वारा ग्रामों में क्लोरिन की गोलियों का वितरण कर उसका पालन प्रतिवेदन प्रस्तुत किया जाए। साथ ही जिला अस्पताल, प्राथमिक केन्द्र एवं सामुदायिक केन्द्र के आपपास पर्याप्त साफ-सफाई हो इसका विशेष ध्यान रखा जाए।
     उन्होंने सीएमएचओ को यह भी निर्देश दिए कि एम्बूलेंस एवं जननी सुरक्षा वाहन हर हाल में दुरस्त रखें। प्राकृतिक आपदाओं से जनहानि, पशु हानि एवं अन्य प्रकार की हुई हानि हेतु प्रदान की जाने वाली सहायता राशि को तत्काल प्रदान की जावे।                                      
(22 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
मईजून 2019जुलाई
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
272829303112
3456789
10111213141516
17181920212223
24252627282930
1234567

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer