समाचार
|| अंतर्राष्ट्रीय-राष्ट्रीय खिलाड़ियों को निजी अकादमी खोलने के लिये मिलेगी मदद || मतदाता जागरूकता अभियान के लिये नोडल अधिकारी नियुक्त || शासकीय योजनाओं के माध्यम से बेरोजगार युवा स्थापित कर सकते हैं स्वयं का रोजगार || सांची में स्वरोजगार जागरूकता शिविर 25 जुलाई को || मतदाता जागरूकता अभियान के लिये नोडल अधिकारी नियुक्त || संवेदनशीलता से हो जन समस्याओं का निराकरण-कलेक्टर || सोयाबीन कृषको के लिये उपयोगी सलाह || डिजिटल इंडिया एवं एक भारत एक थीम के तहत एनआईसी द्वारा जिले की नई वेबसाइट विकसित || आरूल गांव की दुर्गा अलोने का हुआ नि:शुल्क कूल्हा प्रत्यारोपण (खुशियों की दास्तां) || यूरिया आदि घातक पदार्थों से दूध बनाने वालों और व्यापार करने वालों पर होगी सख्त कार्रवाई
अन्य ख़बरें
उर नदी के पुनर्जीवन से बदलेगी जिले की तस्वीर : कलेक्टर
जिले के 173 ग्राम होंगे लाभान्वित
टीकमगढ़ | 14-जून-2019
 
 
     मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत एवं प्रभारी कलेक्टर श्रीमती नीतू माथुर ने बताया कि जिले में नदी पुनर्जीवन कार्यक्रम के तहत उर नदी को पुनर्जीवित करने की कार्ययोजना बनाई गई है। उन्होंने बताया कि उर नदी के पुनर्जीवन से जिले की तस्वीर बदलेगी। इससे भू-जल स्तर बढ़ेगा, जिससे किसानों को तथा ग्रामीणों को लाभ होगा। इससे जिले के 173 ग्राम लाभान्वित होंगे। श्रीमती माथुर ने संबंधित अधिकारियों के साथ उर नदी पुनर्जीवन कार्य योजना में शामिल स्थलों का निरीक्षण किया तथा आवश्यक निर्देश भी दिये। उन्होंने कहा कि अधिक से अधिक ग्रामीणों को इसका लाभ मिले यह सुनिश्चित किया जाये। इस दौरान उन्होंने ग्राम बड़माड़ई खास, बहादुरपुर सहित अनेके ग्रामों का निरीक्षण किया।  
   ज्ञातव्य है कि प्रदेश में सूख रही नदियों का पुनर्जीवन करने की शासन की मंषा को अंजाम देने हेतु राज्य स्तर पर पदस्थ्य अनुभवी/विशेषज्ञ अधिकारियों द्वारा खेत का पानी खेत में और गांव का पानी गांव में ही रोक कर नदियों को पुनर्जीवित करने हेतु म.प्र. में नदी पुनर्जीवन कार्यक्रम प्रारंभ किया गया है। इस कार्यक्रम के अंतर्गत जिला टीकमगढ़ में उर नदी के पुनर्जीवन की योजना तैयार की गई है। जिले की उर नदी विकासखण्ड टीकमगढ़, बल्देवगढ़, जतारा एवं पलेरा में से होकर गुजरती है। इस नदी का जलग्रहण क्षेत्र 97895 हेक्टेयर है। नदी के जलग्रहण क्षेत्र में आने वाले ग्रामों में खेत का पानी खेत में और गांव का पानी गांव में ही रोकने के सिद्धांत के तहत क्षेत्र में मिट्टी के स्ट्रेटा एवं साईट्स की उपयुक्तता के अनुसार कंटूर र्टेंच, बोल्डर वॉल, सोकपिट, अर्द्धन गली प्लग, लूज बोल्डर चैक, ग्रेबियन संरचना, वृक्षारोपण, परकोलेषन पिट, कंटूर बंडिंग, परकोलेशन पौंड, मेंडबंधान, डगबैल, रिचार्ज साफ्ट, रिचार्ज बैल, डाइक, चैक डेम जैसे जीर्णोधार के कार्य एवं और भी अन्य पानी का संचय करने वाली आवश्यक संरचानाओं का निर्माण शासन की विभिन्न योजनाओं से अवसरण के माध्यम से वित्तीय नियोजन कर किया जायेगा।
    इन कार्यों के संपादन से जहां 97895 हैक्टेयर के जलग्रहण क्षेत्र में पूर्व से स्थापित कूप एवं ट्यूबवैल इत्यादि का जलस्तर बढ़ने के साथ ही क्षेत्र का वाटरलेबल बढ़ेगा तो वहीं इस क्षेत्र में रहने वाले कृषकों को सिंचाई हेतु पानी उपलब्ध होने के साथ ही पानी की अन्य आवश्यकताओं की पूर्ति हो सकेगी। इससे एक तरफ कृषक की कृषि भूमि की उत्पादकता क्षमता बढ़ेगी तो वहीं कृषक की आर्थिक समृद्धि भी होगी। इन कार्यों के पूर्ण होने के उपरांत जहां गांव में नवम्बर माह तक सूख जाने वाले नालों की अवधि बढ़ेगी तो वहीं नदी का प्रवाह अविरल 12 महीने बना रहेगा।
    इन कार्यों का चयन जिले से लेकर ग्राम स्तर तक पदस्थ अनुभवी विषय विशेषज्ञ तकनीकि दल/रिसोर्स टीम/मास्टर ट्रेनर/वन विभाग के अधिकारियों द्वारा किया गया है। इसका कलेक्टर जिला टीकमगढ़ एवं मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत टीकमगढ़ श्रीमती नीतू माथुर द्वारा कुषल नेतृत्व प्रदान करते हुये निरंतर प्रक्षेत्र भ्रमण किया जा रहा है। वहीं जिले में पदस्थ तकनीकि विशेषज्ञ सहित परियोजना अधिकारी मनरेगा, कार्यपालन यंत्री ग्रामीण यांत्रिकी सेवा, मुख्य कार्यपालन अधिकारी जनपद पंचायत, सहायक यंत्री मनरेगा, एपीओ जनपद पंचायत द्वारा भी निरंतर प्रक्षेत्र भ्रमण कर दल को मार्गदर्षन प्रदान करने के साथ नियमित रूप से समीक्षा बैठक एवं प्रशिक्षण कार्यषाला का भी आयोजन किया जा रहा है। अभी तक इस कार्यक्रम के तहत 8126 कार्यों का चयन किया जा चुका है।
(40 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
जूनजुलाई 2019अगस्त
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
24252627282930
1234567
891011121314
15161718192021
22232425262728
2930311234

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer