समाचार
|| जिले में हर्षोल्लास से मनाया गया गणतंत्र दिवस || कलेक्टर कार्यालय में ध्वजारोहण || ग्रामीण अंचलों में छुपी प्रतिभाओं को अवसर देने का काम कर रही है प्रदेश सरकार- स्कूल शिक्षा मंत्री || प्रदेश में शिक्षा को गुणवत्तापूर्ण बनाने किए जा रहे हैं नवाचार- स्कूल शिक्षा मंत्री || कलेक्टर श्री बी. कार्तिकेयन ने केन्द्रीय विद्यालय डिण्डौरी में किया ध्वजारोहण || कलेक्टर श्री बी. कार्तिकेयन ने कलेक्टर कार्यालय मे किया ध्वजारोहण || ग्राम पंचायतों के पंच एवं सरपंच पदों की आरक्षण कार्यवाही आज || स्कूलो में विशेष भोज का आयोजन हुआ || विभिन्न कार्यालय भवनों पर तिरंगा ध्वज फहराया गया || एनजीओ मेस का लोकार्पण
अन्य ख़बरें
स्‍वच्‍छता सर्वेक्षण-2020 जनजागरण हेतु कार्यशाला आयोजित
-
गुना | 08-जनवरी-2020
 
 
     स्‍वच्‍छ सर्वेक्षण-2020 के लिए गुना शहर के नागरिको, स्‍वयंसेवी संस्‍थाओं और स्‍वेच्छिक रूप से गठित स्‍वयंसेवी मोहल्‍ला समितियों ने विगत तीन माहों से जो मेहनत की उसके सार्थक परिणामों में बदलने का समय आ गया है। शहर के स्‍वच्‍छता सर्वेक्षण में अच्‍छी और सम्‍मानजनक रैंकिंग पाने के लिए एसएस2020 वोट फॉर योर सिटी एप अपने एनडराइड फोन पर डाउनलोड करें। एप अपडेट कर अपने शहर को नंबर वन बनाने हेतु प्रश्‍नों के उत्‍तर देने सर्वे में भाग लें। और यदि एनडराइड फोन का उपयोग नही कर रहे हैं तो वे 1969 पर डायल करें तथा कॉल बैक आने पर पूछे गए प्रश्‍नों का गुना शहर के पक्ष में वोट करें। यह सम्‍मानजनक रैंकिंग के लिए ज्‍यादा से ज्‍यादा अंक अर्जित करने हेतु अच्‍छा वेटेज देगा। यह बात आज यहां सोमवार को जिला कार्यालय के सभाकक्ष में स्‍वच्‍छ सर्वेक्षण-2020 हेतु आयोजित कार्यशाला में कलेक्‍टर श्री भास्‍कर लाक्षाकार ने कही। उन्‍होंने आयोजित कार्यशाला कि अध्‍यक्षता की।
    उन्‍होंने प्रतिभागियों से कहा कि स्‍वच्‍छता सर्वेक्षण टीम कभी भी शहर में आ सकती है। अच्‍छे अंक पाने के लिए जरूरी है कि शहर के लोगों ने जिस उत्‍साह और ऊर्जा से सर्वेक्षण में सम्‍मानजनक स्‍थान पाने के लिए कार्य शुरू किया है उस जोश में कमी नहीं आए। नगरीय निकाय गुना में जो काम बाकी रह रहे हैं, वे शीघ्र और समय-सीमा में पूर्णं किए जाएं। पुराना आटीओ कार्यालय और गायत्री मंदिर के पास सेल्‍फी पाइंट बने।
    उन्‍होंने कहा कि शहर के बाजार के चिन्हित स्‍थानों पर डस्‍टबिन रखे जाएं। शहर के छोटे-मोटे कामों को सूचीबद्ध किया जाए ताकि वे कार्य शीघ्र कराया जाए। स्‍वच्‍छता सर्वेक्षण-2020 के लिए स्‍वयंसेवी संस्‍थाएं स्‍वैच्‍छा से लिए गए अपने संकल्‍प को पूरा करें। थोक सब्‍जी मण्‍डी के शिफ्टिंग का कार्य अगले 10 दिनों में पूरा किया जाए। कबाड़ का व्‍यवसाय करने वाले व्‍यवसायी आस-पास कचरा नहीं फैलाएं। सड़क पर कचरा फैलाने और गंदगी करने वालों के विरूद्ध अर्थदण्‍ड कि कार्रवाई फिर से शुरू की जाए। स्‍वच्‍छता सर्वेक्षण हेतु स्‍वैच्छिक रूप से गठित की गई मोहल्‍ला समितियां सक्रिय हों और शहर की स्‍वच्‍छता के प्रति स्‍वयं सजग रहें और मोहल्‍ले के लोगों को भी प्रेरित करें।
    उन्‍होंने बताया कि नागरिकों की जनवरी-फरवरी में आवश्‍यकता जरूरी काम हाथ में लिए जाएंगे। गुनिया नदी की सफाई और स्‍वच्‍छता के लिए वृ‍ह्द प्रोजेक्‍ट रिपोर्ट शीघ्र शासन को प्रेषित की जाएगी। जिले में कचरे के रिसायक्लिंग का कार्य प्रारंभ किया गया है, को निरंतर रखने की योजना है। घर-घर कचरा संकलन के लिए 3 और वाहनों के मिलने से इनकी संख्‍या बढकर अब 25 हो गई है। तीन और नए वाहन मिलने है। इस प्रकार लगभग प्रत्‍येक वार्ड से कचरा संकलन के लिए वाहनों की पूर्ति हो जाएगी।    उन्‍होंने कार्यशाला के समस्‍त प्रतिभागियों से कहा कि जिस जोश से स्‍वच्‍छता सर्वेक्षण के लिए शहर के सभीजन आगे बढे हैं उसे कायम रखें और अपने उद्देश्‍य को पाने के लिए ढिलाई नहीं बरतें।
स्‍वच्‍छता सर्वेक्षण में भाग लेने डाउनलोड करें एप
    इस अवसर पर बताया गया कि नागरिकगण अपने स्‍मार्ट फोन पर प्‍ले स्‍टोर से ss2020VoteForYourCity app डाउनलोड करें या स्‍वच्‍छता एप को अपडेट कर अपने शहर को नंबर-वन बनाने हेतु सर्वे में भाग लें। जिसके अंतर्गत विभिन्‍न प्रश्‍नों उत्‍तर जैसे- आपका शहर स्‍वच्‍छता सर्वेक्षण 2020 में भागीदारी कर रहा है, आप शहर में अपने आसपास की स्‍वच्‍छता को अपने पिछले 6 महीने के अनुभव के आधार पर 200 में से कितने अंक देना चाहेंगे, शहर में सार्वजनिक एवं व्‍यावसायिक क्षेत्र की स्‍वच्‍छता को अपने पिछले 6 महीने के अनुभव के आधार पर 200 में से कितने अंक देना चाहेंगे, कचरा संग्राहक द्वारा सूखा-गीला कचरा अलग-अलग देने के लिए कहा जाता है, शहर में सडकों के डिवाइडर पौधों या हरी घांस से ढके हुए हैं, शहर में सार्वजनिक शौचालयों की स्‍वच्‍छता को अपने पिछले 6 महीने के अनुभव के आधार पर 200 में से कितने अंक देना चाहेंगे एवं शहर के ओडीएफ अर्थात खुले में शौच से मुक्‍त या जीएफसी अर्थात कचरा मुक्‍त स्‍टेट्स के बारे में जानकारी है, आदि प्रश्‍नों के बारे में विस्‍तार से बताया गया तथा कहा गया कि खुले में शौच से मुक्‍त शहर के प्रश्‍न के उत्‍तर में गुना शहर ओडीएफ सर्टिफाईड दर्ज किया जाना है।
    इस मौके पर प्रतिभागियों द्वारा पूरी शक्ति और क्षमता से कार्य करने की बात कही गई और शहर की स्‍वच्‍छता एवं सुंदरता के लिए सुझाव भी दिए गए।
    कार्यशाला में पुलिस अधीक्षक श्री राहुल कुमार लोढा, अनुविभागीय अधिकारी राजस्‍व गुना श्रीमति शिवानी गर्ग, प्रभारी परियोजना अधिकारी सुश्री सोनम जैन, पार्षद नरगर पालिक परिषद गुना के कर्मी, स्‍वयंसेवी संस्‍थाओं, मोहल्‍ल समिति के सदस्‍य मौजूद रहे।     
(19 days ago)
डाउनलोड करे क्रुतीदेव फोन्ट में.
डाउनलोड करे चाणक्य फोन्ट में.
पाठकों की पसंद

संग्रह
दिसम्बरजनवरी 2020फरवरी
सोम.मंगल.बुध.गुरु.शुक्र.शनि.रवि.
303112345
6789101112
13141516171819
20212223242526
272829303112
3456789

© 2012 सर्वाधिकार सुरक्षित जनसम्पर्क विभाग भोपाल, मध्यप्रदेश             Best viewed in IE 7.0 and above with monitor resolution 1024x768.
Onder's Computer