समाचार
|| किसान भाईयों को अल्पवर्षा की वर्तमान स्थिति में सम सामयिक सलाह || बीस वर्ष की सेवा या पचास वर्ष की आयु पूरी कर चुके, अक्षम कर्मचारियों की अनिवार्य सेवानिवृत्ति के प्रस्ताव भेजें || स्वतंत्रता दिवस की तैयारियों को लेकर बैठक संपन्न || संभागायुक्त ने महिला उद्यमियों के लिए स्वीप आयोजन की तैयारियों की समीक्षा की || पत्रकारिता विश्वविद्यालय द्वारा पाठ्यक्रमों के उन्नयन के प्रयास सराहनीय - मंत्री श्री शर्मा || राजनैतिक मामलों की मंत्रि-परिषद समिति पुनर्गठित || जिले में 267 मि.मी. औसत वर्षा रिकार्ड || अशासकीय व्यक्तियों को शासकीय आवास आवंटन की समीक्षा होगी || बच्चों के लिए खून की व्यवस्था करने कलेक्टर ने ली सामाजिक संस्थाओं की बैठक || सभी विभागाध्यक्ष एवं जिला कार्यालय में ई-ऑफिस कार्य-प्रणाली क्रियान्वयन के निर्देश
अन्य ख़बरें
संयुक्त सचिव, स्कूल शिक्षा एवं साक्षरता विभाग, मानव संसाधन विकास मंत्रालय श्री सिन्हा द्वारा नालछा तथा धरमपुरी जनपद पंचायत क्षेत्र में जल शक्ति अभियान के तहत किए जा रहे कार्यो का जायजा
-
धार | 12-जुलाई-2019
 
   
  
    संयुक्त सचिव, स्कूल शिक्षा एवं साक्षरता विभाग, मानव संसाधन विकास मंत्रालय नई दिल्ली श्री सचिन सिन्हा ने शुक्रवार को जिले के अधिकारियों के साथ नालछा तथा धरमपुरी जनपद पंचायत क्षेत्र के विभिन्न ग्रामों में पहुँचकर ‘‘जल शक्ति अभियान’’ के तहत किए जा रहे कार्यो का जायजा लिया। भ्रमण के दौरान जल संरक्षण एवं संवर्धन के कार्यो और नई तथा पुरानी जल संरचनाओं को भी देखा। आपके साथ निदेशक, औद्योगिक संवर्धन नीति वाणिज्य मंत्रालय भारत सरकार श्री सुशील सातपुते, सी.डब्ल्यू.सी. वैज्ञानिक नई दिल्ली डा. बायनार भी थे।
    श्री सिन्हा ने सबसे पहले यहॉं जिला मुख्यालय पर स्थित उद्यानिकी विभाग के नर्सरी में ‘‘जल शक्ति अभियान’’ के तहत वृक्षारोपण किया। इसके पश्चात तलवाड़ा में लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग द्वारा उप स्वास्थ्य केन्द्र एवं आंगनवाड़ी केन्द्र भवन में की गई रूफ वाटर हार्वेस्टिंग की व्यवस्था का अवलोकन किया। रूफ वाटर हार्वेस्टिंग के माध्यम से हैण्डपम्प रिचार्ज की व्यवस्था की गई है। जिससे वर्षा का पानी जमीन में उतरेंगा और भू-जल स्तर में सुधार होगा। श्री सिन्हा ने इस व्यवस्था पर होने वाले व्यय की भी जानकारी प्राप्त की। बगड़ी फाटा में हैण्डपम्प के प्लेट फार्म तथा शोख्तापीट का भी अवलोकन किया। श्री सिन्हा ने लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिए है कि हैण्डपम्प के साथ-साथ अधिक से अधिक ड्यूबवेल को रिचार्ज करने के लिए शोख्तापीट की व्यवस्था की जाएं, ताकि इन ड्यूबवेलों में जल स्तर पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध रहे।
    श्री सिन्हा ने नरसिंगमाल में स्थित शासकीय प्राथमिक विद्यालय पहुँचे और वहॉं पर बच्चों की उपस्थिति कम पाए जाने पर उपस्थिति बढ़ाने के निर्देश दिए। साथ ही इस शाला भवन पर लिखावट स्पष्ट रूप से नही दिखाई देने पर संस्था प्रमुख को निर्देश दिए है कि वे इस शाला भवन की दीवाल पर वर्ष में दो बार मध्यान्ह भोजन के मीनू का पूरे सप्ताह भर प्रदाय किए जाने वाले मीनू की जानकारी का उल्लेख करे, ताकि ग्रामीणजन तथा इस संस्था में जाने वाले अधिकारियों को जानकारी हो सके। श्री सिन्हा ने विद्यालय में निःशुल्क पाठ्यपुस्तक वितरण तथा गणवेश वितरण योजना की प्रगति की समीक्षा की। इसके बाद नरसिंगमाल के स्कूल के पास स्थित वन विभाग की पहाड़ी पर पहाड़ी का हरा-भरा करने के लिए किए जा रहे प्रयासों के तहत आयोजित वृक्षारोपण कार्यक्रम में भाग लेकर सीताफल के पौधे लगाए। इस पहाड़ी पर 2 हेक्टेयर क्षेत्र में 1250 सीताफल के पौधों का रोपण किया जावेगा। श्री सिन्हा ने नरसिंगमाल ग्राम की एक अन्य पहाड़ी पर वन विभाग की मदद से जनपद पंचायत द्वारा रोपे गए 14375 पौधों का भी जायजा लिया। जनपद पंचायत द्वारा इन पौधों के सिंचाई के लिए ड्रीप की भी व्यवस्था की गई है।
    श्री सिन्हा ने जामनघाटी तालाब का अवलोकन भी किया। इसके बाद वे भारूड़पुरा में जल संसाधन विभाग द्वारा कारमनदी पर 304.44 करोड़ रूपये की लागत से बनने वाली कारम मध्यम सिंचाई परियोजना के कार्य का जायजा लिया। जल संसाधन विभाग के अधिकारियों ने अवगत कराया कि यह सिंचाई परियोजना की लम्बाई 58 मीटर है और ऊँचाई 52 मीटर रहेंगी। इस बांध के जल भण्डारण की क्षमता 40.53 मी.घ.मी. रहेंगी। इस परियोजना के जल से 8750 हेक्टेयर क्षेत्र में सिंचाई होगी। इस परियोजना से 52 ग्रामों के लगभग 5830 कृषकों को सिंचाई सुविधा प्राप्त होगी। यह परियोजना दिसम्बर 2021 को पूर्ण करने की अवधि निर्धारित है।
    श्री सिन्हा ने कागदीपुरा में स्थित शासकीय प्राथमिक विद्यालय की कक्षा 4, 5 व 3 और माध्यमिक विद्यालय के कक्षा 6 टी के शिक्षकों तथा बच्चों से भी चर्चा की और वहॉं पर शिक्षा की गुणवत्ता बेहतर पाई गई। शिक्षक के प्रयासों से कई विद्यार्थियों का चयन नवोदय विद्यालय में हुआ है। श्री सिन्हा ने माध्यमिक विद्यालय तथा प्राथमिक विद्यालय के विद्यार्थियों के फर्नीचर के लिए 3-3 हजार रूपये स्वीकृत करने के निर्देश सहायक आयुक्त जनजातिय कार्य विभाग को दिए। श्री सिन्हा ने इस विद्यालय में मध्यान्ह भोजन के तहत बनाएं गए दाल-सब्जी का भी टेस्ट किया। टेस्ट के दौरान दाल-सब्जी की गुणवत्ता अच्छी पाई गई। सहायक आयुक्त जनजातिय कार्य विभाग श्री ब्रजेशचन्द्र पाण्डेय ने अवगत कराया कि जिले में प्रत्येक संकुल से 1 प्राथमिक विद्यालय और 1 माध्यमिक विद्यालय को उत्कृष्ट विद्यालय बनाने की कार्ययोजना है। जिससे जिले में 222 शालाओं को इस शाला के पैटर्न पर स्थापित किया जावेगा। इन शालाओं में शिक्षा की गुणवत्ता बेहतर बनाने के लिए प्रयास किए जावेंगे। इस शाला परिसर में श्री सिन्हा ने वृक्षारोपण भी किया।
    श्री सिन्हा ने ग्राम ऑवलिया के कृषक सीताराम निंगवाल के कृषि फार्म का भी अवलोकन किया। इस किसान द्वारा 2 बीघे जमीन में लोकी, करेला, तुरई, गोभी तथा ककड़ी की फसले भी ली जा रही है। ड्रीप सिंचाई पद्धति का भी उपयोग किया जा रहा है। श्री सिन्हा ने इस किसान से खेती में आधुनिक तरीके अपनाएं जाने की सम्पूर्ण जानकारी प्राप्त की। साथ ही जल शुद्धीकरण यंत्र का भी अवलोकन किया।
    इस अवसर पर उप संचालक उद्यानिकी श्री मण्डलोई, उप संचालक कृषि श्री आर.एल. जामरे, कार्यपालन यंत्री लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग श्री राजीव खुराना, कार्यपालन यंत्री ग्रामीण यांत्रिकी सेवा श्री पंवार, अतिरिक्त मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत श्री संजय तिवारी, अनुविभागीय अधिकारी राजस्व धार श्री वीरेन्द्र कटारे, परियोजना अधिकारी जिला पंचायत श्री गणेश सेन सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।
(11 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
जूनजुलाई 2019अगस्त
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
24252627282930
1234567
891011121314
15161718192021
22232425262728
2930311234

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer