समाचार
|| जिले में हर्षोल्लास से मनाया गया गणतंत्र दिवस || कलेक्टर कार्यालय में ध्वजारोहण || ग्रामीण अंचलों में छुपी प्रतिभाओं को अवसर देने का काम कर रही है प्रदेश सरकार- स्कूल शिक्षा मंत्री || प्रदेश में शिक्षा को गुणवत्तापूर्ण बनाने किए जा रहे हैं नवाचार- स्कूल शिक्षा मंत्री || कलेक्टर श्री बी. कार्तिकेयन ने केन्द्रीय विद्यालय डिण्डौरी में किया ध्वजारोहण || कलेक्टर श्री बी. कार्तिकेयन ने कलेक्टर कार्यालय मे किया ध्वजारोहण || ग्राम पंचायतों के पंच एवं सरपंच पदों की आरक्षण कार्यवाही आज || स्कूलो में विशेष भोज का आयोजन हुआ || विभिन्न कार्यालय भवनों पर तिरंगा ध्वज फहराया गया || एनजीओ मेस का लोकार्पण
अन्य ख़बरें
असफलता ही सफलता के द्वार खोलती है - सीईओ श्री शुक्ला
इंस्पायर अवार्ड प्रदर्शनी का समापन
सागर | 07-जनवरी-2020
 
    असफलता ही सफलता के द्वार खोलती है एवं इसके लिए इन बाल वैज्ञनिकों ने जो प्रयास किए है वह सराहनीय है जो बाल वैज्ञानिक चयनित हुए हैं उनके लिए बधाई एवं जो इसमें चयनित नहीं हो पाए है उनको निराश होने की आवश्यकता नहीं वो पूरे मनोयोग से और प्रयास करें जिससे अगले सत्र में उनका चयन हो सके उक्त विचार  इंस्पायर अवार्ड मानक योजना वर्ष 2019-20 के जिलास्तरीय विज्ञान प्रदर्शनी के समापन अवसर पर जिला पंचायत सीईओ श्री सीएस शुक्ला ने व्यक्त किये। इस अवसर पर डा. आशुतोष गोस्वामी, श्री प्राचीस जैन, दिल्ली से आये श्री आशुतोष शुक्ला, श्री एचपी कुर्मी नियर्णक श्री आशीष वर्मा, डा. संध्या पटैल, डा. आरएस पाण्डेय जिला शिक्षा अधिकारी डा. महेन्द्र प्रताप तिवारी, नोडल अधिकारी श्री आरके बैघ मौजूद थे।
     श्री शुक्ला ने कहा कि सागर शिक्षा एवं खेल के क्षेत्र में प्रदेश मे अपनी छवि बनाने में अग्रणी है। इसके लिए मैं जिले के शिक्षा विभाग को बधाई देता हूं। उन्होंने कहा कि संभाग की 75 लाख की जनसंख्या में इन 82 बाल वैज्ञानिकों ने अपनी नई सोच से अपने बाल वैज्ञानिक बनने का जो सपना सजोया है वह जरूर कामयाब होगा। उन्होंने जिले के शिक्षकों की प्रसंशा करते हुए कहा कि आज उन्हें के मार्गदर्शन से ही जिला शिक्षा के क्षेत्र में अग्रणी श्रेणी में खड़ा है। उन्होंने बाल वैज्ञानिकों को पूर्व राष्ट्रपति एवं वरिष्ठ वैज्ञानिक स्वर्गीय डॉ. अब्दुल कलाम के अनेक अविश्कार के बारे में जानकारी दी। उन्होंने कहा कि भारत का इतिहास शुरू से ही गौरवशाली रहा है। और आज भी है इसको बरकरार रखने के लिए इन बाल वैज्ञानिकों की अत्यंत आवश्यकता है।
 
   जिला शिक्षा अधिकारी डॉ. महेन्द्र प्रताप तिवारी ने स्वागत भाषण एवं प्रतिवेदन प्रस्तुत किया। वैज्ञानिक डॉ. आशुतोष शुक्ला, डॉ. आशीष वर्मा ने भी अपने विचार व्यक्त किए। कार्यक्रम के पूर्व में सरस्वती पूजन एवं वंदना प्रस्तुत की गई तत्पश्चात जैन पब्लिक स्कूल के छात्र-छात्राओं ने प्राचार्य रजनीश जैन के मार्गदर्शन दर्शन में सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किये गए।
    प्रदर्शनी में संभाग के 11 मॉडलों को चयनित कर राज्य स्तर हेतु चयनित किया गया। जिसमें छतरपुर जिले के विजाबर के राज विश्वकर्मा एवं कार्तिक अनुरागी, दमोह जिले के पथरिया की मीना गौड़, अभिशेक लोधी, उषा बैरागी, पन्ना जिले के पवई से कुमारी झलक सोनी, टीकमगढ़ के बल्देवगढ़ से विक्रम कुशवाहा एवं सागर जिले के केसली विकासखण्ड के चिखली जमुनिया हाईस्कूल के रोहित सेन, गढ़ाकोटा के चौरई की रूचि सेन, राहतगढ़ के मानकचौक माध्यमिक शाला की रिक्की अहिरवार, शाहगढ़ के मॉडल स्कूल के प्रयत्न सोनी शामिल है। राहतगढ़ के मानकचौक माध्यमिक शाला की माध्यमिक शिक्षक श्रीमती कृष्णा साहू ने अपने मार्गदर्शन में रिक्की अहिरवार ने आटोमेटिक फोड्डर कंट्रोल ट्रेजर मशीन का अविश्कार किया था। कार्यक्रम का संचालन श्री नीलेश चौबे ने किया।
डॉ. गिरीश मिश्रा, श्री सीपी शुक्ला, श्री अखलेष पाठक, श्री मनीष नेमा, जिला विज्ञान अधिकारी श्री एनके श्रीवास्तव, श्री शैलेंद्र जैन, श्री विवेक नाबाथे, श्री मनोज अग्रवाल, श्री मनोज तिवारी, श्री अनिल मिश्रा, श्री जी के सोनी, श्री अतेन्द्र गुप्ता, श्री आनंद गुप्ता, श्री अनुभव श्रीवास मौजूद थे।
(20 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
दिसम्बरजनवरी 2020फरवरी
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
303112345
6789101112
13141516171819
20212223242526
272829303112
3456789

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer