समाचार
|| शासन की योजनाओं का ठीक ढंग से हो क्रियान्वयन जिससे जनता को मिले ज्यादा से ज्यादा लाभ - मंत्री श्री सिंह || नेशनल लोक अदालत में मोटर दुर्घटना क्षतिपूर्ति दावा प्रकरणों का राजीनामा से निराकरण करने के लिये प्री-सिटिंग बैठकों का आयोजन आज और 20 जून को || खरीफ 2018 में वितरित अल्पकालीन फसल ऋण की देय तिथि में वृद्धि || चौरई में कानूनी साक्षरता शिविर संपन्न || नगर पालिका भिण्ड क्षेत्र अंतर्गत 197.18 करोड़ की लागत से बनने वाली वित्तपोषित पेयजल योजना का मंत्री श्री जयवर्धन सिंह ने किया भूमिपूजन || प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के अंतर्गत पात्र कृषक परिवारों की सूची पी.एम.-किसान पोर्टल पर अपलोड करने के निर्देश || जिले में 16 जून से 15 अगस्त तक मत्स्याखेट, मत्स्य विक्रय और परिवहन प्रतिबंधित || निर्वाचन संबंधी ईआरओ नेट पोर्टल पुनः प्रारंभ || विद्युत बिल जमा करने की एटीपी मशीन अब जय स्तंभ पार्क के पास || जिला पंचायत की सामान्य सभा एवं सामान्य प्रशासन समिति की बैठक 21 को
अन्य ख़बरें
जिला स्तरीय सड़क सुरक्षा समिति की बैठक में दुर्घटनाओं को रोकने की गई चर्चा
-
बालाघाट | 12-जून-2019
 
  
    सांसद डा ढालसिंह बिसेन की अध्यक्षता में आज 12 जून को जिला स्तरीय सड़क सुरक्षा समिति की बैठक का आयोजन किया गया था। इस बैठक में बालाघाट जिले में सड़क दुर्घटनाओं को रोकने के संबंध में विस्तार से चर्चा की गई। बैठक में विधायक श्री रामकिशोर कावरे, नगर पालिका बालाघाट के अध्यक्ष श्री अनिल धुवारे, कलेक्टर श्री दीपक आर्य, पुलिस अधीक्षक श्री अभिषेक तिवारी, वनमंडलाधिकारी श्री सुरेन्द्र तिवारी, जिला परिवहन अधिकारी श्री आर एस चिकवा, लोक निर्माण विभाग के कार्यपालन यंत्री श्री आर पी ठाकरे, मध्यप्रदेश सड़क विकास प्राधिकारण के जिला प्रबंधक श्री दिलीप टेकाम, प्रधानमंत्री ग्रामीण सड़क योजना के महाप्रबंधक श्री महोबे, लोक निर्माण विभाग परियोजना क्रियान्वयन ईकाई के कार्यपालन यंत्री श्री लिमजे, बस आनर्स एवं अन्य विभागों के अधिकारी मौजूद थे।

     सांसद डॉ बिसेन ने बैठक में कहा कि सड़क दुर्घटना के लिए मुख्य सड़कों के किनारे की पटरी का सही ढंग से भरा नहीं होना, सड़कों में गड्ढे होना एवं निर्धारित मापदंड के स्पीड ब्रेकर नहीं होना भी कारण होता है। सड़क दुघ्रटनाओं को रोकने के लिए इन कारणों को भी दूर करने की अवश्यकता है। स्कूल एवं कालेजों में शिविर लगाकर युवा छात्र-छात्राओं के ड्रायविंग लायसेंस बनाये जाने चाहिए और उन्हें यातायात नियमों की जानकारी दी जाना चाहिए। बाईक सवारों को हेलमेट लगाने के लिए प्रोत्साहित किया जाये।

     बैठक में बताया गया कि जिले में सड़क सुरक्षा गतिविधियों पर निगरानी के लिए नगरीय क्षेत्र बालाघाट एवं लांजी में सीसीटीव्ही कैमरे लगाये जा चुके है। नगर पंचायत बैहर द्वारा सीसीटीव्ही कैमरे लगाने की प्रक्रिया प्रारंभ कर दी गई है। बैठक में समिति के सदस्यों ने कटंगी, वारासिवनी एवं मलाजखंड में भी सड़क सुरक्षा गतिविधियों पर निगरानी रखने के लिए सीसीटीव्ही कैमरे लगाने की आवश्यकता बताई। बैठक में बताया गया कि वर्ष 2017 से लेकर अब तक सड़क दुर्घटनाओं में मृतकों की संख्या शहरी क्षेत्र में कम हुई है, लेकिन ग्रामीण क्षेत्रों में मृतकों की संख्या बढ़ी है। इस प्रकार देखा जाये तो सड़क दुर्घटनाओं में मृतकों की संख्या बढ़ रही है।

     बैठक में समिति के सदस्यों ने कहा कि सड़क दुर्घटनाओं का मुख्य कारण वाहनों के बीच प्रतियोगिता का होना और वाहन चालन लापरवाही से किया जाना है। सदस्यों ने कहा कि सवारी वाहनों को दिये जाने वाले परमिट में आधे घंटे का अंतराल रखा जाना चाहिए। सड़कों पर चलने वाले डम्फरों की नियमित जांच की जाये कि उनमें स्पीड गवर्नर लगा है या नहीं। मुख्य सड़कों पर दुर्घटना वाले स्थलों का चिन्हित किया जाये और वहां पर संकेतक लगाये जायें। सवारी वाहनों एवं बड़े वाहनों में फंट कैमरा लगाने कहा गया और परिवहन अधिकारी से कहा गया कि वे वाहनों के पंजीयन एवं फिटनेस प्रमाण पत्र जारी करते समय फंट कैमरा का होना अनिवार्य करें।

     बैठक में समिति के सदस्यों ने कहा कि वारासिवनी-लालबर्रा टोल नाके पर यात्री बसों व अन्य वाहनों से टोल कर्मचारियों द्वारा अभद्र व्यवहार किया जाता है और टोल की वसूली के लिए नियमों का पालन नहीं किया जाता है। इस पर कलेक्टर श्री आर्य ने सड़क विकास प्राधिकारण के जिला प्रबंधक को टोल नाके के अनुबंध की शर्तों की जानकारी उनके समक्ष प्रस्तुत करने एवं टोल नाके पर नियमों का बोर्ड लगाने के निर्देश दिये।
(5 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
मईजून 2019जुलाई
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
272829303112
3456789
10111213141516
17181920212223
24252627282930
1234567

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer