समाचार
|| पुरस्कार हेतु प्रस्ताव प्रस्तुत करने का आज अंतिम दिन || गौशाला परियोजना समन्वय समिति की बैठक आज || सामाजिक न्याय मंत्री श्री घनघोरिया आज जयपुर जायेंगे || पल्स पोलियो अभियान के पहले दिन 79 फीसदी बच्चों ने पी पोलियो की दवा || खनिज साधन मंत्री श्री प्रदीप जायसवाल का जबलपुर आगमन आज || श्रम मंत्री श्री महेन्द्र सिंह सिसौदिया आज आयेंगे || लोक निर्माण मंत्री श्री सज्जन सिंह वर्मा आज अल्प प्रवास पर डुमना आयेंगे || किसान कल्याण तथा कृषि विकास मंत्री श्री यादव आज जबलपुर आयेंगे || कलेक्टर ने एक हितग्राही को एक लाख की राहत राशि की स्वीकृति प्रदान की || जिले के प्रभारी एवं जन संपर्क मंत्री श्री पी सी शर्मा का दौरा कार्यक्रम
अन्य ख़बरें
कलेक्टर ने लगाया नर्मदा गैस एजेंसी के ऊपर 7 लाख 91 हजार से अधिक का जुर्माना
नर्मदा गैस एजेंसी द्वारा द्रवीकृत पेट्रोलियम गैस के नियम उल्लंघन पर कार्यवाही, गैस एजेसी की डीलरशिप ऑयल कम्पनी द्वारा समाप्त करने भेजा पत्र
शहडोल | 06-जनवरी-2020
    कलेक्टर श्री ललित दाहिमा ने स्थानीय नर्मदा गैस एजेंसी द्वारा द्रवीकृत पेट्रोलियम गैस (प्रदाय और वितरण विनियम) आदेश 2000 की कण्डिका 10 (क)(2) (3) का उल्लंघन करने पर आवश्यक वस्तु अधिनियम 1955 की धारा 3/7 के तहत 493 गैस सिलेण्डर की राशि 7 लाख 91 हजार 197 रूपये  की राशि का शासन हित में राजसात कर विभागीय मद में जमा उपरान्त सिलेण्डर मुक्त की कार्यवाही के आदेश दिए गए है। जारी आदेश में कहा गया है कि प्रबंधक नर्मदा गैस एजेन्सी तत्काल गैस गोदाम अन्यत्र स्थापित करने की कार्यवाही करें। साथ ही गैस गोदाम अन्यत्र स्थापित न करने पर गैस एजेन्सी की डीलरशिप हिन्दुस्थान पेट्रोलियम ऑयल कम्पनी द्वारा विधिवत समाप्त करने की कार्यवाही हेतु भी लिखा गया है।
  ज्ञातव्य हो कि 18 सितम्बर 2015 को अनावेदक श्री दिगम्बर सिंह, सुश्री जागृति सिंह नर्मदा गैस एजेन्सी शहडोल के विरूद्ध श्री आर0एन0 जाटव कनिष्ठ आपूर्ति अधिकारी शहडोल द्वारा जॉच कर प्रतिवेदित किया गया था कि उक्त गैस एजेन्सी का गोदाम पांडवनगर में स्थित है जो आवासीय क्षेत्रान्तर्गत आता है तथा गैस गोदाम के चारो दिशाओं में आवास स्थित है। गोदाम की जॉच के दौरान के गोदाम के बोर्ड पर 14.2  किलोग्राम भरे हुए 310 सिलेण्डर तथा खाली 297 सिलेण्डर एवं 19 किलोग्राम के 15 सिलेण्डर अंकित पाये गये थे। गोदाम में रखे सिलेण्डरो का भौतिक सत्यापन करने पर 14.2 कि.ग्रा. के 85 भरे हुए 393 खाली तथा 19 किलोग्राम के 19 सिलेण्डर स्टॉक में भरे पाये गये थे। मौके पर गैस एजेन्सी के प्रबंधक से सिलेण्डरो का स्टॉक एवं वितरण से संबंधित रिकॉर्ड पाया गया। जिसे उपलब्ध नही कराया गया। रिकॉर्ड उपलब्ध नही होने के कारण उक्त सिलेण्डर जब्त कर प्रबंधक जागृति सिंह सुपूदर्गी में दिए गए। साथ गैस गोदाम से होम डिलीवरी की राशि कम किए बिना उपभोक्ताओं को गोदाम से सिलेण्डर प्रदाय करना पाया गया। उक्त कृत्य द्रवीकृत पेट्रोलियम गैस (प्रदाय और वितरण विनियम) आदेश 2000 की कण्डिका 10 (क)(2) (3) का उल्लंघन एवं आवश्यक वस्तुअधिनियम 1955 की धारा 3/7 के अंतर्गत दण्डनीय है पाया गया। अनावेदक को 21 सितम्बर 2015 को कारण बताओं सूचना पत्र जारी कर स्पष्टीकरण चाहा गया। अनावेदक द्वारा स्पष्टीकरण में दिए गए उत्तर समुचित एवं संतोष जनक नही पायें जाने तथा 14 अक्टूबर 2015 को सुनवाई का अवसर एवं पुन: दिनॉक 6 जनवरी 2020 को भी सुनवाई का अवसर दिया गया। स्पष्टीकरण में गैस गोदाम अन्यत्र स्थापित करने हेतु 6 माह का समय लिया गया था। परन्तु 4 जनवरी 2020 को 2 कनिष्ठ आपूर्ति अधिकारियों के दल द्वारा जॉच करने पर अनावेदक द्वारा लिए गए समय समाप्त होने के पश्चात गोदाम अन्यत्र स्थापित नही करने पर गैस गोदाम घनी आबादी क्षेत्र में होने से भविष्य में जन-धन की हानि होने के मद्देनजर उक्त कार्यवाही की गई है।
 
(14 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
दिसम्बरजनवरी 2020फरवरी
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
303112345
6789101112
13141516171819
20212223242526
272829303112
3456789

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer