समाचार
|| पीड़ित परिजन को सहायता राशि वितरित || समाज और सरकारी स्कूलों के बीच की दूरी को कम करना जरूरी - श्री बहुगुणा || शिक्षा के उजाले से ही जीवन में आ सकती है रोशनी – कलेक्टर || इन्दौर संभागायुक्त श्री आकाश त्रिपाठी ने जल संरक्षण संरचना से पानी रोकने के प्रयास की प्रशंसा की || संभागायुक्त श्री आकाश त्रिपाठी ने आजीविका समूह की महिलाओं से चर्चा की || संभागायुक्त श्री आकाश त्रिपाठी ने पौधारोपण कर प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना के कार्य का किया अवलोकन || इन्दौर संभागायुक्त श्री आकाश त्रिपाठी ने ग्राम खामट में उन्नत पद्धति से मक्का फसल लगाने वाले किसान से की चर्चा || इन्दौर संभागायुक्त श्री आकाश त्रिपाठी ने प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना के तहत स्टॉप डेम पर जल संरक्षण कार्य का किया अवलोकन || आनंदक सम्मेलन हेतु पंजीयन जारी-आयोजन अब 28 जुलाई को || जिला विकास समन्वय एवं अनुश्रवण कमेटी (दिशा) की बैठक आज
अन्य ख़बरें
ग्रामीण विकास विभाग की योजनाओं को अधिकारी लक्ष्य के अनुरूप शीघ्र पूर्ण करें - कलेक्टर
सबलगढ़ में निर्माण कार्यों में रूचि नहीं लेने वाले ब्लॉक कॉर्डिनेटर की सेवा समाप्ति का नोटिस और उपयंत्री की सीआर खराब लिखने के निर्देश
मुरैना | 25-जून-2019
 
   
    कलेक्टर श्रीमती प्रियंका दास ने ग्रामीण विकास विभाग से जुड़े समस्त अधिकारियों को निर्देश दिये है कि योजनाओं में लक्ष्य के अनुरूप प्रोगेस दिखायें। प्रोग्रेस नहीं आने वाले अधिकारियों के विरूद्ध सख्त कार्यवाही होगी। समीक्षा में सबलगढ़ विकासखण्ड के प्रधानमंत्री आवास योजना के लक्ष्य में रूचि नहीं दिखाने पर सबलगढ़ के ब्लॉक कॉर्डिनेटर की सेवा समाप्ति का नोटिस और उपयंत्री श्री विनोद दुबे की सीआर खराब लिखने के निर्देश दिये है। यह निर्देश उन्होनें मंगलवार को कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में ग्रामीण विकास विभाग की संचालित विभिन्न कल्याणकारी योजनाओं की समीक्षा के दौरान दिये। इस अवसर पर मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री तरूण भटनागर, ईआरईएस, समस्त जनपद सीईओ, एपीओ श्री तिलक सिंह और श्री जादौन सहित निर्माण विभाग के अधिकारी एवं कर्मचारी उपस्थित थे।
    समीक्षा के दौरान कलेक्टर श्रीमती प्रियंका दास ने कहा कि 24 जून से स्कूल खुल गये है और 29 जून से प्रायमरी खुल जायेंगे। स्कूलों में मध्यान्ह भोजन वितरण करने के लिये अभी से तैयारी करें। जिले का जिला स्तरीय स्कूल चलें कार्यक्रम छोंदा ग्राम के विद्यालय में किया जावेगा। उन्होनें कहा कि मध्यान्ह भोजन के समय किसी भी प्रकार के समूह या गुणवत्ता, रसोईया आदि की शिकायतें प्राप्त नहीं होना चाहिये। शिकायतें मिलने पर रसोईया आदि को बदलने जैसे निर्णय लिये जाते है। ऐसा नहीं होगा। अगर रसोईया या समूह खाना बनाने में जानबूझकर गड़बड़ी करता है तो उसके खिलाफ सीधे एफआईआर दर्ज कराई जावेगी। उन्होनें कहा कि अगर कोई जन्म तिथि या पुण्यतिथि पर स्कूलों के बच्चों को मध्यान्ह भोजन आदि कराता है तो उसका सहयोग लिया जा सकता है। समाजसेवी या संस्थायें विद्यालय में बर्तन या अन्य सामग्री सहयोग के रूप में प्रदान कर सकते है। जिले में बीआरसी यह सुनिश्चित करें कि समस्त टीचरों के मोबाइल नम्बर जिले स्तर पर उपलब्ध करायें। जिससे प्रत्येक स्कूल की उपस्थिति ऑनलाईन प्राप्त की जा सके।
    बैठक में कलेक्टर ने प्राथमिक एवं माध्यमिक शालाओं में किचन शैड निर्माण की समीक्षा की जिसमें वर्ष 2016-17 में स्वीकृत प्राथमिक विद्यालय में 27 थीं। जिसमें मात्र 13 किचन शैड पूर्ण किये गये है। 14 अपूर्ण है। इसके साथ ही माध्यमिक विद्यालय में किचन शैड 75 स्वीकृत किये गये। जिसमें से मात्र 27 पूर्ण किये गये है। 48 अपूर्ण बताये गये है। यह स्थिति ठीक नहीं है। सबसे अधिक लम्बित किचन शेड पोरसा विकासखण्ड में 16 है। इनको ईआरईएस भ्रमण कर देखें। पंचायतों की जानकारी प्राप्त करें और लम्बित कार्य शीघ्र प्रारंभ करावें।
    कलेक्टर ने प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत 2018-19 की प्रगति की समीक्षा की जिसमें से 4 हजार 382 बनाये गये है। 375 अपूर्ण है। जिनमें सबलगढ़ में 109 और कैलारस में 87 अपूर्ण है। इस पर कलेक्टर ने नाराजगी व्यक्त करते हुये अधिकारियों को एक माह में पूर्ण करने के निर्देश दिये गये है। इसके साथ ही उन्होनें महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गांरटी स्कीम के तहत जिले के विकासखण्ड वार की समीक्षा की । जिसमें अम्बाह विकासखण्ड की प्रगति संतोषजनक नहीं होने पर अप्रसन्नता व्यक्त की है।
    कलेक्टर ने मनरेगा अन्तर्गत वर्ष 2015-16 में प्रगति रथ कार्यों की जनपद वार समीक्षा की जिसमें राजीव गांधी सेवा केन्द्र 53, शान्तिधाम 12, नालानाली निर्माण 14 और पशु शैड 29 अपूर्ण बताये गये है। इन कार्यों को शीघ्र पूर्ण कराने के निर्देश ईआरईएस को दिये है। उन्होनें कहा कि ईआरईएस समस्त विकासखण्डों मे भ्रमण करें और निर्माण कार्यों को पूर्ण करायें। बैठक में उन्होनें खेल मैदान शान्तिधाम, सुधूर ग्राम सम्पर्क एवं तालाब निर्माण की प्रगति की समीक्षा की।
क्षीर सागर अभियान के तहत बनाये गये तालाबों में मछली पालन के लिये तालाब आवंटन करें
    कलेक्टर श्रीमती दास ने कहा कि जिला पंचायत के माध्यम से जिले में क्षीर सागर अभियान के तहत 31 तालाब का निर्माण किया गया था। जिसमें वर्षा प्रारंभ होने से पानी भर जायेगा। उन तालाबों में मछली पालन करने के लिये तालाब की नजदीकी व्यक्तियों को पट्टा आवंटन करें। जिससे वे मछली पालन कर सकें। इसमें निकटतम मछली पालन समूह को भी प्राथमिकता दें। यह कार्य 15 दिवस के अन्दर पूर्ण होने की रिपोर्ट मुझे उपलब्ध करावें।
(25 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
जूनजुलाई 2019अगस्त
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
24252627282930
1234567
891011121314
15161718192021
22232425262728
2930311234

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer