समाचार
|| शासन की योजनाओं का ठीक ढंग से हो क्रियान्वयन जिससे जनता को मिले ज्यादा से ज्यादा लाभ - मंत्री श्री सिंह || नेशनल लोक अदालत में मोटर दुर्घटना क्षतिपूर्ति दावा प्रकरणों का राजीनामा से निराकरण करने के लिये प्री-सिटिंग बैठकों का आयोजन आज और 20 जून को || खरीफ 2018 में वितरित अल्पकालीन फसल ऋण की देय तिथि में वृद्धि || चौरई में कानूनी साक्षरता शिविर संपन्न || नगर पालिका भिण्ड क्षेत्र अंतर्गत 197.18 करोड़ की लागत से बनने वाली वित्तपोषित पेयजल योजना का मंत्री श्री जयवर्धन सिंह ने किया भूमिपूजन || प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के अंतर्गत पात्र कृषक परिवारों की सूची पी.एम.-किसान पोर्टल पर अपलोड करने के निर्देश || जिले में 16 जून से 15 अगस्त तक मत्स्याखेट, मत्स्य विक्रय और परिवहन प्रतिबंधित || निर्वाचन संबंधी ईआरओ नेट पोर्टल पुनः प्रारंभ || विद्युत बिल जमा करने की एटीपी मशीन अब जय स्तंभ पार्क के पास || जिला पंचायत की सामान्य सभा एवं सामान्य प्रशासन समिति की बैठक 21 को
अन्य ख़बरें
कमिश्नर ने ली विभिन्न विभागो की संभागीय समीक्षा बैठक
-
होशंगाबाद | 12-जून-2019
 
  
  नर्मदापुरम् संभाग कमिश्नर आरके मिश्रा ने आज महिला एवं बाल विकास विभाग, स्वास्थ्य विभाग, आयुष विभाग एवं खाद्य सुरक्षा एवं औषधि प्रशासन विभाग की संभागीय समीक्षा बैठक ली।
   बैठक में कमिश्नर श्री मिश्रा ने स्वास्थ्य, महिला एवं बाल विकास विभाग के अधिकारियों से कहा कि वे आपस में समन्वय स्थापित करे और संयुक्त रूप से टीम भावना से बीमार व्यक्तियों, गर्भवती महिलाओं एवं बच्चों को समय पर समुचित उपचार सेवाएं सुलभ कराए। इस अवसर पर कमिश्नर ने कहा कि मानसून आने के पूर्व ही वर्षाकाल में होने वाली संक्रामक बीमारियों की रोकथाम, जल जनित बीमारियों को रोकने के लिए आवश्यक तैयारियाँ करें। उन्होंने 10 जून से 20 जुलाई तक चलने वाले दस्तक अभियान में लक्षित हितग्राहियों तक दल पहुँचे इस हेतु माइक्रो प्लानिंग अनुसार जिला एवं विकासखंड स्तर पर गहन निगरानी के निर्देश दिए। कमिश्नर ने दस्तक अभियान की समीक्षा करते हुए निर्देश दिए कि अभियान के दौरान बीमार नवजातों की पहचान, प्रबंधन एवं रेफरल की सेवाए सुनिश्चित की जाए। विशेषकर निमोनिया, गंभीर कुपोषण की पहचान एवं प्रबंधन किया जावे। अभियान के लिए निर्धारित लक्ष्य की शतप्रतिशत पूति की जाए। बैठक में कमिश्नर श्री मिश्रा ने स्वास्थ्य विभाग की समीक्षा करते हुए कहा कि स्वास्थ्य सेवाओं की पहुँच सभी जगह सुलभ है ऐसी स्थिति में शतप्रतिशत संस्थागत प्रसव सुनिश्चित हो । उन्होंने निर्देशित किया कि ऐसे क्षेत्र जहाँ गैर संस्थागत प्रसव अभी भी हो रहे है उन क्षेत्रो में पदस्थ मैदानी कर्मचारियो का चिन्हाँकन करे और गैर संस्थागत प्रसव होने के कारणो का विश्लेषण कर लापरवाही पाये जाने पर संबंधित के विरूद्ध कठोर और दंडात्मक कार्यवाही करे। कमिश्नर ने निर्देश दिये कि मलेरिया बीमारी से निपटने के लिए मलेरिया आफ नामक होम्योपैथिक दवा को मैदानी स्वास्थ्य संस्थाओं तक पहुँचाया जाकर समुदाय में मलेरिया के संभावित समय के पूर्व से ही सेवन कराया जावे ताकि मलेरिया से बचाव हेतु रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ सके। उन्होंने अधिकारियों से कहा कि वे मलेरिया की इस दवा के उपयोग के संबंध में संक्षिप्त विवरण तैयार कर वाट्सएप मीडिया के माध्यम से आमजन तक पहुचाए। इस संबंध में विभिन्न विभागों के प्रशिक्षण केन्द्रों, विद्यालयों, छात्रावासो, कोचिंग सेन्टर्स में भी शिविर आयोजित कर जानकारी दी जाए।
   कमिश्नर श्री मिश्रा ने खाद्य एवं औषधि विभाग की समीक्षा करते हुए संबंधित अधिकारियों से कहा कि वे खाद्य पदार्थो एवं दवाईयो के लिए नमूनो की जाँच पश्चात अमानक पाये गये नमूनो के संबंध में एडीएम कोर्ट या अन्य संबंधित न्यायालयों के द्वारा आरोपित किये गये अर्थदंड आदि का वृहद स्तर पर प्रचार-प्रसार कराए। विशेषकर प्रत्येक प्रकरण का फॉलोअप उसके अंतिम निराकरण तक किया जाए। कमिश्नर ने अधिकारियों से कहा कि वे हाट बाजारो, मंदिरो पर लगने वाले मेलो में बिकने वाले खाद्य पदार्थ विशेषकर चाट, मैगी, पानीपुरी, डोसा आदि खाद्य सामग्री के सेम्पल भी अवश्य ले ताकि अमानक खाद्य सामग्री की बिक्री पर रोक लग सकें। कमिश्नर ने महिला एवं बाल विकास विभाग के मैदानी अधिकारियों को निर्देशित किया कि वे आँगनबाड़ी केन्द्रो का निरन्तर निरीक्षण करे, निरीक्षण के दौरान आँगनबाड़ी में उपलब्ध सामग्री विशेषकर बच्चो के लिए केन्द्र में उपलब्ध खिलौने, वोर्ड, दरियों आदि  की क्या स्थिति है यदि केन्द्र में जो सामग्री टूटी फूटी पाई जाए तो उन्हें अपलेखित कराया जाए और निरीक्षण के दौरान आँगनबाड़ी केन्द्रो में साफ-सफाई, शुद्ध पेयजल आदि की व्यवस्था चाक चौबंद रहे इस पर विशेष ध्यान दिया जाए। किसी भी स्थिति में इन केन्द्रो में गंदगी के कारण संक्रमण न फैले यह सुनिश्चित करे।
   बैठक में संबंधित विभागो के अधिकारियों द्वारा अपने-अपने विभाग की उपलब्धियों के बारे में विस्तार से जानकारी दी गई।
   बैठक में संयुक्त आयुक्त विकास राजेन्द्र सिंह, संयुक्त संचालक महिला एवं बाल विकास शिवकुमार शर्मा, सीएमएचओ होशंगाबाद डॉ.दिनेश कौशल, बैतूल सीएमएचओ डॉ.जीसी चौररिया, जिला स्वास्थ्य अधिकारी हरदा डॉ. कमलेश गौर, जिला कार्यक्रम अधिकारी महिला बाल विकास संजय त्रिपाठी, बैतूल सुमन पिल्लई, हरदा सुश्री प्रीति साहू, खाद्य एवं औषधि प्रशासन होशंगाबाद के शिवराज पावक सहित बैतूल एवं हरदा जिले के अधिकारी उपस्थित थे।
(5 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
मईजून 2019जुलाई
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
272829303112
3456789
10111213141516
17181920212223
24252627282930
1234567

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer